The News (All World Gayatri Pariwar)
Home Editor's Desk World News Regional News Shantikunj E-Paper Upcoming Activities Articles Contact US

गायत्री परिवार व जापान की एंजल फाउंडेशन जरुरतमंदों को देगा निःशुल्क शिक्षा

[हरिद्वार 28 फरवरी।], Dec 26, 2017
आपदा प्रभावित क्षेत्रों में निःशुल्क बालसंस्कार शाला संचालित करेगा गायत्री परिवार, केदारनाथ आपदा पीड़ित व गरीब विद्यार्थियों को मिलेगी प्राथमिकता, टोक्यो में भी खुलेगी गायत्री परिवार की शाखा             केदारनाथ आपदा पीड़ितों व गरीबों बच्चों के हितार्थ शांतिकुंज, देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के साथ मिलकर जापान की इंजल इंटरनेशनल फाउंडेशन ने शैक्षणिक संस्थान खोले जाने पर काम करना शुरु कर दिया है। इस योजना को मूर्तरूप देने के लिए इंजल इंटरनेशनल फाउंडेशन के अध्यक्ष यासुहिरो मत्सुदा अपने क्भ् सदस्यीय दल के साथ शांतिकुंज आया। दल हरिद्वार, देहरादून के कई क्षेत्रों का सर्वे कर स्कूल खोलने से संबंधित मूलभूत आवश्यकताओं की लिस्ट तैयार की है।            इस आशय को लेकर देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ प्रणव पण्ड्या, संस्था की अधिष्ठात्री शैलदीदी व शांतिकुंज के वरिष्ठ प्रतिनिधियों से कई दौर की चर्चा हुई। वहीं इस दिशा में देवसंस्कृति विश्वविद्यालय भी सार्थक भूमिका के लिए तैयार है। यासुहिरो मत्सुदा के अनुसार दिसम्बर 2012 में अपनी पहली उत्तराखंड यात्रा के दौरान हरिद्वार पहुंचा और यहाँ देवसंस्कृति विवि व शांतिकुंज के स्वयंसेवकों का निःस्वार्थ सेवाभाव से काफी प्रभावित हुए। कुलाधिपति डॉ प्रणव पण्ड्या व शैल दीदी से भेंट कर यहाँ कार्य करने की इच्छा प्रकट की। डॉ पण्ड्या ने देश के भावी पीढ़ी के निर्माण का कार्य सौंपा। तब से हमारी टीम ने गायत्री परिवार के साथ मिलकर उत्तरकाशी, नई टिहरी व हरिद्वार के करीब सौ स्कूलों के विद्यार्थियों को पाठ्यसामग्री एवं कपड़े मुहैया कराया है। उन्होंने बताया कि यह क्रम आगे भी जारी रहेगा। मस्तुदा ने बताया कि उत्तराखंड के आपदा प्रभावित तथा ग्रामीण क्षेत्रों के गरीब परिवार को प्राथमिकता के साथ आगे बढ़ाने के उद्देश्य से कई  संस्कारशालाएँ खोले जायेंगे, जहाँ उन्हें निःशुल्क नैतिक शिक्षा दी जायेगी। दल ने कुलाधिपति डॉ पण्ड्या से आग्रह किया कि जापानी प्राथमिक विद्यालयों के विद्यार्थियों के बीच गायत्री परिवार प्रशिक्षकों द्वारा नैतिकता एवं जीवन प्रबंधन का पाठ पढ़ाया जाय। वहीं मस्तुदा ने टोक्यो में गायत्री परिवार की एक शाखा खोलने का प्रस्ताव रखा, जिसे डॉ पण्ड्या ने सहमति प्रदान कर दी है।             कुलाधिपति डॉ पण्ड्या ने फाउंडेशन के इस सराहनीय कार्य के लिए विशेष प्रशस्ति पत्र एवं शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया। इस अवसर पर डॉ पण्ड्या ने कहा कि प्रारंभिक चरण में गरीब बच्चों की मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति की जायेगी तथा उन्हें स्कूली शिक्षा के साथ-साथ रोजगारपरक शिक्षा भी दी जायेगी।






Click for hindi Typing


Related Stories
Recent News
Most Viewed
Total Viewed 485

Comments

Post your comment

vibhu shrivastava
2014-02-28 16:18:18
commendable initiative