img



दीक्षांत की भव्यता एवं
विश्वविद्यालय परिवार से मिला प्यार खुद बा खुद खींचता है पुराने विद्यार्थियों को

पुराने विद्यार्थी इस अवसर पर बनाते हैं विवि को प्यापक विस्तार देने संबंधी योजनाएं

 

हरिद्वार, 08 दिसम्बर।

घोषित हो चुकी है दीक्षांत कार्यक्रम की रूपरेखा। दीक्षांत समारोह में राष्ट्रपति के आगमन में अब मात्र कुछ ही समय बचा है। विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से कार्यक्रम की रूपरेखा घोषित हो चुकी है। इससे विवि मुख्य परिसर से लेकर शांतिकुंज तक रौनक का माहौल है। अपने नये राष्ट्रपति के उद्बोधन के लिए हर कोई उत्साहित है।

विश्वविद्यालय के कुलसचिव की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य दीक्षांत समारोह के एक दिन पूर्व प्रातः विवि के कुलाधिपति डाॅ. प्रणव पण्ड्या द्वारा कुलध्वजारोहण से होगा। “देव संस्कृति के देवदूत बनें“ तथा “देव
संस्कृति विश्वविद्यालय की भावी दृष्टि“ एवं ”देव संस्कृति विवि की अपेक्षाएं“ विषय पर कुलाधिपति डाॅ. प्रणव पण्ड्या, कुलपति डाॅ सुखदेव शर्मा एवं प्रतिकुलपति डाॅ चिन्मय पण्ड्या छात्र-छात्राओं के बीच उद्बोधन देंगे। इसी क्रम में साहित्यकार डाॅ. नरेन्द्र कोहली का भी विशेष उद्बोधन होगा। इसी दिन मध्यांह में समस्त पूर्ववर्ती छात्र-छात्राओं का विभागीय मिलन समारोह है, जिसमें अपने ढंग की अनुमप छटा बिखरेगी। चूंकि दीक्षांत कार्यक्रम का मुख्य समारोह आगामी 09 दिसम्बर, दिन रविवार को विश्वविद्यालय के आर.एण्ड डी. ग्राउंड में सम्पन्न होगा, जिसके लिये लगभग 5000 लोगों के बैठने के लिए भव्य पंडाल बनाया गया है। इसी मुख्य समारोह स्थल पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी महोदय अपना उद्बोधन देंगे तथा प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं को सम्मानित करेंगे।

दीक्षांत समारोह में उपाधि पाने वालों के अतिरिक्त, भारी तादात में वे छात्र-छात्रायें भी परिसर पहुॅच चुके हैं जिन्हें विगत दीक्षांत समारोहों में डिग्री मिल चुकी थी। दो दिन ही सही पर सभी इन पलों को बखुबी जीना चाहतें हैं, जिससे आगामी दीक्षांत तक यादें ताजा रहें। भारी संख्या में पुराने छात्र-छात्राआं के विश्वविद्यालय पहुंचने को लेकर पूछे जाने पर विश्ववि़द्यालय के प्रतिकुलपति डाॅ. चिन्मय पण्ड्या ने मुस्कुराकर टाल दिया लेकिन 2005 के पास आउट विद्यार्थियो के एक समूह ने कुछ इस तरह बताया कि देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह की भव्यता, दिव्यता एवं उत्साह तथा विवि परिवार से मिला प्यार पुराने विद्यार्थियों को खुद बा खुद खींच लाता है।“ यहा सभी आपस में मिल बैठकर विश्वविद्यालय की प्रगति समीक्षा करते एवं विवि की गौरवमयी संकल्पना को प्यापक विस्तार देने संबंधी योजनाएं बनाते हैं। ज्ञात हो कि विश्वविद्यालय के पुराने छात्र छात्राओ में स्थापित यह परम्परा विश्वविद्यालय द्वारा उनके अंदर पैदा की गयी व्यक्ति एवं समाज निर्माण संबंधी हूक है जो युगीन परिवेश में अन्य विश्वविद्यालयों के लिए मिशाल कही जा सकती है।

विश्वविद्यालय कैंटीन में चाय एवं प्रज्ञापेय की चुस्कियां, परिसर में ही नया विकसित हर्बल पार्क (श्रीराम स्मृति उद्यान) का औषधीय पेय पदार्थ, विश्वविद्यालय का स्वावलम्बन कार्यशाला परिसर, बहुमंजिला पुस्तकालय, शोध एवं अनुसंधान संकाय, देवसंविवि के कुलपिता-कुलमाता अर्थात शांतिकुंज का ऋषियुग्म स्मारक-सजलश्रद्धा- प्रखरप्रज्ञा, देवात्मा हिमालय ध्यान स्थल, महाकाल मंदिर, ऋषियों महापुरुषों के नाम से रोपी औषधीय गुणों से युक्त नवग्रह बाटिका, कुरानी वाटिका, बुद्ध वाटिका, नक्षत्र आदि वाटिकायें और मुख्य परिसर से मात्र कुछ दूरी पर स्थित गौशाला इन दिनों पुराने छात्रों के आक्रर्षण का केंद्र हैं।

ज्ञात हो कि दीक्षांत के अवसर पर राष्ट्रपति महोदय 77 डाक्टरेट उपाधि एवं विभिन्न विषयो के 32 स्वर्ण पदक धारक सहित कुल 1370 डिग्रिधारियों को उपाधियां प्रदान करेंगे। इस अवसर पर मुख्य अतिथि राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी के अतिरिक्त विशिष्ठ अतिथि राज्यपाल डा अजीज कुरैशी, मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा विशेष रूप से उपस्थित रहेगे।


Also, please see below the news coverage of the event.
http://www.ndtv.com/article/india/president-pranab-mukherjee-to-visit-haridwar-301415" target="_blank">http://www.ndtv.com/article/india/president-pranab-mukherjee-to-visit-haridwar-301415
http://www.business-standard.com/generalnews/ians/news/president-to-visit-haridwar/88728/
http://www.business-standard.com/generalnews/news/preparations-for-presidents-visit-begin/81237/
http://www.daijiworld.com/news/news_disp.asp?n_id=155271
http://news.uttarakhandonline.in/President-to-visit-Haridwar-7396



Write Your Comments Here:


img

शांतिकुंज में मनाया जायेगा गुरु गोविन्द सिंह जी महाराज का ३५० प्रकाशोसत्व

सभी सिक्ख भाई- बहिनों को भावभरा आमंत्रण

वर्ष २०१७- १८ में देशभर में सिक्ख मतावलम्बियों के दशम गुरु गुरु गोविंद सिंह जी महाराज के ३५०वें प्रकाशोत्सव के उपलक्ष्य में समारोह आयोजित हो रहे हैं। अखिल विश्व गायत्री परिवार भी २२ अगस्त.....

img

नव सृजन युवा संकल्प समारोह, नागपुर

नव सृजन युवा संकल्प समारोह, नागपुर दिनांक 26, 27, 28 जनवरी 2018
यौवन जीवन का वसंत है तो युवा देश का गौरव है। दुनिया का इतिहास इसी यौवन की कथा-गाथा है।  कवि ने कितना सत्य कहा है - दुनिया का इतिहास.....


Warning: Unknown: write failed: No space left on device (28) in Unknown on line 0

Warning: Unknown: Failed to write session data (files). Please verify that the current setting of session.save_path is correct (/var/lib/php/sessions) in Unknown on line 0