Published on 2019-08-16

हरिद्वार 16 अगस्त।
देवसंस्कृति विश्वविद्यालय, गायत्री विद्यापीठ व शांतिकुंज ने आजादी के 73वीं वर्षगाँठ के उल्लासपूर्वक मनाया। इस मौके पर देसंविवि व शांतिकुंज में विवि के कुलाधिपति अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या, संस्था प्रमुख श्रद्धेया शैल दीदी ने तिरंगा फहराया। तो वहीं गायत्री विद्यापीठ में श्रीमती शेफाली पण्ड्या ने ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर शांतिकुंज के कार्यकर्त्ता भाई-बहिनों, शिविरार्थियों, देसंविवि व गायत्री विद्यापीठ के विद्यार्थियों ने रंगारंग सांस्कृतिक एवं देश भक्ति गीतों के साथ आजादी का जश्न मनाया। कई राष्ट्रप्रेम का जज्बा जगाने वाले गीतों ने सभागार को जोश से भर दिया। आजाद भारत के 73वीं वर्षगाँठ को संकल्प दिवस के रूप में मनाया गया। गायत्री विद्यापीठ व शांतिकुंज बैण्ड टीम द्वारा प्रस्तुत राष्ट्रीय धुनों ने उपस्थित लोगों में देश के प्रति जोश व उमंग भर दिया।  इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में व्यवस्थापक श्री शिवप्रसाद मिश्र, विवि कुलपति श्री शरद पारधी, प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या, कुलसचिव बलदाऊ देवांगन सहित अनेक गणमान्य नागरिक एवं देसंविवि के अधिकारी एवं विद्यार्थी उपस्थित थे।

 वहीं गायत्री विद्यापीठ में विभिन्न प्रतियोगिता का आयोजन हुआ, जिसमें विजयी छात्र-छात्राओं को मुख्य अतिथि द्वारा सम्मानित किया गया। उधर गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में गेट नं 5 के निकट सौ फीट ऊंचा तिरंगा फहराया गया।
 कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ प्रणव पण्ड्या ने विवि में देश की रक्षा में प्राणों का बलिदान देने वालों की याद में बनाये गये शौर्य दीवार में वीर सपूतों के चित्रों पर पुष्पचक्र चढ़ाकर श्रद्धा सुमन अर्पित की। इसके पश्चात उन्होंने देश को आजाद कराने वाले रणबांकुरों महर्षि अरविन्द, सुभाष चन्द्र बोस, रानी लक्ष्मीबाई, तात्या टोपे आदि को याद करते हुए उनकी जीवन गाथा से उपस्थित जनसमुदाय के साथ साझा किया। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों के देश भक्ति व जब्जे के कारण हमें आजादी मिल पायी। आज भारत माता को याद करने का दिन है। साथ ही महर्षि अरविन्द का जन्मदिन, आजादी का महापर्व व रक्षाबंधन तीनों का एक साथ आना भविष्य के लिए एक शुभ संकेत है। कुलाधिपति डॉ. पण्ड्या ने आशा व्यक्त कि विगत दिनों जम्मू कश्मीर को आजाद करने में जो सफलता की कहानी लिखी गयी, उसका आने वाले दिनों में इसका सुखद परिणाम देखने को मिलेगा। 


Write Your Comments Here:


img

श्री राम बाल संस्कारशाला, ग्राम मोरा, हरिद्वार रोड़, मुरादाबाद।

पिछले पांच वर्षों से नित् रविवार यज्ञ का अनुष्ठान किया जाता है, जिससे दलीत और मजदूर समाज सर्वांगीण विकास की ओर बढ़ रहा है, और अध्यात्म की अनुभूति करने लगा है, जिससे क्षेत्र कुरीतियों और आडम्बरों से दूर होते जा.....

img

Meeting

Up Jon Gwalior ki meting.....