• पूर्वोत्तर में नये क्षेत्र के प्रथम आयोजन ने जगायी उमंग

गुवाहाटी के विष्णुपुर क्षेत्र में गायत्री जयंती के दिन पहली बार ९ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ का आयोजन हुआ। शांतिकुंज से पहुँचे जोन प्रभारी श्री परमानंद द्विवेदी और श्री विनय केसरी ने परम पूज्य गुरुदेव की अंतर्वेदना का लोगों को परिचय कराया। पीड़ा-पतन के गर्त में गिरती मानवता के उत्कर्ष के लिए ८० वर्ष के जीवन में हर पल तप करने वाले ऋषि का परिचय पाकर लोग भावविभोर थे। समाज को उज्ज्वल भविष्य की राह दिखाने वाले उनके विचारों को सुन सभी नतमस्तक थे। सद्गुरु के प्रति जनमानस के प्रेमाश्रु छलक रहे थे। 

लोगों को अपने सामाजिक कर्त्तव्यों का बोध हुआ। सैकड़ों लोगों ने विचार क्रांति और समाजोत्थान के लिए रचनात्मक आन्दोलन चलाने के संकल्प लिये। क्षेत्र में युग निर्माण आन्दोलन के विस्तार की योजनाएँ बनायी गयीं। मिशन के विस्तार की संभावनाएँ पुष्ट हुईं। सभी ने एक मत से हर वर्ष गायत्री जयंती पर्व ऐसे ही प्रेरक वातावरण में मनाने का संकल्प लिया। समाजसेवी श्री अशोक सिंघल, श्री वीके मिश्रा आदि गणमान्यों की उपस्थिति ने कार्यक्रम की गरिमा बढ़ायी। सर्वश्री सुब्रत सेनगुप्ता ,रतन पाल, राजीव दास, जीवन साहा, रामप्रसाद दास, प्रदीप, निर्मल अग्रवाल, सुश्री डॉली, पूजा, रितुपर्ना, सुमि वगैरह का कार्यक्रम के आयोजन में भावपूर्ण सहयोग रहा।



Write Your Comments Here:


img

Op

gaytri shatipith jobat m p.....

img

Meeting with Shri Vikas Swaroop ji

देव संस्कृति विश्वविद्यालय प्रति कुलपति महोदय ने अपने मध्यप्रदेश दौरे से लौटने के साथ ही विदेश मंत्रालय के सचिव (CPV & OIA) एवं प्रतिभावान लेखक श्री विकास स्वरुप जी से मुलाक़ात की और अखिल विश्व गायत्री परिवार व देव.....