The News (All World Gayatri Pariwar)
Home Editor's Desk World News Regional News Shantikunj E-Paper Upcoming Activities Articles Contact US

मध्यप्रदेश के इमलिया में गायत्री परिवार द्वारा संपन्न हुई राष्ट्रीय गौ विज्ञान कार्यशाला

भारत भर के गौ विज्ञान से जुड़े लोगों ने की शिरकत

     मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से सटे इमलिया में राष्ट्रीय गौ विज्ञान कार्यशाला सम्पन्न हुई। इस कार्यशाला का नेतृत्व करके लौटे अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख एवं देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ. प्रणव पंड्या ने कार्यशाला में हुई चर्चाओं के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कार्यशाला को संबोधित करते हुए  कहा की गायत्री परिवार देश में करीब १० साल से आदर्श ग्राम योजना चला रहा है और अब तक सैकड़ों गाँवों को आदर्श ग्राम के साँचे में ढाले जा चुके हैं। हमारे आदर्श गाँव वाकई आदर्श हैं। भारत युवाओं का देश है और युवा अध्यात्म व आदर्श के रास्ते पर चलकर देश-दुनिया में अपना नाम रौशन कर सकते हैं। उन्होंने गौमाता की हाल की जो स्थिति है, उसका वर्णन करते हुए कहा कि आज हम हमारी माँ पर जुल्म कर रहे हैं। उन्हें प्रताड़ित करते हैं। इसी कारण का है कि हमारी आर्थिक ढाँचा लड़खड़ा रहा है। डॉ. पण्ड्या ने कहा कि गौ के संरक्षण से ही भारत का अर्थतन्त्र पुनर्जीवित हो पाएगा। उन्होंने गौमाता को राष्ट्र की धरोहर बताते हुए कहा कि जहाँ गाय पालन की जाती है, वहाँ धन की कमी नहीं होती। भारतीय संस्कृति गौ संस्कृति है। हर गांव, शहर और कस्बे में गौशाला और हर घर में गाय पालन होना चाहिए। उन्होंने अखिलविश्व गायत्री परिवार की ओर से भारत के प्रधानमन्त्री को आवाहन करते हुए कहा कि इस देश में गौवध पर प्रतिबन्ध होना चाहिए। इस हेतु हस्ताक्षर अभियान चलाने का डॉ. पण्ड्या ने आवाहन किया।

डॉ. पंड्या ने यहाँ आदर्श ग्राम योजना के अंतर्गत श्रीराम आरण्यक का शुभारंभ किया। इसमें साधना केन्द्र, ग्रामोद्योग केन्द्र्र्र, वनवासी आरोग्य धाम तथा वनांचल ग्रामों के गरीब बच्चों के लिए माता भगवती देवी शर्मा वात्सल्य केन्द्र्र का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उनने मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चैहान से मिलकर आदर्श ग्राम योजना पर चर्चा की।

डॉ. पण्ड्या जी के अलावा इस अवसर पर मध्यप्रदेश के संस्कृति और पर्यटन मन्त्री सुरेन्द्र पटवा, महाराष्ट्र के गौविज्ञान अनुसन्धान केन्द्र के सुनील मानसिंहा, प्रथमेश व्यास आदि ने भी गौ विज्ञान पर विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर डॉ. डीपी सिंह, प्रदीप दीक्षित, विष्णुभाई पण्ड्या एवं केदार प्रसाद दुबे ने अपने विचार व्यक्त किए।







Click for hindi Typing


Related Stories
Recent News
Most Viewed
Total Viewed 1145

Comments

Post your comment

wasudeo Chandankhede
2015-03-17 17:38:27
Jay gurudeo