img

५५वें सुब्रतो मुखर्जी अन्तर्राष्ट्रीय फुटबॉल टूर्नामेंट २०१४ के लिए हरिद्वार स्थित गायत्री विद्यापीठ की १६ सदस्यीय टीम का चयन हुआ है। अंडर १७ वर्ग की ये छात्राएँ २५ सितम्बर से १० अक्टूबर तक दिल्ली में प्रतियोगिता में भाग लेने हेतु मनोनीत हुई है। गायत्री विद्यापीठ की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार कोच दिलीप दास के नेतृत्व में यह छात्राएँ सतत फुटबॉल का अभ्यास कर रही हैं। स्कूल गेम फेडरेशन ऑफ इण्डिया, नई दिल्ली की ओर से टीम को मनोनीत किया गया है। प्रधानाचार्य प्रो. एस.एन. मिश्रा ने चयन होने पर टीम सदस्यों को बधाई दी।

इस अवसर पर प्रधानाचार्य प्रो. मिश्रा ने कहा कि खेल को खेल की भावना से खेला जाय तो वह आनन्ददायी होता है। उन्होंने कहा कि गायत्री विद्यापीठ का लक्ष्य बच्चों में शारीरिक, मानसिक एवं बौद्धिक क्षमताओं का विकास करना है। प्रो० मिश्रा के अनुसार दसवीं कक्षा की जयश्री काण्डपाल की कप्तानी में यह बच्चियाँ गायत्री विद्यापीठ, शान्तिकुंञ्ज के संग समग्र हरिद्वार का नाम रौशन करेंगी। उल्लेखनीय है कि जयश्री काण्डपाल खेल के साथ पढ़ाई में भी अव्वल है। १६ सदस्यीय दल में सबसे छोटी उम्र की कक्षा सात की आकांक्षा साहू ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि हमें खेल का जो अवसर मिला है, उसमें खरे उतरेंगे। १६ सदस्यीय दल में जयश्री के अलावा गोलकीपर के रूप में नेहा भारद्वाज, धारा शर्मा, सृष्टि गिरी, ऋतिका, दीपिका, श्रुति, गौरवी, हर्षिता, स्वाति, अर्चिता, सीमा, आकांक्षा, कल्याणी और साक्षी हैं।

गायत्री परिवार प्रमुख शैलबाला पण्ड्याजी सहित वरिष्ठ सदस्यों ने सभी छात्राओं को हार्दिक शुभकामनाएँ दीं। इस दौरान देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने कहा कि छात्राओं में शारीरिक खेलों के प्रति जागरूकता लाना अनिवार्य है। इससे उनका स्वास्थ्य अच्छा रहने के साथ ही मनोबल भी बढ़ता है। उल्लेखनीय है कि गायत्री विद्यापीठ की छात्राएँ इससे पूर्व में भी राष्ट्रीय स्तर की योग प्रतियोगिता तथा अन्य खेलों में भी अव्वल रही हैं।


Write Your Comments Here: