Published on 2017-04-21
img

मप्र की तीन सौ से अधिक बहिनों को आत्म निर्भर बनाने के सिखाये गुर

हरिद्वार २१ अप्रैल।
गायत्री तीर्थ शांतिकुंज इन दिनों युवा क्रांति विस्तार वर्ष के अंतर्गत नारी जागरण के लिए विशेष अभियान चला रहा है। इसके अंतर्गत नारियों को स्वावलंबी बनाने के साथ पौरोहित्य का भी प्रशिक्षण दिया जाता है। शृंखलाबद्ध अभियान के अंतर्गत गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में आयोजित पाँच दिवसीय नारी जागरण शिविर का आज समापन हो गया। इस शिविर में मप्र के १२ जिलों से आईं करीब तीन सौ से अधिक बहिनें शामिल रहीं।

समापन सत्र को संबोधित करते हुए पूर्व डीजी (स्वास्थ्य) डॉ. गायत्री शर्मा ने कहा नारी का सृजन जिन तत्वों से हुआ है, उनमें प्रेम, दया, करुणा, ममता, स्नेह, सौजन्य एवं आध्यात्मिकता का बाहुल्य है। एक ओर सेवा और समर्पण जैसे उनके अनूठे गुण हैं, तो वहीं दूसरी ओर साहस और शौर्य जैसे विशेषताओं की भी कमी नहीं। शांति, सुकुमारता, सृजनात्मकता, भावनात्मक ही विशेष विभूतियों से संपन्न नारी शक्ति का योगदान प्रत्येक क्षेत्र के लिए मंगलमय होगा। उन्होंने कहा कि घर और बाहर सभी जगह नारी की सृजनात्मक शक्ति काम करती है। उन्होंने कहा कि चिकित्सा और समाज कल्याण के क्षेत्र नारी के सहृदयता और प्यार भरे गुणों से लाभान्वित हों हम देश की सच्ची सेवा में तत्पर होंगे। डॉ. शर्मा ने एकता, श्रमशीलता, संयम, शिष्टाचार को नारियों का आभूषण बताया। उन्होंने नारी के व्यक्तित्व निर्माण के लिए अपने समय का ज्यादा से ज्यादा सदुपयोग करने की बात कही। इससे पूर्व प्रतिभागियों को कुटीर उद्योग के सैद्धांतिक व प्रायोगिक प्रशिक्षण भी दिये गये।

पाँच दिन चले तक इस प्रशिक्षण शिविर में हुए २३ सत्रों मे व्यक्ति विकास कैसे, संगठन का स्वरूप, नारी जीवन की समस्याएँ, सरकारी योजनाओं की जानकारी, बाल संस्कार शाला, बच्चों के शासक नहीं- सहायक बनें, आदर्श ग्राम योजना में नारी की भूमिका, जल संरक्षण- हरीतिमा संवर्धन, स्वावलंबन एवं उसका व्यावहारिक स्वरूप जैसे विषयों पर विशेषज्ञों ने विस्तार से प्रकाश डाला। शिविर में श्रीमती भारती नागर, श्वेता पटेल, सुषमा पँवार, अहिल्या, सुशीला अनघोरे आदि उपस्थित रहीं।


Write Your Comments Here:


img

शराब से पीड़ित जनमानस की आवाज बनकर उभरा है गायत्री परिवार का प्रादेशिक युवा संगठन

शराबमुक्त स्वर्णिम मध्य प्रदेश

अखिल विश्व गायत्री परिवार की मध्य प्रदेश इकाई ने सितम्बर माह से अपने राज्य को शराबमुक्त करने के लिए एक संगठित, सुनियोजित अभियान चलाया है। इस महाभियान में केवल गायत्री परिवार ही नहीं, तमाम सामाजिक, स्वयंसेवी संगठनों.....

img

ग्राम तीर्थ जागरण यात्रा

चलो गाँव की  ओर ०२ से ०८ अक्टूबर २०१७हर शक्तिपीठ/प्रज्ञापीठ/मण्डल से जुडे कार्यकर्त्ता अपने- अपने कार्यक्षेत्र (मण्डल) के ग्रामों की यात्रा पर निकलेंसंस्कारयुक्त, व्यसनमुक्त, स्वच्छ, स्वस्थ, स्वावलम्बी, शिक्षित एवं सहयोग से से भरे- पूरे ग्राम बनाने के लिये अभियान चलायेंएक.....