Published on 2017-03-20

आत्म निर्माण से होगा समाज व राष्ट्र का निर्माण : डॉ. प्रणव पण्ड्याजी
देश के युवाओं को रचनात्मकता से जोड़ने के लिए कई आंदोलनों को दी जायेगी गति

हरिद्वार २० मार्च।

देश भर में भ्रम के भटकावों से जूझ रहे युवाओं के लिए स्थान- स्थान पर युवा जागरण शिविर, बाल संस्कार शाला, नारी जागरण, कुरीति उन्मूलन सहित ४० आंदोलन चलाने के संकल्प के साथ शांतिकुंज में चल रहे राष्ट्रीय संगोष्ठी का आज समापन हो गया।

तीन दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी के समापन सत्र को संबोधित करते हुए अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने कहा कि भारत में ६५ करोड़ से अधिक युवा हैं। इनमें से युवा क्रांति विस्तार वर्ष के अंतर्गत कम से कम ६५ लाख युवाओं को जोड़कर विभिन्न रचनात्मक आंदोलनों के लिए तैयार करना है। उन्होंने कहा कि इन युवाओं के जागरण हेतु स्थान- स्थान पर युवा जागरण शिविर, कला कौशल प्रशिक्षण शिविर सहित ४० प्रकार के विभिन्न रचनात्मक आंदोलनों को गति दी जायेगी। गायत्री परिवार प्रमुख ने युवाओं के प्रखर व्यक्तित्व निर्माण हेतु साधना शिविर तथा नैतिक, बौद्धिक व सांस्कृतिक विकास हेतु नियमित श्रेष्ठ साहित्यों का स्वाध्याय करने पर जोर दिया। साथ ही सेवा भावना एवं संयमशील बनने के विविध उपायों की जानकारी दी। देसंविवि के कुलाधिपति डॉ. पण्ड्याजी ने कहा कि एक लक्ष्य के लिए संघबद्ध होकर किये जाने वाले कार्यों की सफलता प्रतिशत अधिक होती है।

डॉ. पण्ड्याजी ने समाज व राष्ट्र के नवनिर्माण हेतु पाँच महाअभियान- निर्मल गंगा जन अभियान एवं जलस्रोत शुद्धि व संरक्षण, वृक्षगंगा अभियान, बाल संस्कार शाला अभियान, ग्राम तीर्थ योजना के तहत गाँवों को आदर्श बनाना तथा युवाओं को स्वस्थ, शालीन, स्वावलंबी तथा रचनात्मक कार्यक्रमों में नियोजन अभियान को गति देने पर बल दिया। इस अवसर पर जनवरी -२०१८ में नागपुर में विराट युवा शिविर तथा मार्च- २०१८ में गायत्री तीर्थ में राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन की घोषणा की।

समापन से पूर्व कालाहंडी (ओड़िशा) में २८ से ३० अक्टूबर २०१७ में होने वाले प्रांतीय युवा चेतना शिविर के लिए लाल मशाल हस्तांतरित किया। उपस्थित लोगों ने प्रज्वलित लाल मशाल की साक्षी में हाथ उठाकर युवा क्रांति विस्तार वर्ष की आंदोलन को गति देने हेतु संकल्पित हुए।

केन्द्रीय जोनल व संगोष्ठी समन्वयक श्री कालीचरण शर्मा ने बताया इस संगोष्ठी में नेपाल सहित उत्तराखण्ड, दिल्ली, गोवा, कर्नाटक, जम्मू कश्मीर, उप्र, मप्र सहित २२ राज्यों के १२०० से अधिक प्रांतीय, जिला, जोन, उपजोन तथा प्रज्ञा संस्थानों के मुख्य प्रबंध ट्रस्टियों शामिल रहे। देश भर में युवाओं के जागरण के लिए ४० आंदोलन चलाये जाने पर निर्णय हुआ है। डॉ. ओपी शर्मा ने सभी का आभार प्रकट किया। इस अवसर पर विभिन्न जोनों से आये प्रतिभागियों ने अपने- अपने जोन के कार्यक्रमों एवं गतिविधियों की जानकारियाँ साझा की। गायत्री परिवार प्रमुख एवं अतिथियों ने युवा क्रांति पथ पुस्तक का विमोचन किया।

समापन अवसर पर प्रज्ञा अभियान के संपादक श्री वीरेश्वर उपाध्याय, श्री बृजमोहन गौड़, श्री शिवप्रसाद मिश्र, विष्णु भाई पण्ड्या, केन्द्रीय जोनों के समन्वयक सहित बड़ी संख्या में लोग शामिल रहे।

मुख्यमंत्री की सफाई अभियान की सराहना की :
गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावतजी के प्रथम कार्य सफाई अभियान की सराहना की। पूरे राज्य में अपने नवनिर्वाचित मंत्रियों एवं सहयोगियों को स्वच्छता अभियान जैसे रचनात्मक कार्य की शुरुआत करने की पहल पर गायत्री परिवार को साथ खड़ा करने का आश्वासन दिया। कहा कि स्वच्छता अभियान के साथ पदभार ग्रहण करने की योजना श्री सिंह की दूरदर्शी सोच को दर्शाता है।


Write Your Comments Here:


img

राष्ट्रीय नवसृजन युवा संकल्प समारोह, नागपुर

युगऋषि के श्रीचरणों में समर्पित हुई देश, संस्कृति के लिए तड़पती जवानी१०,००० लोगों की भागीदारी हर प्रांत के लोगों की भागीदारी अमेरिका, कनाडा, इंग्लैण्ड, नेपाल के युवा भी आयेनागपुर। महाराष्ट्रयुवा क्रांति वर्ष २०१६- १७ युग निर्माण आन्दोलन के इतिहास का.....

img

युगसृजेता नगर, परम पूज्य गुरुदेव के सतयुगी सपनों का जीता-जागता स्वरूप

प्रशिक्षण के स्वरूप
• वरिष्ठों के उद्बोधन • आन्दोलनों के प्रारूप
• प्रस्तुतियाँ, समूह चर्चाएँ • कुशल प्रबंधन

माँ उमिया धाम के विशाल मैदान पर २६ से २८ जनवरी की तारीखों में लघु भारत के दर्शन हुए। प्रत्येक व्यक्ति में माँ भारती की.....

img

क्रांति रथ यात्रा में बताया नशा देश के लिए घातक

Guna News in Hindi: : जिले के भ्रमण पर आए गायत्री परिवार के युवा क्रांति रथयात्रा जिले की विभिन्न तहसीलों व गांवों में पहुंचा। जहां यात्रा गायत्री परिजनों व लोगों ने रथ का स्वागत किया। इस दौरान साडा काॅलोनी एवं कस्बे के.....