मुलताई, बैतूल (मध्य प्रदेश)

मुलताई शाखा द्वारा नवरात्रि पर्व पर त्रिकाल सामूहिक साधना का विशेष प्रयोग किया गया। लोगों को समाज के स्वस्थ विकास और उज्ज्वल भविष्य के लिए परस्पर हितों की रक्षा करने की प्रेरणा दी गयी। प्रतिदिन सायंकाल श्री टीके चौधरी द्वारा ‘नवयुग का संविधान-युग निर्माण योजना के आधारभूत सूत्र-सिद्धांत’ की व्याख्या की गयी। साधना का समापन पंच कुण्डीय गायत्री यज्ञ के साथ हुआ। बड़ी संख्या में लोगों ने दिव्य साधनात्मक वातावरण का लाभ लेते हुए विविध संस्कार कराये। 

मुलताई शाखा ने नवरात्रि साधना पर्व पर समूह साधना अभियान को प्रोत्साहित किया। शांतिकुंज के वरिष्ठ प्रतिनिधि श्री कालीचरण शर्मा जी ने अपने मोबाइल संदेश में कहा कि साधना के सामूहिक प्रयोग से समूह चेतना का विकास होता है, समूह मन बनता है। लोगों के विचार बदलेंगे तो परिस्थितियाँ भी बदलती जायेंगी। 
मुलताई शाखा को आन्दोलन के विस्तार में स्थानीय पत्रकारों का भरपूर सहयोग मिल रह है। रामनवमी के दिन उन सभी पत्रकारों का गायत्री परिवार की ओर से सम्मान किया गया। 

सांगली (महाराष्ट्र)
उपजोन सांगली शाखा ने बड़ी संख्या में लोगों को नवरात्रि साधना अनुष्ठान के लिए प्रेरित किया। अनुष्ठान की पूर्णाहुति पाँच कुण्डीय गायत्री महायज्ञ से हुई। श्री महादेव आंबी ने श्रद्धालुओं को यज्ञीय जीवन जीते हुए आत्मिक क्षमताओं को विकसति करने और परिवार व समाज में बेहतर समन्वय स्थापित करने संबंधी मार्गदर्शन दिया। 

गुना (मध्य प्रदेश)
गायत्री शक्तिपीठ गुना पर नवरात्रि साधना करते हुए साधकों ने राष्ट्र की समृद्धि और सुख-शांति की प्रार्थनाएँ की, यज्ञाहुतियाँ दीं। उपजोन प्रभारी श्री नारायण प्रसाद पाली ने इसे संबोधित करते हुए साधना के सामूहिक प्रयासों को चरित्रहीनता, राजनैतिक मूल्यों में गिरावट, व्यसनों में बढ़ती लिप्तता, संस्कारहीनता जैसी आसुरी वृत्तियों के दमन के लिए दुर्गाशक्ति के जागरण की भाँति आवश्यक प्रयोग बताया। 


स्वस्थ परंपराओं को प्रोत्साहित करती है गणमान्यों की परामर्शदात्री समिति

मुलताई, बैतूल (म.प्रदेश)
गायत्री परिवार मुलताई ने होली मिलन समारोह के माध्यम से समाज में सत्प्रवृत्तियों के विस्तार के प्रशंसनीय प्रयास किये। सामारोह में गायत्री परिवार के कार्यकर्त्ताओं के अलावा नगर के अनेक गणमान्य उपस्थित थे। प्रमुख ट्रस्टी डॉ. आरडी गढेकर सहित सभी कार्यकर्त्ताओं ने एक-दूसरे को गुड़ी पाड़वा, नवसंवत् आरंभ और नवरात्रि पर्व की बधाई दी। गायत्री परिवार की गतिविधियों, भावी कार्यक्रमों और आय-व्यय की जानकारी दी गयी। 

उल्लेखनीय है कि मुलताई शाखा ने नगर के गणमान्यों की परामर्श दात्री समिति बनायी है। श्री दिनेश साहू के अनुसार उनके सुझावों और सहयोग से एक ओर नगर के आदर्श विकास की योजनाएँ चलायी जा रही हैं, वहीं उनकी सहभागिता से युग निर्माण आन्दोलन के सूत्र-सिद्धांत तेजी से हर वर्ग, हर समाज तक पहुँच रहे हैं। होली मिलन समारोह में समिति के श्री मुरारीलाल अग्रवाल ने आनंद वन बनाने का प्रस्ताव रखा। पत्रकार श्री राजेन्द्र भार्गव ने ‘हम बदलेंगे-युग बदलेगा’ सूत्र को समाज निर्माण का आधार बताया। 


आरंभ हुआ समूह साधना अभियान

बिलासपुर, उमरिया (मध्य प्रदेश) :
प्रज्ञा मण्डल बिलासपुर ने वसंत पर्व से समूह साधना अभियान आरंभ करते हुए पूरे जिले में इसका विस्तार करने के प्रयास आरंभ कर दिये हैं। होली पर्व तक उन्होंने अलग-अलग मोहल्ले, वर्गों के ११ घरों में समूह साधना आयोजन रखे। लोगों की आस्था के अनुरूप सभी को अपने-अपने मंत्र और भाव के साथ लोकमंगल की प्रार्थना करने की प्रेरणा दी गयी, जिसके परिणाम स्वरूप पिछड़ी जाति और वनवासी लोगों में भी समूह साधना प्रयोग बहुत लोकप्रिय रहे। श्री मूलचंद सोनी, अशोक व संतोष सोनी इस साधना प्रयोग का विस्तार कर रहे हैं।


Write Your Comments Here:


img

दक्षिण भारत में देव संस्कृति दिग्विजय अभियान (दिनाँक-२ से ५ जनवरी २०२०)

दक्षिण भारत में अश्वमेध यज्ञों की शृंखला का छठवाँ अश्वमेध गायत्री महायज्ञ हैदराबाद (तेलंगाना) में होने जा रहा है। इससे पूर्व.....

img

डॉ. अमिताभ सर्राफ प्रो. सतीश धवन राज्य सम्मान ‘युवा अभियंता- 2018’ से सम्मानि

बंगलुरू। कर्नाटक गायत्री परिवार बंगलूरू के वरिष्ठ विद्वान कार्यकर्त्ता डॉ. अमिताभ सर्राफ को कर्नाटक सरकार की ओर से ‘प्रो......

img

dqsdqsd

sqsqdsqdqs.....