img


साधना के संकल्प लिये
गायत्री शक्तिपीठ, बारापत्थर, सिवनी में मनाये गये गुरुपूर्णिमा पर्व पर नैष्ठिक परिजनों में विश्वकल्याणार्थ साधना की हूक उठी। इस अवसर पर ७० परिजनों ने ४० दिवसीय साधना अनुष्ठान करने का संकल्प लेते हुए गुरुसत्ता को भावभरी श्रद्धांजलि अर्पित की।

ॐकारेश्वर, खण्डवा (म.प्र.)
ओंकारेश्वर उपजोन ने अपने कार्यक्षेत्र के चार जिले बड़वानी, खरगोन, खण्डवा और बुरहानपुर में आध्यात्मिक मनोभूमि के महानुभावों में लोकमंगल के लिए अपनी साधना को प्रखर बनाने की उमंग जगाई। चारों जिलों में अलग-अलग गोष्ठियाँ ली गयीं, जिनमें परिवर्तन के लिए आवश्यक वातावरण बनाने के लिए लोगों से ४० दिवसीय गायत्री अनुष्ठान करने का आग्रह किया गया। प्रयास सार्थक रहे, कुल २४१ लोगों ने साधना अनुष्ठान के संकल्प लिये, जिनमें खण्डवा जिले के १०८ साधक यह अनुष्ठान कर रहे हैं। 

समूह साधना की उमंग
इंदौर (मध्य प्रदेश)
गायत्री शक्तिपीठ केशर बाग पर आयोजित गुरुपूर्णिमा पर्व समारोह में समूह साधना वर्ष का विशेष प्रभाव दिखाई दिया। अखण्ड जप में लगभग २०० लोगों ने भागीदारी की, वहीं लगभग १००० लोगों ने यज्ञ में भाग लेते हुए युगऋषि के जीवन दर्शन और उनके चिंतन के प्रति अपनी गहन आस्था व्यक्त की। सभी को अखण्ड ज्योति सहित युग साहित्य के विस्तार में जुट जाने की प्रेरणा दी गयी। 
अरविंदो इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस के सहयोग से आयोजित निःशुल्क दंत परीक्षण शिविर में १५० मरीजों का परीक्षण व उपचार किया गया। 

बाल पुरोहितों ने मन मोहा
लखनऊ (उत्तर प्रदेश)
श्री हेमन्तनाथ गायत्री प्रज्ञापीठ एलडीए कॉलोनी में हुए यज्ञ व दीपयज्ञ का संचालन अंग्रेजी माध्यम के प्रतिष्ठित विद्यालयों में अध्ययन कर रहे बाल पुरोहितों ने किया। उनके उच्चारण की शुद्धता और भाव-प्रवाह ने लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। शाखा संचालक डॉ. आरपी गुप्ता और श्रीमती क्षमा गुप्ता के अनुसार यह बच्चे शाखा द्वारा पिछले दिनों ग्रीष्मकालीन मंत्र उच्चारण प्रशिक्षण शिविर में भाग लेकर संस्कृति के सूत्रों को हृदयंगम करने वाले बच्चे हैं।  लोगों को मिशन द्वारा समाज के नवनिर्माण के लिए किये जा रहे प्रयासों की बानगी देखने को मिली। उल्लेखनीय है कि यह शाखा दो बाल संस्कार शालाएँ चला रही है। पिछले छः माह में ७ विवाह, २० यज्ञोपवीत और बच्चों के ढेरों संस्कार करा चुकी है। 

विद्यालय का प्रवेशोत्सव
लंजोड़ा, कोंण्डागाँव (छत्ती.) 
ऋषि विद्यालय, गायत्री शक्तिपीठ लंजोड़ा ने गुरुपूर्णिमा के दिन विद्यालय का प्रवेशोत्सव मनाया। तीन कुण्डीय गायत्री यज्ञ के साथ सभी विद्यार्थियों का मंगल तिलक कर व मुँह मीठा कराकर स्वागत किया गया, फिर विद्यारंभ संस्कार कराया गया। उल्लेखनीय है कि पिछले १८ वर्षों से समाज की सेवा कर रहे इस विद्यालय में प्रदेश के १३ जिलों के ४०० छात्र-छात्रा अध्ययन करते हैं।

बहिनों के विचारों में आया सावन
जयपुर (राजस्थान)
गायत्री चेतना केन्द्र, जनता कॉलोनी पर १२ घंटे के अखंड जप और पाँच कुण्डीय यज्ञ के साथ गुरुपूर्णिमा पर्व मनाया गया। स्थानीय बहिनों ने इस अवसर पर पूरे सावन मास में घर-घर जाकर दीपयज्ञ एवं सामूहिक साधना कराने का निर्णय लिया। इन कार्यक्रमों से साधना, संस्कार परंपरा, बलिवैश्व यज्ञों की परंपरा को प्रोत्साहन देने का मानस उन्होंने व्यक्त किया। श्रीमती सरोज, श्रीमती मधु विजयवर्गीय, श्रीमती आथा विजय, श्रीमती मंजू गोयल इस कार्य में अग्रणी भूमिका निभायेंगी। 


हरीतिमा संवर्धन
वसई, मुंबई (महाराष्ट्र)
गायत्री परिवार वसई ने गुरुपूर्णिमा पर्व मनाते हुए गाँव कामान, चिंचोटी के जिला परिषद विद्यालय तथा आश्रम स्कूल कामान में वृक्षारोपण किया गया। विद्यार्थियों और शिक्षकों के पाँच समूह बनाकर उनके द्वारा ५० वृक्षों का रोपण किया गया। इससे पूर्व गायत्री परिवार के श्री अंकुर पंचाल तथा दोनों विद्यालयों के प्रधानाचार्य क्रमशः सुश्री शैला रौड्रिक्स एवं श्री आर.आर. पंवार-शिक्षकों ने विद्यार्थियों को जीवन में गुरु और वृक्षों का महत्त्व बताया। 

भिलाई (छत्तीसगढ़)
गायत्री परिवार युवा संगठन भिलाई ने ३०० वृक्षों का रोपण किया। डॉ. पीएल साव के अनुसार गाँव की सरपंच श्रीमती डीलन देशलहरे, हेमंत कुमार, अशोक कुमार सहित युवा संगठन के बीसियों उत्साही सदस्यों ने इस पुनीत अभियान में भाग लिया। आम, नीबू, अमरूद, जाम, जामुन, आँवला आदि की पौधें लगायी गयीं। 




Write Your Comments Here:


img

शिक्षण संस्थानों में 105 पेड़ लगाए

पटना। बिहारअखिल विश्व गायत्री परिवार की पटना शाखा से जुड़ी श्रीमती उषा प्रभा के प्रयास से 8 जुलाई को बृहत् वृक्षारोपण अभियान चलाया गया जिसमें गायत्री परिवार के सदस्य एवं वेटरनरी कॉलेज पटना के छात्र- छात्राओं ने मिलकर कॉलेज परिसर.....

img

देसंविवि, शांतिकुंज व विद्यापीठ में हर्षोल्लास के मना स्वतंत्रता दिवस

हरिद्वार 16 अगस्त।देवसंस्कृति विश्वविद्यालय, गायत्री विद्यापीठ व शांतिकुंज ने आजादी के 73वीं वर्षगाँठ के उल्लासपूर्वक मनाया। इस मौके पर देसंविवि व शांतिकुंज में विवि के कुलाधिपति अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या, संस्था प्रमुख श्रद्धेया शैल दीदी.....