पर्यावरण के प्रति जागरूकता बढ़ा रही हैं देवियाँ


  • २४ कुण्डीय यज्ञों के साथ चलाया जा रहा है अभियान ः २४०० अशोक वृक्ष लगाने का संकल्प
छिन्दवाड़ा (म.प्र.)
प्रज्ञा मण्डल पातालेश्वर द्वारा २४ कुण्डीय गायत्री महायज्ञों के २४ आयोजनों के माध्यम से पूज्य गुरुदेव का पावन संदेश घर-घर पहुँचाने एवं संकल्प पूर्वक २४०० अशोक वृक्ष लगाने-संरक्षित करने का अभियान चलाया गया है। समाचार भेजे जाने तक ऐसे १८ कार्यक्रम आयोजित किये जा चुके थे। उल्लेखनीय है कि प्रज्ञा महिला मण्डल पातालेश्वर की बहिनों की टोली इनका संचालन करते हुए नगर-ग्राम के हजारों लोगों में प्रगतिशील आस्था को जन्म दे रही है, प्रगतिशील मानसिकता के बुद्धिजीवियों-पर्यावरणविदों को आकर्षित कर रही है। 

प्रत्येक पखवाड़े में नये-नये स्थानों पर गायत्री महायज्ञों का आयोजन होता है। महिला मण्डल की ओजस्वी वक्ता सुश्री लता विश्वकर्मा की टोली लोगों को वृक्षों का आध्यात्मिक, स्वास्थ्य परक और पर्यावरण पर आये भीषण खतरे की दृष्टि से वृक्षों का महत्त्व बताती हैं। श्रीमती ममता श्रीवात्री, श्रीमती शिवरी विश्वकर्मा, श्रीमती कौशल्या माहोरे, श्रीमती ज्योति यादव एवं श्रीमती कैकई पहाड़े की टोली अपने भावभरे गीत और प्रभावशाली कर्मकाण्ड से श्रद्धालुओं को पर्यावरण की रक्षा के लिए प्रेरित करती हैं। अशोक की पौध रोपने और पुत्र-मित्रवत् उसका पालन-पोषण करने के लिए संकल्पित लोगों को गायत्री परिवार की ओर से विधिवत् पूजा-अर्चना के साथ निःशुल्क पौध उपलब्ध करायी जाती है। 

कन्या शिक्षा की नैष्ठिक सेवा से मिले बड़े दायित्व

पुष्कर, अजमेर (राजस्थान)
राजस्थान सरकार के विश्वविद्यालय से संबद्ध महाविद्यालयों के प्राचार्यो में से गायत्री शक्तिपीठ द्वारा संचालित कन्या महाविद्यालय, पुष्कर के प्राचार्य डॉ. सुरेश वैष्णव का मनोनयन महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय की शैक्षणिक परिषद में किया गया है। वे पिछले पच्चीस वर्षो से ग्रामीण इलाकों की लड़कियों को शिक्षित करके  समाज और देश की सेवा कर रहे है।

img

सभ्य समाज के निर्माण के लिए हो रहे कुछ आदर्श- अनुकरणीय कार्य

१०० वृक्ष- स्मारकनडियाद, खेड़ा। गुजरातराष्ट्रीय ख्याति के हृदयरोग विशेषज्ञ डॉ. अनिल झा गायत्री परिवार के कार्यकर्त्ताओं के लिए एक आदर्श हैं। अपने अत्यधिक व्यस्त कार्यक्रमों के बीच भी वे युग निर्माण आन्दोलनों को गति देने का कोई अवसर हाथ से.....

img

भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा- प्रतिभा प्रोत्साहन, पुरस्कार वितरण का क्रम

जैसलमेर। राजस्थान२९ मार्च को गायत्री शक्तिपीठ जैसलमेर पर भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा पुरस्कार वितरण समारोह सम्पन्न हुआ। मुख्य अतिथि श्रीमती कविता कैलाश खत्री, विशिष्ट अतिथि श्रीमती अंजना मेघवाल, जिला प्रमुख कानसिंह राजपुरोहित एवं सुभाष चंद्र तिवारी तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता.....


Write Your Comments Here: