काठमांडु में बाल संस्कार शाला शिविर आयोजित हुआ

Published on 2017-12-26

काठमांडु (नेपाल)काठमाण्डु में भारतीय संस्कृति को अच्छी लोकप्रियता मिल रही है। इसे देखते हुए वहाँ के नैष्ठिक कार्यकर्त्ताओं ने अब परीक्षा को अधिक उद्देश्यपूर्ण बनाने, मूल्य परक शिक्षाओं को बच्चों के जीवन में उतारने के लिए बाल संस्कार शालाओं की ओर कदम बढ़ाया है।दिनांक १३ से १५ फरवरी की तारीखें में काठमांडु के कुपंडोल के गुरुद्वारे में बाल संस्कार शाला प्रशिक्षण शिविर का आयोजन हुआ। शांतिकुंज से इसके संचालन के लिए श्री प्रशांत सोनी, श्रीमती स्वाती सोनी और श्री सदानंद आम्बेकर की टोली पहुँची थी। प्राचार्य, प्रधानाध्यापक  सहित ७० शिक्षकों ने इसमें भाग लिया। शिविर में ऋषियों की सांस्कृतिक विरासत को बच्चों के जीवन में उतारने के सरल तरीके सिखाये गये। कहानियों के माध्यम से, कठपुतलियों के संवाद के माध्यम से, खेलों के माध्यम से जीवन के बहुमूल्य सूत्रों को बच्चों को समझाने की विधायें बतायी गयीं। अधिकांश प्रतिभागी गायत्री परिवार से अनभिज्ञ थे। उन्हें युग निर्माण मिशन की विस्तृत जानकारियाँ भी दी गयीं।शांतिकुंज प्रतिनिधि शिविर आयोजकों द्वारा संचालित आरुणि विद्यालय गये और ५वीं, ६ठीं कक्षा के विद्यार्थियों के बीच बाल संस्कार शाला संचालन का प्रायोगिक प्रशिक्षण दिया। टोली के सदस्य महर्षि अरविंद योग मंदिर गये और वहाँ जाकर गायत्री, यज्ञ, गुरुदेव आदि युग निर्माण आन्दोलन के विविध विषयों की जानकारियाँ दी। उल्लेखनीय है कि यह विद्यालय गुरुकुल परंपरा से संचालित है। विभिन्न कॉलेजों के विद्यार्थी अवैतनिक सेवाएँ देते हुए इसका संचालन कर रहे हैं। वहाँ गौपालन, कृषि, स्वावलम्बन केन्द्र आदि भी संचालित हैं। शांतिकुंज प्रतिनिधियों ने काठमांडु के कार्यकर्त्ताओं द्वारा चलाये जा रहे साप्ताहिक बागमति सफाई अभियान में भी भाग लिया। प्रज्ञापीठ पर सक्रिय २० कार्यकर्त्ता बहिनों की गोष्ठी हुई। प्रस्तावित गायत्री ग्राम का निरीक्षण किया। इन कार्यक्रमों का संयोजन सर्वश्री केशव मरहट्टा, रमेश खंडेलवाल, विद्यालय के प्राचार्य श्री हिकमत दहल ने किया। नारायण पंथी, राजू अधिकारी, श्रीमती सावित्री काफले, गायत्री आचार्य एवं अन्य परिजनों की सतत उपस्थिति रही, सहयोग मिला।

img

सभ्य समाज के निर्माण में चिकित्सकों का योगदान

गाज़ियाबाद में हुए दो सेमीनार, गर्भवती बहनों में जागरूकता बढ़ाएँगे३५० चिकित्सकों ने लाभ लिया।अपने क्लीनिक के स्वागत कक्ष पर पोस्टर, बैनर, हैंगर टांगने तथा ब्रोशर व संबंधित पुस्तक, संबंधित टीवी प्रेज़ेण्टेशन आदि माध्यमों से गर्भवती बहनों को इस संदर्भ में.....

img

झुग्गी-झोपड़ियों के बच्चों को सँवारेगा शांतिकुंज

२७ नवंबर को हरकी पौड़ी के निकटवर्ती झुग्गी झोपड़ियों में रहने वाले बच्चों के लिए नई बाल संस्कार शाला का शुभारंभ हुआ।  शांतिकुंज व्यवस्थापक श्री शिवप्रसाद मिश्र एवं हरिद्वार के एसएसपी श्री कृष्ण कुमार वीके की धर्मपत्नी श्रीमती शीबा केके.....

img

अलवर में अनेक स्थानों पर बाल संस्कारशाला का सफल सञ्चालन

अलवर  | Rajasthanअलवर में चल रही है बाल संस्कार शाला के दृश्य |  महाराणा प्रताप बाल संस्कार शाला, प्रताप नगर,  पंडित दीनदयाल बाल संस्कार शाला,  आदर्श कॉलोनी, गोस्वामी तुलसीदास बाल संस्कार शाला, किशनगढ़ (अलवर),  संत कबीर बाल संस्कार शाला किशनगढ़(अलवर) | .....