img


  • मजबूत संकल्पों के साथ अपने गाँवों को आदर्श बना रहे हैं वनवासी
  • पिछोड़ी, कठोरा, कल्याणपुरा आदि गाँव हुए व्यसनमुक्त

युगशक्ति गायत्री का वरण कर अपने गाँवों का कायाकल्प कर रहे आदिवासी गाँवों के लोगों ने ५ अगस्त को श्री राम स्मृति उपवन नरसिंह पर्वत, ग्राम कठोरा पर तरुपुत्र महायज्ञ का आयोजन किया। इसके अंतर्गत कठोरा, कल्याणपुरा, पिछोड़ी, नवलपुरा एवं मिलखेड़ा गाँव के सैकड़ों वनवासियों ने सीताफल के २४०० वृक्ष रोपे। समारोह में श्री मेवालाल पाटीदार, श्री महेन्द्र भावसार, श्री गोपालकृष्ण प्रजापति तथा पौधे उपलब्ध कराने वाले दानदाता मुख्य रूप से उपस्थिति थे। 

बड़वानी जिले में वनवासी क्षेत्र के गाँव पिछोड़ी, कठोरा, कल्याणपुरा आदि व्यसनमुक्त गाँव हैं, सामाजिक परिवर्तन का आदर्श हैं। हरिद्वार में आयोजित जन्म शताब्दी समारोह में एक माह का श्रमदान करने वाले इन गाँवों के १३० कार्यकर्त्ताओं के संकल्प से ये परिवर्तन दिखाई दे रहा है। पिछोड़ी के श्री मंशाराम अवास्या ने स्वयं नशा छोड़ने का संकल्प लिया, फिर और लोगों को, और गाँवों को नशामुक्त करने में जुट गये। इन गाँव की महिलाओं के कड़े संघर्ष के परिणाम स्वरूप शराब की सारी दुकानें बंद करा दीं। पूरे के पूरे गाँव व्यसनमुक्त हो गये।  

कठोर गाँव का नृसिंह पर्वत भी गाँववासियों की शानदार सफलता का एक उदाहरण है। गाँववासियों ने १० एकड़ भूमि पर श्रीराम स्मृति उपवन की स्थापना की है। पिछले तीन माह से गाँववासियों ने श्रमदान कर वृक्षारोपण के लिए वहाँ ३००० गड्ढे खोदे हैं। 



Write Your Comments Here:


img

Meeting

Up Jon Gwalior ki meting.....

img

पुरस्कार वितरण समारोह

मुज़फ्फ़रनगर। उत्तर प्रदेश जिले का भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा पुरस्कार वितरण समारोह 11 अगस्त को नौ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ के.....

img

चेतना केंद की जानकारी के लिए लगाए गए दिशा मार्ग

बोहोत कम लोगो को अमरावती चेतना केंद्र की जानकारी है । तथा लोगो तक चेतना केंद्र की जानकारी पोहचाए ने के लिए रोड पर चेतना केंद्र का प्रचार किया गया और रोड पर दिशा मार्ग लगाए गए जिससे लोगों को.....