The News (All World Gayatri Pariwar)
Home Editor's Desk World News Regional News Shantikunj E-Paper Upcoming Activities Articles Contact US

हर की पौड़ी पर चला महास्वच्छता अभियान

१६ जिलों के हजारों स्वयंसेवकों ने लिया भाग ‘‘हम होंगे कामयाब एक दिन .....’’ के जोशीले गीत और ‘‘हम बदलेंगे-युग बदलेगा’’ के नारों के बीच हर की पौड़ी पर पं.श्रीराम शर्मा आचार्य जी के हजारों अनुयायी स्वयंसेवक गंगा के आँचल को साफ करते रहे। मस्तक से पसीने की बूँदें टपकती रहीं, मन में संतोष, शांति और तृप्ति का निर्झर फूटता रहा। देखते ही देखते पीले वस्त्रधारी युग-पुरोहितों ने कई ट्रक गंदे कपड़े, पॉलीथीन आदि गंगा की गोद से निकालकर गंगा तटों पर इकट्ठा किया और फिर ट्रेक्टर ट्रॉलियों में भरकर उसे उचित स्थान तक पहुँचा दिया। सभी के मन में गंगा मैया की पीड़ा को दूर करने के साथ एक प्रबल विश्वास था, जो कार्यक्रम के आरंभ में जागा था। कार्यक्रम संचालक श्री नरेन्द्र ठाकुर ने उस अवसर पर कहा था, ‘‘जहाँ-जहाँ आपके पसीने की बूँदें गिरेंगी, वहीं से गुरुसत्ता के आशीर्वाद का फव्वारा फूटेगा।’’सफाई अभियान के आरंभ में श्रमदान में भाग लेने आये परिजनों को शांतिकुंज व्यवस्थापक आदरणीय श्री गौरीशंकर शर्मा जी, देसंविवि के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पंड्या तथा कई प्रशासनिक अधिकारियों ने संबोधित किया। जनभावनाएँ ही किसी आन्दोलन को जन्म देती हैं। पुस्तकीय ज्ञान, प्रवचन, संदेश जब कार्य में परिणत होते हैं तो उनका स्वरूप अलग ही हो जाता है। आज गंगा सफाई अभियान में जुटे लोगों की भावनाएँ और अनुभूतियाँ बड़ी दिव्य हैं। यही हमारे निर्मल गंगा जन अभियान को बल प्रदान करेंगी, उसे सफलता तक पहुँचायेंगी। निर्मल गंगा जन अभियान के अंतर्गत ऐसे स्वच्छता समारोह गंगोत्री से गंगासागर तक चलाये जायेंगे।यह उद्गार है आदरणीय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी का। वे कार्यक्रम में आने की बिलकुल स्थिति में नहीं थे, लेकिन गंगा का दर्द और लोगों की आस्था को अनुभव करने से वे अपने आप को रोक नहीं पाये। वे थोड़े समय के लिए ही आदरणीया जीजी के साथ आये, सफाई अभियान में जुटे स्वजनों की श्रद्धा को प्रणाम कर सभी का उत्साहवर्धन किया। अभियान एक दृष्टि में १६ जिलों के कार्यकर्त्ता-  बुलंदशहर,अलीगढ़, हापुड़, बागपत, बड़ौद, गाजियाबाद, मेरठ, मुरादाबाद, संभल, मुजफ्फर नगर, शामली, बिजनौर, जे.पी. नगर, सहारनपुर, देहरादून और हरिद्वार जिलों के हजारों कार्यकर्त्ताओं ने गंगा स्वच्छता अभियान में भाग लिया।  गोण्डा के श्रद्धालुओं की आस्था  गोण्डा (उत्तर प्रदेश) के ५० कार्यकर्त्ताओं का एक दल हरिद्वार भ्रमण के क्रम में शांतिकुंज आया था। उन्हें गंगा स्वच्छता अभियान की जानकारी मिली तो वे अपने सारे कार्यक्रम स्थगित कर इसमें शामिल हुए। पर्यटकों का योगदान-  हर की पौड़ी पर सफाई कर रहे गायत्री परिवार के कार्यकर्त्ताओं को देखकर यात्रियों के कई समूह भी इस अभियान में शामिल हो गये।  गंगा का शृंगार - गंगा की गोद में फैले पीले वस्त्र पहने हजारों स्वयंसेवक ऐसे दिखाईर् दे रहे थे मानो गैंदे के फूलों से गंगा का शृंगार किया हो।  व्यवस्थित अभियान- सफाई के लिए निर्धारित क्षेत्र को सात सेक्टरों में बाँट कर सफाई की गयी। व्यवस्थित सर्वे कर कार्यकर्त्ताओं की टोलियाँ हर सेक्टर के लिए पहले से ही निर्धारित की गयी थीं। प्रत्येक सेक्टर का नेतृत्व शांतिकुंज में चल रहे सात दलों में से एक-एक दल ने किया। सफाई के सारे उपकरण-झाड़ू, फावड़े, गेंती, गढ़े कपड़ों को खींचने के लिए विशेष सरिये, कूड़ा उठाने के लिए विशेष हत्थे बनाये बोरे सभी शांतिकुंज से साथ लाये गये थे।  प्रशासन की भागीदारी- सफाई अभियान के समय एडीएम. श्री आलोक पाण्डेय, एडीएम. श्री नागपाल, महापौर श्री मनोज गर्ग, पार्षद श्री मिश्रा, पार्षद श्री जितेन्द्र सहगल साथ रहे। सभी ने शांतिकुंज व्यवस्थापक श्री गौरीशंकर शर्मा जी व देसंविवि के प्रति कुलपति डॉ. चिन्मय जी के साथ सफाई अभियान में भाग लिया।  मीडिया का योगदान- इस अद्वितीय पहल को कैमरे में कैद करने हरिद्वार का सारा मीडिया साथ रहा। शानदार कवरेज देकर शांतिकुंज का संदेश जन-जन तक पहुँचाने के लिए सभी बधाई के पात्र हैं। अमर उजाला ने प्रथम पृष्ठ पर समाचार देने के अतिरिक्त पूरे दो पृष्ठों पर इस अभियान के समाचार प्रकाशित किये थे।  शानदार रैली- सफाई अभियान का समापन सफाई और भोजन के बाद हर की पौड़ी से ललताराव पुल, शिवमूर्ति, रेलवे स्टेशन, देवपुरा चौराहा होते हुए भल्ला कॉलेज तक निकाली गयी विशाल रैली से हुआ। रैली की यह शोभा देखते ही बनती थी।






Click for hindi Typing


Related Stories
Recent News
Most Viewed
Total Viewed 1382

Comments

Post your comment