img

जासं, दुर्गापुर : गायत्री परिवार ट्रस्ट दुर्गापुर की ओर से अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार के संयुक्त तत्वावधान में सिटी सेंटर के अंबुजा कॉलोनी में आत्म शुद्धिकरण के लिए पंचकोशीय साधना एवं एमएएमसी के दुर्गापुर मंदिर व इच्छपुर के काली मंदिर में दीप यज्ञ का आयोजन किया गया। जिसमें काफी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया।

शांतिकुंज हरिद्वार से आए लालबिहारी सिंह ने पंचकोशीय साधना के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने अन्नमय कोश के परिष्कार, प्राणमय कोश के जागरण की प्रक्रिया, आत्मबोध, तत्वबोध एवं दर्पण साधना से विज्ञानमय कोश तथा नाद योग एवं खेचरी मुद्रा की साधना से आनंदमय कोश को जागृत करने की साधना करायी। विद्युत घोष ने गायत्री मंत्र की विस्तृत व्याख्या करते हुए बताया कि मंत्र के 24 अक्षरों में इतना ज्ञान विज्ञान भरा हुआ है कि उसका अन्वेषण करने से सब कुछ प्राप्त किया जा सकता है। गायत्री उपासना वस्तुत: ईश्वर उपासना का एक अत्युत्तम सरल और शीघ्र सफल होनेवाला मार्ग है। इस मार्ग पर चलनेवाले व्यक्ति चरम लक्ष्य तक पहुंचते हैं।


Write Your Comments Here:


img

anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री मंत्र और गायत्री माँ के चम्त्कार् के बारे मैं बताया

मैं यशवीन् मैंने आज राजस्थान के barmer के बालोतरा मैं anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री माँ के बारे मैं बच्चों को जागरूक किया और वेद माता के कुछ बातें बताई और महा मंत्र गायत्री का जाप कराया जिसे आने वाले.....

img

युग निर्माण हेतु भावी पीढ़ी में सुसंस्कारों की आवश्यकता जिसकी आधारशिला है भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा -शांतिकुंज प्रतिनिधि आ.रामयश तिवारी जी

वाराणसी व मऊ उपजोन की *संगोष्ठी गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी के पावन प्रांगण में संपन्न* हुई।जहां ज्ञान गंगा की गंगोत्री,*महाकाल का घोंसला,मानव गढ़ने की टकसाल एवं हम सभी के प्राण का केंद्र अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज,हरिद्वार* से पधारे युगऋषि के अग्रज.....

img

Yoga Day celebration

Yoga day celebration in Dharampur taluka district ValsadGaytri pariwar Dharampur.....