img


  • ७०० घरों में प्रज्ञा पुराण ग्रंथ एवं देवस्थापना हुई
नागपुर (महाराष्ट्र)
भगवती महिला मण्डल साईबाबा नगर नागपुर की बहिनों के अथक परिश्रम से नागपुर जिले में प्रज्ञा पुराण कथा शृंखला आयोजित हुई। इसके अंतर्गत १६ से १९ अप्रैल की तारीखों में नागपुर पूर्व में आयोजित ११ कुण्डीय गायत्री यज्ञ एवं प्रज्ञा पुराण कथा में ७०० घरों में प्रज्ञा पुराण ग्रंथ स्थापना एवं देव स्थापना भी करवाई। कथा और यज्ञ के साथ दीपयज्ञ, योग, कार्यकर्त्ता गोष्ठी आदि कार्यक्रमों में भी लोगों ने बहुत उत्साह के साथ भाग लिया। ६० से ज्यादा लोगों ने दीक्षा ली तथा अन्य संस्कार भी बड़ी संख्या में कराये । कार्यक्रम के अंत में लोगों ने समाज में अभीष्ट परिवर्तन लाने के लिए ऐसे कार्यक्रमों की आवश्यकता अनुभव की। लोगों ने प्रतिवर्ष गायत्री यज्ञ और प्रज्ञा पुराण कथा का ऐसा सार्वजनिक आयोजन करने का निवेदन गायत्री परिवार से किया। 

महिला मण्डल प्रमुख श्रीमती वंदना मेश्राम व उनकी साथी बहिनों के अलावा श्री दीपक बिड़वई, शक्तिपीठ के व्यवस्थापक पांडे आदि का भी सराहनीय सहयोग रहा।


पिता की बरसी पर प्रज्ञापुराण कथा

पारडी, नागपुर (महाराष्ट्र)
 पारडी निवासी श्री संजय जी पंवार ने अपने पिता की बरसी पर उन्हें श्रद्धांजलि स्वरूप पावन प्रज्ञा पुराण कथा का आयोजन करते हुए हजारों लोगों तक गुरुदेव का ज्ञान प्रसाद पहुँचाया। २० से २२ अप्रैल की तारीखों में आयोजित इस कार्यक्रम के साथ गायत्री यज्ञ एवं पुंसवन, विद्यारम्भ संस्कार भी हुए। ३० लोगों ने गायत्री मंत्र दीक्षा ली। सभी अतिथि गणमान्य लोगों के घर प्रज्ञा पुराण ग्रंथ की स्थापना और अनेक घरों में देवस्थापना कराई गई। गायत्री परिवार नागपुर के परिजनों एवं स्थानीय श्री उषाताई कूंभारे की टोली ने कार्यक्रम में विशेष सहयोग किया। 


Write Your Comments Here:


img

anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री मंत्र और गायत्री माँ के चम्त्कार् के बारे मैं बताया

मैं यशवीन् मैंने आज राजस्थान के barmer के बालोतरा मैं anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री माँ के बारे मैं बच्चों को जागरूक किया और वेद माता के कुछ बातें बताई और महा मंत्र गायत्री का जाप कराया जिसे आने वाले.....

img

युग निर्माण हेतु भावी पीढ़ी में सुसंस्कारों की आवश्यकता जिसकी आधारशिला है भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा -शांतिकुंज प्रतिनिधि आ.रामयश तिवारी जी

वाराणसी व मऊ उपजोन की *संगोष्ठी गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी के पावन प्रांगण में संपन्न* हुई।जहां ज्ञान गंगा की गंगोत्री,*महाकाल का घोंसला,मानव गढ़ने की टकसाल एवं हम सभी के प्राण का केंद्र अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज,हरिद्वार* से पधारे युगऋषि के अग्रज.....

img

Yoga Day celebration

Yoga day celebration in Dharampur taluka district ValsadGaytri pariwar Dharampur.....