वनवासी क्षेत्र में चल रहा है सघन जनजागरण अभियान

Published on 2018-06-27
img

जोबट, अलीराजपुर। मध्य प्रदेश

गायत्री शक्तिपीठ जोबट पर ३१ मई को स्वास्थ्य जागृति शिविर आयोजित हुआ। खरगोन से आये देवेन्द्र पारगीर ने इसे संबोधित करते हुए नशे को जीवन का सबसे बड़ा शत्रु बताते हुए नशा करने वालों को आत्ममंथन के लिए प्रेरित किया। डॉ़ अमित दलाल कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि थे। उन्होंने नशे से होने वाली बीमारियों की अनेक रिपोर्टों के माध्यम से जानकारी दी। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे एड. सुधीर जैन ने भी लोगों को सत्परामर्श दिए।

इस अवसर पर व्यसनमुक्ति चित्र एवं फ्लैक्स प्रदर्शनी भी लगाई गई। शक्तिपीठ व्यवस्थापक डॉ. शिवनारायण सक्सेना के अनुसार कार्यकर्त्ताओं ने इस कार्यक्रम की सफलता के लिए एक सप्ताह पूर्व से ही घर-घर संपर्क अभियान आरंभ कर दिया था।

अलीराजपुर। मध्य प्रदेशगायत्री शक्तिपीठ अलीराजपुर द्वारा विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर व्यसनमुक्ति दीपयज्ञ आयोजित किया गया। मुख्य अतिथि श्री एम.एल. त्यागी, सीईओ जिला पंचायत अलीराजपुर ने इस अवसर पर तम्बाकू के दुष्प्रभावों की विस्तार से जानकारी दी।

डब्ल्यू.एच.ओ. की रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने बताया कि सन् २०२० तक विश्व के ५० करोड़ लोग तम्बाकू सेवन के कारण कैंसर ग्रसित हो जायेंगे।

इस कार्यक्रम में प्रज्ञागीत, नुक्कड़ नाटक, प्रदर्शनी आदि के माध्यम से लोगों को जागरूक किया। कार्यक्रम का संचालन श्री संतोष वर्मा ने किया।


Write Your Comments Here:


img

यज्ञ-संस्कार से शिविर का शुभारंभ

रेवाड़ी स्थित ललिता मेमोरियल हॉस्पिटल में रक्तदान शिविर का शुभारंभ गायत्री यज्ञ के साथ कीया गया, साथ ही यज्ञ के दौरान गर्भ-संस्कार का विवेचन भी कीया गया। यज्ञ-संस्कार श्रीमती अनामिका पाठक द्वारा संपन्न कराया गया तथा कार्यक्रम में शहर.....

img

कलेक्टरेट आदि प्रशासनिक कार्यालयों में लगाये जा रहे हैं सद्वाक्य

तुलसीपुर, बलरामपुर। उ.प्र.गायत्री शक्तिपीठ तुलसीपुर के वरिष्ठ परिजन श्री सत्यप्रकाश शुक्ल एवं साथियों ने जिला कलेक्ट्रेट, एसडीएम, सीओ, तहसीलदार आदि वरिष्ठ अधिकारियों के कार्यालयों में जाकर युगऋषि के अनमोल वचन लिखे सनबोर्ड भेंट किये। इन्हें पाकर सभी गद्गद थे। जिलाधिकारी.....

img

बाल संस्कार शाला शुभारंभ

गोंदिया जिले के तिरोड़ा तहसील के ग्राम मालपुरी में बाल संस्कार शाला का शुभारंभ कराया गया। ग्राम के सम्मानीय परिजन तथा बालको के माता-पिता के सहयोग से संस्कार शाला को सतत चलाते रहने का संकल्प लिया गया।.....