The News (All World Gayatri Pariwar)
Home Editor's Desk World News Regional News Shantikunj E-Paper Upcoming Activities Articles Contact US

नव सृजन युवा संकल्प समारोह, नागपुर

[नागपुर], Jul 26, 2017
नव सृजन युवा संकल्प समारोह, नागपुर दिनांक 26, 27, 28 जनवरी 2018

यौवन जीवन का वसंत है तो युवा देश का गौरव है। दुनिया का इतिहास इसी यौवन की कथा-गाथा है।  कवि ने कितना सत्य कहा है - दुनिया का इतिहास केवल ये ही बतलाता है , 
"जिस ओर जवानी जाती है , उस ओर जमाना जाता है "   
  
निर्माण और विकास के लिए चाहिए शक्ति -ऊर्जा और इसी ऊर्जा का श्रोत है युवा। देश और दुनिया इस समय संक्रमण काल से गुजर रहे हैं। अनेकों समस्याएं मनुष्यता के समक्ष दुर्धर्ष चुनौतियाँ प्रस्तुत कर रही हैं। युद्ध, आतंक, अलगाव, गन्दगी,  मूढ़ मान्यताएं, नशा, बेरोजगारी, प्रदूषण आदि समस्याओं के समाधान तत्काल ना खोजे गए तो मनुष्यता के अस्तित्व पर संकट खड़ा दिख रहा है।  इन्हीं समस्याओं के एकमुश्त समाधान हेतु आशाभरी दृष्टि युवाओं पर जाकर टिक जाती है। 

हमारा देश  इन दिनों दुनिया का सबसे जवान देश है। 60 करोड़ से अधिक युवाओं वाला देश चुनौतियों से भरा हो, ये बात समझ से परे है। कारण खोजने पर बात स्पष्ट हो जाती है की जवानी की दिशा और दशा बदलने की आवश्यकता है। व्यक्तिगत सुख एवं उन्नति पर केन्द्रित युवा सोच को राष्ट्र निर्माण के महान कार्य हेतु संकल्पित कराना होगा।  युवा राष्ट्र की चुनौतियों का  समाधान करें और देव -संस्कृति की महान परम्परा से वैश्विक समाधान भी खोजें। बुढ़ाती दुनिया का आज नहीं तो कल यौवन सहारा बनेगा। चरित्रवान सुसंस्कारी युवा ही राष्ट्र की सच्ची पूंजी है।

अत: सृजनशील युवाओं की खोज, प्रशिक्षण,संगठन तथा राष्ट्र के नव निर्माण में उन्हें संलग्र करना होगा। 

युगऋषि पं. श्रीराम शर्मा आचार्य एवं वंदनीया माता भगवती देवी शर्मा की सूक्ष्म चेतना एवं युवा प्रेरक श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी के अथक प्रयास ने तरुणाई के लिए नवयुग के निर्माण की आधार शिला रख दी है। शान्तिकुंज ने युवा शक्ति को राष्ट्र शक्ति के रूप में निखारने की प्रक्रिया को एक राष्ट्रव्यापी आन्दोलन और अभियान का रूप दिया है ताकि भारतवर्ष अपनी अपरिमित आध्यात्मिक श्रेष्ठता, सम्प्रभुता और सम्पन्नता के शिखर पर पुन: प्रतिष्ठित हों सके । 

इन्हीं विचारों एवं कलापों को मूर्त रूप प्रदान करने हेतु वर्ष 2016 एवं 2017 को अखिल विश्व गायत्री परिवार ने युवा क्रांति वर्ष के रूप में मनाया गया जिसकी पूर्णाहुति आगामी 26 से 28 जनवरी 2018 में देश  के केंद्र स्थल नागपुर में संपन्न होगी। जिसमें देश के 650 जिलों के चयनित सृजनशील युवा प्रतिनिधि भागीदार बनेंगे।

चार सूत्र

एक विचार    -     आत्म निर्माण से ही राष्ट्र निर्माण संभव है 
दो सन्दर्भ      -     राष्ट्र और विश्व की समस्याओं के समाधान खोजना 
तीन अभ्यास  -    युग निर्माण हेतु उपासना, साधना एवं आराधना से श्रेष्ठ युवा का गठन 
चार कार्य      -     सृजनशील युवाओं को खोजें , उनके व्यक्तित्व के निर्माण का प्रशिक्षण, 

श्रेष्ठ युवाओं को संघबद्ध करना और चैतन्य राष्ट्र के नव निर्माण में उन्हें नियोजित करना ।

चार लक्ष्य -   चार परिणाम 

स्वस्थ युवा -  सशक्त राष्ट्र    
शालीन युवा - श्रेष्ठ राष्ट्र                     
स्वावलम्बी युवा - संपन्न राष्ट्र
सेवाभावी युवा - सुखी राष्ट्र


-
For YSS2018 Registration : - Online Registration
| Get Brochure,leaflet, Banner, Poster -  Download
-







Click for hindi Typing


Related Stories
Recent News
Most Viewed
Total Viewed 760

Comments

Post your comment

Sachin kumar nandal
2017-08-03 10:32:11
Parnaam, yuva jan jagran ke abhiyan ko safal banane me humari aur se bhut bhut SHUBKAMNAY.