भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा

पुरस्कार वितरण एवं शिक्षक सम्मान समारोहों में दिखी प्रतिष्ठा और लोकप्रियता की झाँकी

देवास (मध्य प्रदेश)
गायत्री शक्तिपीठ साकेत नगर, देवास पर भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा पुरस्कार वितरण समारोह आयोजित हुआ। इसमें जिला और जिले की प्रत्येक तहसील पर वरीयता प्राप्त अपनी संस्कृति के प्रति विशेष आस्था और ज्ञान रखने वाले विद्यार्थियों को हर वर्ष की तरह प्रशस्ति पत्र, नकद पुरस्कार और युग साहित्य भेंट कर सम्मानित किया गया। परीक्षा के आयोजन और संचालन में अपनी उत्कृष्ट सेवाएँ देने वाले शिक्षकों एवं सहयोगी परिजनों को भी प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में सर्वाधिक छात्र-छात्राओं को परीक्षा में बिठाने वाले विद्यालयों के प्रमुख प्रतिनिधियों का विशेष तौर पर सम्मान किया गया। परीक्षा की लोकप्रियता व गुणवत्ता बढ़ाने तथा इसमें अग्रणी योगदान देने वाले जिले के नैष्ठिक कार्यकर्त्ताओं का आयोजकों और संयोजकों की ओर से हार्दिक आभार व्यक्त किया गया। 


ग्वालियर (मध्य प्रदेश) 
२६ अप्रैल को गायत्री प्रज्ञापीठ, लश्कर पर भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा २०१३-१४ का जिला स्तरीय पुरस्कार एवं शिक्षक सम्मान समारोह आयोजित हुआ। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि सुश्री विभा शर्मा, प्राचार्या, शास. गजराजा कन्या उ.मा. विद्यालय, ग्वालियर तथा विशिष्ट अतिथि सुश्री सुमिष्ठा सरकार उप प्राचार्या, दि रेडियेन्ट उ.मा.वि. ग्वालियर थीं। कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री चतुर्भुज शर्मा, उपजोन प्रभारी, ग्वालियर ने की।

कार्यक्रम का प्रारम्भ गायत्री महामंत्र के सामूहिक उच्चारण एवं देवपूजन से हुआ। जिला संयोजक श्री सुरेश चन्द्र अग्रवाल द्वारा परीक्षा का प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया। उन्होंने प्रवीणता प्राप्त छात्रों से अनुरोध किया कि वे परीक्षा की अच्छाईयों के संबंध में अपने सहपाठियों को अवगत कराकर उन्हें इस परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए प्रेरित करें। अध्यापकों से परीक्षा सामग्री को विद्यार्थियो को समझाने का अनुरोध किया गया। इसके बाद ऐसे शिक्षकों को सम्मानित किया गया, जिन्होंने परीक्षा के सम्बन्ध में विशेष योगदान दिया था। तीन विद्यालयों, जिनमें सर्वाधिक संख्या में छात्र सम्मिलित हुए, उन्हें विशेष रूप से सम्मानित किया गया। इसके बाद प्रान्त स्तर पर ग्वालियर जिले से एवं जिला स्तर पर प्रवीणता प्राप्त कक्षावार विद्यार्थियों को पुरस्कृत एवं सम्मानित किया गया।


Write Your Comments Here:


img

युग निर्माण हेतु भावी पीढ़ी में सुसंस्कारों की आवश्यकता जिसकी आधारशिला है भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा -शांतिकुंज प्रतिनिधि आ.रामयश तिवारी जी

वाराणसी व मऊ उपजोन की *संगोष्ठी गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी के पावन प्रांगण में संपन्न* हुई।जहां ज्ञान गंगा की गंगोत्री,*महाकाल का घोंसला,मानव गढ़ने की टकसाल एवं हम सभी के प्राण का केंद्र अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज,हरिद्वार* से पधारे युगऋषि के अग्रज.....

img

Yoga Day celebration

Yoga day celebration in Dharampur taluka district ValsadGaytri pariwar Dharampur.....

img

गर्भवती महिलाओं की हुई गोद भराई और पुंसवन संस्कार

*वाराणसी* । गर्भवती महिलाओं व भावी संतान को स्वस्थ व संस्कारवान बनाने के उद्देश्य से भारत विकास परिषद व *गायत्री शक्तिपीठ नगवां लंका वाराणसी* के सहयोग से पुंसवन संस्कार एवं गोद भराई कार्यक्रम संपन्न हुआ। बड़ी पियरी स्थित.....