देसंविवि के नवप्रवेशी विद्यार्थियों का उन्मुखीकरण शिविर का समापन 


हरिद्वार स्थित देवसंस्कृति विश्वविद्यालय में नवप्रवेशी छात्र- छात्राओं का उन्मुखीकरण शिविर सम्पन्न हुआ। तीन दिन तक चले इस शिविर में नवप्रवेशी विद्यार्थियों को उनके आध्यात्मिक विकास के लिए योग, यज्ञ और ध्यान की त्रिवेणी में स्नान कराया गया, साथ ही उन्हें देसंविवि के विभिन्न प्रकल्पों की जानकारी भी दी गयी एवं शांतिकुंज के रचनात्मक कार्यक्रमों तथा ब्रह्मवर्चस शोध संस्थान में किये जा रहे शोधों से अवगत कराया गया। इसमें विभिन्न राज्यों के विद्यार्थियों के साथ विदेशी छात्र- छात्राओं ने रुचिपूर्वक भाग लिया। 

उन्मुखीकरण शिविर का समापन देसंविवि के प्रतिकुलपति डॉ चिन्मय पण्ड्या के उद्बोधन के साथ हुआ। प्रतिकुलपति के उद्बोधन ने विद्यार्थियों को जोश और उत्साह से सराबोर कर दिया। पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से मानवीय उत्कर्ष विषय को उन्होंने सहज ढंग से समझाया। जीवन को बेहतर बनाने के सूत्र देते हुए डॉ. चिन्मय पण्ड्या ने कहा कि सही दृष्टिकोण, परोपकार, उद्देश्य और संकल्प विद्यार्थी को ऊंचा उठाने का काम करते हैं। विद्यार्थी अपने जीवन लक्ष्य निर्धारित कर लेते हैं तो उचित मार्गदर्शन उस लक्ष्य तक पहुंचने में मदद करते हैं। 

इससे पूर्व कुलपति डॉ शरद पारधी ने परिवार के नये सदस्य के रूप में नवप्रवेशी विद्यार्थियों का स्वागत किया। इन विद्यार्थियों ने देसंविवि के अभिभावकद्वय श्रद्धेय डॉ प्रणव पण्ड्या एवं श्रद्धेया शैल दीदी से आशीष लिया। शिविर में बीए,बीएससी, बीसीए, एमए, एमएससी सहित विभिन्न पाठ्यक्रमों के चयनित नवप्रवेशी विद्यार्थियों ने भागीदारी की। देसंविवि के विभिन्न्न विभागों के अध्यक्षों ने भी बच्चों को मार्गदर्शन दिया।






Write Your Comments Here:


img

गुरु पूर्णिमा पर्व प्रयाज

गुरु पूर्णिमा पर्व पर online वेब स्वाध्याय के  कार्यक्रम इस प्रकार रहेंगे समस्त कार्यक्रम freeconferencecall  मोबाइल app से होंगे ID : webwsadhyay रहेगा 1 गुरुवार  ७ जुलाई २०२२ : कर्मकांड भास्कर से गुरु पूर्णिमा.....

img

ऑनलाइन योग सप्ताह आयोजन द्वादश योग :गायत्री योग

परम पूज्य गुरुदेव द्वारा लिखित पुस्तक  गायत्री योग, जिसके अंतर्गत द्वादश योग की चर्चा की गई है, का ऑनलाइन वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से पांच दिवसीय कार्यक्रम आयोजित किया गया| इस कार्यक्रम में विशेष आकर्षण वीडियो कांफ्रेंस.....

img

गृह मंत्री अमित शाह बोले- वर्तमान एजुकेशन सिस्टम हमें बौद्धिक विकास दे सकता है, पर आध्यात्मिक शांति नहीं दे सकता

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हम उन गतिविधियों का समर्थन करते हैं जो हमारे देश की संस्कृति और सनातन धर्म को प्रोत्साहित करती हैं। पिछले 50 वर्षों की अवधि में, हम हम सुधारेंगे तो युग बदलेगा वाक्य.....