सेना के उत्तरी क्षेत्र मेंव्यक्ति की जैसे-जैसे जिम्मेदारी बढ़ती है, वैसे-वैसे ही उसके साथ समस्याएँ भी जुड़ती जाती हैं। बड़ी जिम्मेदारियों को वहन करने के लिए अधिक क्षमता की जरूरत होती है। जिम्मेदारी के अनुरूप क्षमता में यदि कमी हो तो वही तनाव का कारण बन जाती है। अखिल विश्व गायत्री परिवार के प्रमुख प्रतिनिधि आदरणीय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी ने सेनाधिकारियों और सेना के जवानों को संबोधित करते हुए व्यक्त किये। वे ‘तनाव प्रबंधन’ विषय पर जवानों को संबोधित कर रहे थे। सेना के कई स्टेशनों के जवान टेले कॉन्फरेंसिंग के माध्यम से जुड़े, अपने प्रश्नों का जवाब प्राप्त किया। शांतिकुंज प्रतिनिधि ने देश के प्रहरियों को आध्यात्मिक जीवन शैली अपनाकर अपनी शारीरिक-मानसिक क्षमताओं के विकास के अनेक सूत्र बताये। आदरणीय डॉ. साहब ने दैनिक जीवन में आने वाले विविध प्रकार के तनावों का विश्लेषण किया। उन्होंने कहा कि तनाव एक धीमा जहर है, जो व्यक्ति के व्यवहार में हताशा, निराशा, चिंता, क्षोभ के रूप में दिखाई देता है। यह एक बहुत बड़ी समस्या है, जो केवल जिम्मेदारियों के बढ़ने से नहीं, जीवन के प्रति हमारी अज्ञानता और उपेक्षा से जुड़ी है। जीवन में परम पूज्य गुरुदेव का बताया ‘सादा जीवन-उच्च विचार’ का सूत्र अपनाने से अनेक प्रकार के तनाव स्वतः ही दूर हो जाते हैं। व्यक्ति के शारीरिक-मानसिक स्वास्थ्य का राज इस सूत्र में है। आहार अनुकूल हो तो शरीर स्वस्थ रहेगा, विचार उच्च हों तो मन प्रसन्न होगा। संकीर्णता छोड़े, अपनेपन का विस्तार करें यही अध्यात्म की शिक्षा है। अध्यात्म को तनाव प्रबंधन का श्रेष्ठतम उपचार बताते हुए आदरणीय डॉ. साहब ने ध्यान, योगनिद्रा, संगीत, उपासना-प्रार्थना, स्वाध्याय से महापुरुषों के साथ सत्संग जैसे अनेक उपायों की चर्चा की। जवानों ने प्रश्नोत्तरी के क्रम में अपनी समस्याएँ बतायीं, जिनका डॉ. साहब ने समाधान किया। सेना के ले. जनरल ने शांतिकुंज प्रतिनिधि का आभार व्यक्त करते हुए उन्हें स्मृति चिह्न प्रदान किया।


Write Your Comments Here:


img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

संस्कारित युवा पीढ़ी के निर्माण से होगा राष्ट्र निर्माण: नीलिमा

अखिल विश्व गायत्री परिवार के तत्वावधान में स्थानीय रामकृष्ण आश्रम परिसर में जिला युवा प्रकोष्ठ द्वारा 5 दिवसीय युवा व्यक्तित्व निर्माण शिविर का आयोजन किया गया है | जहाँ शिविरार्थी योग, आसान, ध्यान  समेत आध्यात्मिक और बौद्धिक ज्ञान प्राप्त कर.....

img

नेपाल में आयोजित अंतरराष्ट्रीय विश्व युवा सम्मेलन में गायत्री परिवार का प्रतिनिधित्व

Nepal 8/8/17:-अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस के उपलक्ष्य में नेपाल में आयोजित अंतरराष्ट्रीय विश्व युवा सम्मेलन में भारत देश की तरफ से अखिल विश्व गायत्री परिवार के (DIYA TEAM)  के सदस्य श्री पी डी सारस्वत व श्री अनुज कुमार वर्मा सम्मेलन में.....