कनाडा में भारतीय संस्कृति का ध्वज फहरा लौटै डॉ. पण्ड्याजी

Published on 2017-08-03
img

हरिद्वार ३ अगस्त। 
अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्याजी अपने दस दिवसीय कनाडा प्रवास से बुधवार देर सायं लौट आये। वे कनाडा के किंगस्टन शहर में आयोजित राष्ट्रीय यूथ कैम्प 'जागो और जगाओ' एवं विनिपेग शहर के १०८ वेदीय गायत्री दीप महायज्ञ के संचालन के लिए गये थे। 

अपने प्रवास की जानकारी में देते हुए श्रद्धेय डॉ. पण्ड्याजी ने बताया कि कनाडा के मूल निवासी एवं एनआरआई युवा जो वहीं पले- बढ़े हैं, भारतीयता के रंग में रंग रहे हैं। वे संस्कारों एवं पारिवारिक मूल्यों के विस्तार में जुटे हैं। साथ ही बच्चों में भारतीय संस्कृति के बीजारोपण के लिए चलाये जा रहे बाल संस्कारशाला को गति प्रदान कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि विगत १७ वर्षों से चलाये जा रहे अमेरिका, कनाडा सहित  यूरोपीय देशों के युवाओं को रचनात्मक दिशा देते हुए भारतीय संस्कृति के प्रति रुझान पैदा किया जा रहा है, जो अब एक अच्छी स्थिति में दिखाई दे रही है। उन्होंने बताया कि इस प्रवास के दौरान मिल्टन, हैमिल्टन, मिसिसागा, मारखम, क्रामटन के विभिन्न विश्वविद्यालयों, शैक्षणिक एवं सामाजिक संस्थानों में विशेष उद्बोधन हुए। इन सभी जगहों में युवाओं की संख्या ज्यादा रही। सभी ने एक मत से स्वीकारा कि युवाओं की ऊर्जा को सकारात्मक दिशा देने के लिए भारतीय संस्कृति ही एक मात्र माध्यम है। साथ ही युगऋषि पं० श्रीराम शर्मा आचार्य द्वारा रचित युग साहित्य एवं अन्य विद्वान लेखकों के साहित्यों का मेला आयोजन हुआ। उन्होंने बताया कि कनाडा के जाने माने एटीएन चैनल ने कार्यक्रम एवं परिचर्चा को अपने प्राइम टाइम में विस्तृत रूप से प्रसारित किया। 

शांतिकुंज स्थित विदेश विभाग के अनुसार श्रद्धेय डॉ. पण्ड्याजी को प्रवास के दौरान कंसुलर जनरल ऑफ इण्डिया, प्रेस एवं इन्फामेंशन, कम्यूनिटी वेलफेयर, इंडियन एम्बेसी के श्री देवेन्द्र पाल सिंह, कंजरवेटिन पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं मेम्बर आफ पार्लियामेंट श्री नवल बजाज सहित दर्जन भर से अधिक संस्थानों ने विशेष रूप से सम्मानित किया। मानीटोगा प्रांत के मेंम्बर आफ पार्लियामेंट श्री टेरी मुगड ने देवसंस्कृति विवि के सूत्रों को अपने प्रांत के युवाओं तक पहुंचाने का आश्वासन दिया। उनके प्रवास के दौरान देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्याजी, प्रो. विश्व प्रकाश त्रिपाठी, ओंकार पाटीदार, राजकुमार वैष्णव एवं छबिलाल गढ़िया शामिल रहे। 

बाढ़ पीड़ितों की सेवा में प्रवासी भारतीयों का अमूल्य सहयोग प्रवासी भारतीयों ने राजस्थान- गुजरात के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में गायत्री परिवार की भूमिका का दिल से स्वागत किया। टोरंटो गायत्री परिवार के वरिष्ठ कार्यकर्त्ता मधुभाई पटेल, सुधीर देसाई एवं अमेरिका के विभिन्न शाखाओं से आये परिजनों ने कहा किइस समय हम लोग वहाँ जा नहीं सकते, पर हम अपना सहयोग आपके माध्यम से पहुृँचाना चाहते हैं। इसे श्रद्धेय डॉ. पण्ड्याजी ने सहर्ष स्वीकृति दे दी।

img

शराब से पीड़ित जनमानस की आवाज बनकर उभरा है गायत्री परिवार का प्रादेशिक युवा संगठन

शराबमुक्त स्वर्णिम मध्य प्रदेश

अखिल विश्व गायत्री परिवार की मध्य प्रदेश इकाई ने सितम्बर माह से अपने राज्य को शराबमुक्त करने के लिए एक संगठित, सुनियोजित अभियान चलाया है। इस महाभियान में केवल गायत्री परिवार ही नहीं, तमाम सामाजिक, स्वयंसेवी संगठनों.....

img

ग्राम तीर्थ जागरण यात्रा

चलो गाँव की  ओर ०२ से ०८ अक्टूबर २०१७हर शक्तिपीठ/प्रज्ञापीठ/मण्डल से जुडे कार्यकर्त्ता अपने- अपने कार्यक्षेत्र (मण्डल) के ग्रामों की यात्रा पर निकलेंसंस्कारयुक्त, व्यसनमुक्त, स्वच्छ, स्वस्थ, स्वावलम्बी, शिक्षित एवं सहयोग से से भरे- पूरे ग्राम बनाने के लिये अभियान चलायेंएक.....


Write Your Comments Here: