img


देसंविवि की राहत टीम ने गौरीकुंड में किया दीपयज्ञ
देश- विदेश के गायत्री साधकों ने आयोजित की प्रार्थना सभा


हरिद्वार स्थित पीड़ित मानवता की सेवा के लिए संकल्पित शांतिकुंज परिवार ने गत वर्ष 16 जून को आई हिमालय सुनामी में हताहत हुए लोगों की आत्मा की शांति के लिए सामूहिक श्राद्ध तर्पण किया। वहीं 27 कुण्डीय गायत्री महायज्ञ में हजारों लोगों ने मृत्मात्मों की सद्गति के लिए विशेष शांति यज्ञ किया। उधर डॉ चन्द्रप्रकाश त्रिपाठी के नेतृत्व में गयी देवसंस्कृति विवि टीम ने गौरीकुंड में गायत्री दीपमहायज्ञ का आयोजन किया, जहाँ त्रासदी में दिवंगत हुए लोगों की आत्मा की शांति हेतु मौन श्रद्धांजलि दी गयी एवं इस भीषण वज्रपात को सहने की शक्ति प्राप्ति हेतु महाकाल शिव से सामूहिक प्रार्थना की गयी। दीपयज्ञ के दौरान न्यायमूर्ति दर्पण लाल आर्य, पुलिस चोकी इंचार्ज अशोक राठौर सहित अनेक गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज के साथ अस्सी देशों में फैले गायत्री परिवार के परिजनों ने मृत् आत्माओं की शांति सद्गति हेतु विशेष प्रार्थना सभाएँ आयोजित कीं तथा पीड़ितों को हर संभव सहयोग करने के लिए शांतिकुंज के साथ खड़े रहने का अपना संकल्प दोहराया। शांतिकुंज स्थित आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के माध्यम से पीड़ितों हेतु अब तक 250 से अधिक घर एवं 150 से अधिक स्कूलों का निर्माण कराया जा चुका है। पिछले दिनों अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख शैलदीदी एवं देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने रुद्रप्रयाग की यात्रा कर सेवा कार्यों का जायजा लिया एवं पीड़ितों का दुःख दर्द बाँटा।

संस्था की अधिष्ठात्री शैलदीदी ने कहा कि आपदा पीड़ितों को हरसंभव सहायता दी जायेगी। गायत्री परिवार सदैव उनके साथ खड़ा है। उन्होंने कहा कि हिमालय सुनामी में जिनके घर- बार नष्ट हो गये, ऐसे चयनित पीड़ित भाई- बहिनों को आवास बनाकर दिया जा रहा है। गायत्री परिवार द्वारा अब तक अनेक गाँवों के पीड़ितों को आवास मुहैया कराया चुका है। साथ ही भावी पीढ़ी को तैयार करने के उद्देश् से स्कूलों का भी पुनर्निर्माण कराया जा चुका है। उन्होंने आश्वासन दिया क आवश्यकतानुसार आगे भी गायत्री परिवार पीड़ित भाई- बहिनों की सेवा- सहायता करता रहेगा। 


Write Your Comments Here:


img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

दे.स.वि.वि. के ज्ञानदीक्षा समारोह में भारत के 22 राज्य एवं चीन सहित 6 देशों के 523 नवप्रवेशी विद्यार्थी हुए दीक्षित

जीवन खुशी देने के लिए होना चाहिए ः डॉ. निशंकचेतनापरक विद्या की सदैव उपासना करनी चाहिए ः डॉ पण्ड्याहरिद्वार 21 जुलाई।जीवन विद्या के आलोक केन्द्र देवसंस्कृति विश्वविद्यालय शांतिकुंज के 35वें ज्ञानदीक्षा समारोह में नवप्रवेशार्थी समाज और राष्ट्र सेवा की ओर.....

img

देसंविवि की नियंता एनईटी (योग) में 100 परसेंटाइल के साथ देश भर में आयी अव्वल

देसंविवि का एक और कीर्तिमानहरिद्वार 19 जुलाईदेव संस्कृति विश्वविद्यालय ने एनईटी (नेशनल एलीजीबिलिटी टेस्ट -योग) के क्षेत्र में एक और कीर्तिमान स्थापित किया है। देसंविवि के योग विज्ञान की छात्रा नियंता जोशी ने एनईटी (योग)- 2019 की परीक्षा में 100.....