गायत्री शक्तिपीठ भोपाल ने ग्रीष्मावकाश का सदुपयोग करते हुए 9 जून से 16 जून तक कक्षा 5 वीं से 10 वीं  तक के बच्चों का व्यक्तित्व परिष्कार शिविर आयोजित किया । इस शिविर में बच्चों में जीवन मूल्यों की अभिवृद्धि के लिए पाठ्यक्रम से हटकर विभिन्न गतिविधियाँ सम्पादित की गयी । बच्चों का नैतिक , बौद्धिक व आध्यात्मिक विकास करने के लिए प्रतिदिन 2 घंटे की नैतिक ज्ञान पर आधारित कक्षाएँ आयोजित  की गयी, जिनमें मानव जीवन की गरिमा , विद्यार्थी  की आदर्श दिनचर्या , जीवन जीने की कला , समय प्रबंधन , युग संजीवनी गायत्री , अनुशासन एवं अनुबंध , शिक्षा एवं विद्या, युग निर्माण योजना एवं विचार क्रांति अभियान  जैसे विषयों का सहारा लिया गया ।








Write Your Comments Here: