देसंविवि के नवप्रवेशी विद्यार्थियों का उन्मुखीकरण शिविर का समापन 


हरिद्वार स्थित देवसंस्कृति विश्वविद्यालय में नवप्रवेशी छात्र- छात्राओं का उन्मुखीकरण शिविर सम्पन्न हुआ। तीन दिन तक चले इस शिविर में नवप्रवेशी विद्यार्थियों को उनके आध्यात्मिक विकास के लिए योग, यज्ञ और ध्यान की त्रिवेणी में स्नान कराया गया, साथ ही उन्हें देसंविवि के विभिन्न प्रकल्पों की जानकारी भी दी गयी एवं शांतिकुंज के रचनात्मक कार्यक्रमों तथा ब्रह्मवर्चस शोध संस्थान में किये जा रहे शोधों से अवगत कराया गया। इसमें विभिन्न राज्यों के विद्यार्थियों के साथ विदेशी छात्र- छात्राओं ने रुचिपूर्वक भाग लिया। 

उन्मुखीकरण शिविर का समापन देसंविवि के प्रतिकुलपति डॉ चिन्मय पण्ड्या के उद्बोधन के साथ हुआ। प्रतिकुलपति के उद्बोधन ने विद्यार्थियों को जोश और उत्साह से सराबोर कर दिया। पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से मानवीय उत्कर्ष विषय को उन्होंने सहज ढंग से समझाया। जीवन को बेहतर बनाने के सूत्र देते हुए डॉ. चिन्मय पण्ड्या ने कहा कि सही दृष्टिकोण, परोपकार, उद्देश्य और संकल्प विद्यार्थी को ऊंचा उठाने का काम करते हैं। विद्यार्थी अपने जीवन लक्ष्य निर्धारित कर लेते हैं तो उचित मार्गदर्शन उस लक्ष्य तक पहुंचने में मदद करते हैं। 

इससे पूर्व कुलपति डॉ शरद पारधी ने परिवार के नये सदस्य के रूप में नवप्रवेशी विद्यार्थियों का स्वागत किया। इन विद्यार्थियों ने देसंविवि के अभिभावकद्वय श्रद्धेय डॉ प्रणव पण्ड्या एवं श्रद्धेया शैल दीदी से आशीष लिया। शिविर में बीए,बीएससी, बीसीए, एमए, एमएससी सहित विभिन्न पाठ्यक्रमों के चयनित नवप्रवेशी विद्यार्थियों ने भागीदारी की। देसंविवि के विभिन्न्न विभागों के अध्यक्षों ने भी बच्चों को मार्गदर्शन दिया।






Write Your Comments Here:


img

प्राणियों, वनस्पतियों व पारिस्थितिक तंत्र के अधिकारों की रक्षा हेतु गायत्री परिवार से विनम्र आव्हान/अनुरोध

हम विश्वास दिलाते हैं की जीव, जगत, वनस्पति व पारिस्थितिकी तंत्र के व्यापक हित में उसके अधिकार को वापस दिलवाना ही हमारा एकमात्र उद्देश्य और मिशन है| जलवायु संकट की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए तथा जीव-जगत को.....

img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

देसंविवि के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ करते हुए डॉ. पण्ड्या ने कहा - कर्मों के प्रति समर्पण श्रेष्ठतम साधना

हरिद्वार 26 जुलाई।देसंविवि के कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या ने विश्वविद्यालय के नवप्रवेशी छात्र-छात्राओं के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ के अवसर पर गीता का मर्म सिखाया। इसके साथ ही विद्यार्थियों के विधिवत् पाठ्यक्रम का पठन-पाठन का क्रम की शुरुआत.....