The News (All World Gayatri Pariwar)
Home Editor's Desk World News Regional News Shantikunj E-Paper Upcoming Activities Articles Contact US

बड़ी तेजी से बढ़ रहा है सद्वाक्य लगाने का क्रांतिकारी अभियान

[Shantikunj], Jul 22, 2017
बोलती दीवारों का अभिनव संस्करण 

• स्कूल- कॉलेज • रेलवे स्टेशन • बस स्टैण्ड • अस्पताल • बैंक • कार्यालय • सार्वजनिक स्थल • देवालय • घर, दुकान, कॉलोनी, बस्तियाँ 

परम पूज्य गुरुदेव के क्रांतिकारी विचार नवयुग की स्थापना का प्रबलतम आधार हैं। उन्हें हर व्यक्ति तक पहुँचाया ही जाना है। पुस्तक और आलेखों के प्रति हर व्यक्ति सरलता से आकर्षित हो, न हो, लेकिन दीवारों पर लिखे सद्वाक्य तो हर कोई पढ़ ही लेता है। 

परम पूज्य गुरुदेव ने बोलती दीवारों का प्रचलन किया। स्टिकर अभियान भी खूब लोकप्रिय एवं प्रभावशाली रहा। अब शांतिकुंज में फ्लैक्स प्रिण्टिंग की सुविधा उपलब्ध हो जाने से दोनों के समन्वित रूप में एक नया अभियान बड़ी तेजी से गतिशील हो रहा है। 

सनबोर्ड या फ्लैक्स पर लिखे गये इन सद्वाक्यों की विशेषताएँ 

• अत्यंत आकर्षक 
• पेण्ट से लिखने की अपेक्षा बहुत सस्ते 
• दीवारें गंदी नहीं होतीं बल्कि सुन्दर हो जाती हैं। लोग आग्रह पूर्वक इन्हें लगावाते हैं 
• वर्षों तक टिकाऊ, वर्षा का विशेष प्रभाव नहीं 
• लगाने में अत्यंत सुविधाजनक 

विशेष : शांतिकुंज से लोग प्रतिमाह ८००० से ज्यादा सद्वाक्य ले जा रहे हैं। 
• कॉलोनी के हर घर में : पालम, दिल्ली के युवा कार्यकर्त्ता राजेश यादव, अजय शर्मा, डॉ. आर्य ने अपनी कॉलोनी के हर घर के बाहरसनबोर्ड पर एक सद्वाक्य लगाने का निःशुल्क अभियान चलाया है। यह सद्वाक्य उनके घर की विशिष्ट पहचान बन रहा है। • हर रेलवे स्टेशन पर : छत्तीसगढ़ के परिजन श्री शिरीष टिल्लू ने रायपुर स्टेशन पर सद्वाक्य लगवाने के बाद प्रदेश के हर प्रमुख स्टेशन पर इन्हें लगवाने का संकल्प लिया है। 

पूरे देश में बढ़ रही है लोकप्रियता
पिछले दो माह में देश के हर प्रान्त में हजारों की संख्या में सद्वाक्य के सनबोर्ड और फ्लैक्स लगाये गये। संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत है- गुजरात : सूरत- ताराबेन देसाई (१०८), नवसारी- हितेश, प्रकाशभाई पंचाल (१०००), मालगढ़, बनासकांठा (५०), अहमदाबाद- दक्षाबेन (१२५), वडोदरा- गायत्री चेतना केन्द्र (१६०), खेरगाँव, नवसारी- जयेश पटेल (१२५), म.प्रदेश : बड़वानी- महेन्द्र भावसार (३८०) खरगोन- नंदकिशोर गुप्ता (१६८) शहडोल- प्रज्ञा साहित्य केन्द्र (१५००) उत्तर प्रदेश : लखनऊ- अतुल सिंह (१५०) मुुरादाबाद- डॉ. लवलेश (१६८) एवं राकेश कुमार शर्मा (१२१) सहजनवा, गोरखपुर- राजेन्द्र पाण्डे (२७०) खलीलाबाद- कौशल पाण्डे (४८०) कानपुर नगर- बी.आर. गुप्ता (८००) बलरामपुर- शिवकुमार कश्यप (३७०) पंजाब : पठानकोट- हरदीप सिंह, मनजीत सिंह, रणजीत खन्ना (८१०) बिहार : कटिहार काशी प्रसाद गुप्ता (१५०) छत्तीसगढ़ : कोरबा/रायपुर- शिरीश टिल्लू (१५०) एवं राजकुमार देवांगन (१२५) उत्तराखंड : टिहरी- डॉ. वी.के. जोशी (१००) राजस्थान : जोधपुर- घनश्याम सोनी (१२५) डॉ. विवेक विजय, प्रांतीय दिया प्रभारी (५००) श्रीमाधोपुर, सीकर- सीतासहाय सैनी (२५०) हिमाचल प्रदेश :सोलन- के.डी. शर्मा, नवनीत जी (४१५) मुम्बई : गायत्री चेतना केन्द्र सानपाड़ा (१५०) हरियाणा : गुरुग्राम- संजय सिन्हा (७००) 

ज्ञातव्य 
• यह विशेष रूप से विद्यालयों के लिए अत्यंत आवश्यक और प्रभावशाली अभियान है। परम पूज्य गुरुदेव के साथ अन्य महापुरुषों के सद्वाक्य भी शामिल किये जाने से इन्हें लगाने की स्वीकृति सरलता से मिल जाती है। • शिक्षा, स्वास्थ्य, व्यक्तित्व परिष्कार, युवा, नशामुक्ति, पर्यावरण, जल संरक्षण जैसे विषयों पर प्रचुर मात्रा में सद्वाक्य उपलब्ध हैं, जिनके चयन की सुविधा है। • शांतिकुंज के पास इन्हें छापने की अपनी सुविधा होने के कारण बाजार से काफी सस्ते और मजबूत क्वालिटी के मटेरियल पर बेहतरीन प्रिंटिंग के साथ इन्हें उपलब्ध कराया जा सकता है। • शांतिकुंज से व्यक्तिगत रूप से या ट्रांस्पोर्ट के माध्यम से इन्हें मँगाया जा सकता है। • १०,००० रुपये से अधिक के सद्वाक्य खरीदने पर २५ प्रतिशत छूट दी जाती है। छूट के बाद सनबोर्ड पर सद्वाक्य की कीमत ३० रु. प्रतिस्क्वायर फीट और फ्लैक्स पर ७ रुपये प्रति स्क्वायर फीट होती है। 






Click for hindi Typing


Related Stories
Recent News
Most Viewed
Total Viewed 70

Comments

Post your comment