Published on 2023-04-02
img

इन्दौर। मध्य प्रदेशआज देश में विद्यालयों, महाविद्यालयों, विश्वविद्यालयों की बाढ़ आई हुई है। वे प्रमाणपत्र तो दिलवा रहे हैं, लेकिन विद्यार्थियों में प्रामाणिकता का अभाव ही बना रहता है। एक समय था जब हमारे देश में नालंदा और तक्षशिला जैसे शिक्षा संस्थानों में पूरे विश्व के लोग आते थे जीवन जीने की कला सीख कर जाते थे और पूरे विश्व में भारतीय संस्कृति के आदर्शों को फैलाया करते थे। देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति आदरणीय डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी ने 5 मार्च 2023 को गायत्री चेतना केंद्र इंदौर में आयोजित प्रांतीय शिक्षा आंदोलन सशक्तीकरण कार्यक्रम में यह संदेश दिया। यह कार्यक्रम म.प्र. में प्रारम्भ हुए एक नवाचार ‘शिक्षक उन्मुखीकरण कार्यशाला तथा पालक प्रबोधन’ के अन्तर्गत आयोजित किया गया था।माननीय डॉ. चिन्मय जी ने इस अभिनव पहल का स्वागत किया, साथ ही अनेक प्रासंगिक उद्धरणों, उदाहरणों के साथ आज शिक्षा के गिरे हुए स्तर पर चिन्ता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि आज के शिक्षालय अधिकतम अंक प्राप्त करके अधिक से अधिक पैसा कमाने की ट्रिक सिखा रहे हैं। विडंबना यह है कि अभिभावक भी अपने बच्चों को पैसे कमाने की मशीन ही बनाना चाह रहे हैं। माननीय प्रतिकुलपति डॉ. पण्ड्या जी ने इस अभिशप्त, क्षुब्ध वातावरण में गायत्री परिवार को आशा की किरण बताया। उन्होंने कहा कि शान्तिकुञ्ज द्वारा संचालित देव संस्कृति विश्वविद्यालय एक ऐसा विश्वविद्यालय है, जहाँ विद्यार्थियों के जीवन में मानवीय मूल्यों को उतारने का भरपूर प्रयास किया जाता है। उन्होंने गायत्री परिवार द्वारा संचालित बाल संस्कार शाला, भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा आदि समानान्तर शिक्षा योजनाओं को छोटा ही सही, परन्तु प्रभावी कदम बताया। इस कार्यक्रम में सम्पूर्ण मध्य प्रदेश के चयनित 100 से अधिक विद्यालयों के संचालक, प्राचार्य तथा शिक्षक आदि लगभग 1000 शिक्षाविद् सम्मिलित हुए। शिक्षक उन्मुखीकरण कार्यशाला का प्रगति प्रतिवेदन आंदोलन के सहयोगी श्री भगवानदास बिर्ला ने प्रस्तुत किया। संचालन प्रांतीय शिक्षा आन्दोलन (म.प्र.) के समन्वयक श्रीकृष्ण शर्मा व सहयोगी श्री राजेंद्र जैन महावीर ने किया। श्री कोमलप्रसाद ने अतिथियों का आभार व्यक्त किया।गायत्री परिवार की ओर से मध्य जोन समन्वयक शान्तिकुञ्ज प्रतिनिधि श्री योगेन्द्र गिरि, श्री राजेश पटेल, प्रान्तीय समन्वयक, भोपाल, श्री आर. के. गुप्ता, समन्वयक शक्तिपीठ प्रकोष्ठ म.प्र., श्री विवेक चौधरी प्रांतीय संयोजक युवा प्रकोष्ठ, श्री जे.पी.यादव उपजोन इंदौर समन्वयक, श्री पन्नालाल बिर्ला, उपजोन समन्वयक खंडवा भी उपस्थित थे। 


Write Your Comments Here:


img

समाज को सकारात्मकता एवं सृजनात्मक उत्कृष्टता की ओर प्रेरित करते कार्यक्रम

पीड़ित युवतियों के उत्थान के प्रयासरेस्क्यू फाउण्डेशन में जाकर मनाया जन्मदिवसबोरीवली, मुंबई। महाराष्ट्ररेस्क्यू फाउंडेशन देह व्यापार से छुड़ाई गई युवा लड़कियों के पुनर्वास के लिए काम करने वाली स्वयंसेवी संस्था है, जो पूरे महाराष्ट्र में सक्रिय है। दिया, मुम्बई के.....

img

1126 जोड़ों का सामूहिक विवाह संस्कार

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश श्रम विभाग प्रयाजराज की ओर से दिनांक 13 मार्च को सामूहिक विवाह का विशाल समारोह आयोजित किया गया। माघ मेला, परेड ग्राउण्ड में आयोजित इस संस्कार समारोह में 1126 जोड़ों ने और 18 मुस्लिम जोड़ों ने गृहस्थ.....

img

छत्तीसगढ़ में नारी सशक्तीकरण के लिए ऑनलाइन प्रशिक्षण

‘विजन 2026’ के साथ हो रहे हैं कार्यक्रम छत्तीसगढ़ के प्रान्तीय संगठन द्वारा ‘विजन-2026’ को लेकर 11 मार्च से 25 अप्रैल 2023 तक बहिनों का ऑनलाइन प्रशिक्षण शिविर चलाया जा रहा है। यह प्रशिक्षण परम वंदनीया माताजी की जन्मशताब्दी वर्ष.....