img


          चारधाम के यात्रियों की एक माह तक सेवा-सुश्रुषा कर देवसंस्कृति विश्वविद्यालय शांतिकुंज के २० सदस्यीय चिकित्सकीय टीम आज वापस लौट आयी। इस दल का बेस कैम्प अगस्त्यमुनि था। टीम समन्वयक जिला चिकित्सालय हरिद्वार के डॉ सीपी त्रिपाठी एवं सह समन्वयक डॉ. अजित तिवारी के नेतृत्व में गयी टोली ने यात्रियों  की-श्रद्धालुओं की वैकल्पिक चिकित्सा- एक्यूप्रेशर, मर्म चिकित्सा, योग, आहार, प्राकृतिक व पंचकर्म चिकित्सा से उपचार किया। डॉ त्रिपाठी के अनुसार एक दिन में औसतन सौ लोग चिकित्सा सेवा का लाभ उठाते थे।
          दल के लौटने पर संस्था की अधिष्ठात्री शैल दीदी एवं देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्या ने टीम के सदस्यों से यात्रियों का हाल चाल जाना एवं आवश्यकता पड़ने पर और सेवा करने की बात कही। समन्वयक डॉ सीपी त्रिपाठी ने बताया कि टीम के सदस्यों ने जरूरतमंदों की सेवा-सुश्रुषा साधना मानकर की।


Write Your Comments Here:


img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

दे.स.वि.वि. के ज्ञानदीक्षा समारोह में भारत के 22 राज्य एवं चीन सहित 6 देशों के 523 नवप्रवेशी विद्यार्थी हुए दीक्षित

जीवन खुशी देने के लिए होना चाहिए ः डॉ. निशंकचेतनापरक विद्या की सदैव उपासना करनी चाहिए ः डॉ पण्ड्याहरिद्वार 21 जुलाई।जीवन विद्या के आलोक केन्द्र देवसंस्कृति विश्वविद्यालय शांतिकुंज के 35वें ज्ञानदीक्षा समारोह में नवप्रवेशार्थी समाज और राष्ट्र सेवा की ओर.....

img

देसंविवि की नियंता एनईटी (योग) में 100 परसेंटाइल के साथ देश भर में आयी अव्वल

देसंविवि का एक और कीर्तिमानहरिद्वार 19 जुलाईदेव संस्कृति विश्वविद्यालय ने एनईटी (नेशनल एलीजीबिलिटी टेस्ट -योग) के क्षेत्र में एक और कीर्तिमान स्थापित किया है। देसंविवि के योग विज्ञान की छात्रा नियंता जोशी ने एनईटी (योग)- 2019 की परीक्षा में 100.....