img


हरिद्वार 15 जनवरी।
     शांतिकुंज के व्यवस्थापक श्री गौरीशंकर शर्मा के निर्देशन में चल रहे शांतिकुंज आपदा प्रबंधन विभाग सरकारी व गैरसरकारी संस्थाओं के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को तनाव प्रबंधन, व्यक्तित्व परिष्कार आदि कार्यशाला के माध्यम से रिफे्रशर्स प्रशिक्षण का क्रम चलाता है। इसी क्रम में मंगलवार को शांतिकुंज के रामकृष्ण हॉल में बीएचईएल हरिद्वार के प्रबंधन क्षेत्र से जुड़े 35 इंजीनियर्स एवं वरिष्ठ अधिकारियों का प्रबंधन विकास पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन हुआ। 
    प्रतिभागियों को सम्बोधित करते हुए शांतिकुंंज के वरिष्ठ कार्यकर्त्ता प्रो० विश्वप्रकाश त्रिपाठी ने कहा कि किसी कार्य की सबसे बड़ी सफलता का आधार उसके प्रति लगन, तन्मयता व कर्मनिष्ठा है। कार्य जितनी तन्मयता के साथ किया जाएगा, सफलता उसी अनुपात में मिलेगी। अगमवीर सिंह ने कार्यक्षमता के विकास में भावना की महत्ता विषय पर विस्तार से प्रकाश डाला। मानव संसाधन विकास केन्द्र बीएचईएल के मैनेजर नरेश कुमार ने बताया यहाँ स्वावलम्बी व पारिवारिक भावना सीखने को मिला। अपनी संस्था के छोटे से छोटे घटक को भी साथ लेकर चलने से ही इच्छित सफलता प्राप्त की जा सकती है, इसे व्यावहारिक रूप से जानने का अवसर मिला। 
    सभी प्रतिभागी अध्यात्म विज्ञान के समन्वय में शोधरत ब्रह्मवर्चस में स्थापित विभिन्न प्रकल्पों, देवसंस्कृति विवि के पाठ्यक्रमों एवं गतिविधियों को जानकार प्रसन्नता जाहिर किये।  अधिकतर प्रतिभागी पं० श्रीराम शर्मा आचार्य जी की युगसाहित्य प्रचुर मात्रा में अपने साथ ले गये। स्वावलम्बन विभाग, गौ उत्पादन निर्माण केन्द्र का भी भ्रमण किया। कार्यक्रम का संयोजन एवं संचालन राकेश जायसवाल ने किया। इस दौरान सुरेश पालगे जीएम-एचआर व एसबीएम, राजीव भटनागर एजीएम-एचआर व पीआर आदि उपस्थित थे। 


Write Your Comments Here:


img

STRESS MANAGEMENT

STEEL PLANT: vizagDATE : 1ST & 2ND MARCH 2017TOPIC: STRESS MANAGEMENTVENUE: UKKUNAGARAM CLUB, STEEL PLANT, VISHAKHAPATNAM (AP) Presented: ALL WORLD GAYATRI PARIWAR VISHAKHAPATNAM (AP).....