img


  • (केवल भाइयों के लिए)
  • त्रैमासिक
नया सत्र  1 अक्टूबर 2014  से आरंभ
शांतिकुंज में नियमित रूप से चल रही त्रैमासिक युग संगीत प्रशिक्षण सत्र शृंखला का अगला शिविर 1 अक्टूबर 2014 से आरंभ हो रहा है। इन शिविरों में भारतीय संत परंपरा के अनुरूप भक्तिभाव प्रवाहित करने वाले संगीत और युगगायन का प्रशिक्षण दिया जाता है। क्षेत्रीय कार्यक्रमों में संगीत की माँग को पूरा करने की दृष्टि से ये शिविर बहुत उपयोगी हैं। 

इस प्रशिक्षण शिविर में वे ही भाई भाग लें, जो गायत्रीतीर्थ शांतिकुंज में एक मासीय युगशिल्पी या परिव्राजक सत्र कर चुके हैं। जो अपने क्षेत्र, शक्तिपीठ या टोलियों में संगीत के साथ अपना योगदान देते हैं या देना चाहते हैं। जो शक्तिपीठ-शाखाएँ संगीत की दृष्टि से स्वावलम्बी बनना चाहती हैं, वे योग्य परिजनों को इन शिविरों में भेजें। 

पूर्व स्वीकृति अवश्य प्राप्त कर लें। सूचना एवं पूछताछ के लिए गायत्री तीर्थ शांतिकुंज के संगीत विभाग के 
फोन नंबर- 01334-260602, 260403
      एक्सटेंशन-190 से संपर्क करें। 


Write Your Comments Here:


img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

दे.स.वि.वि. के ज्ञानदीक्षा समारोह में भारत के 22 राज्य एवं चीन सहित 6 देशों के 523 नवप्रवेशी विद्यार्थी हुए दीक्षित

जीवन खुशी देने के लिए होना चाहिए ः डॉ. निशंकचेतनापरक विद्या की सदैव उपासना करनी चाहिए ः डॉ पण्ड्याहरिद्वार 21 जुलाई।जीवन विद्या के आलोक केन्द्र देवसंस्कृति विश्वविद्यालय शांतिकुंज के 35वें ज्ञानदीक्षा समारोह में नवप्रवेशार्थी समाज और राष्ट्र सेवा की ओर.....

img

देसंविवि की नियंता एनईटी (योग) में 100 परसेंटाइल के साथ देश भर में आयी अव्वल

देसंविवि का एक और कीर्तिमानहरिद्वार 19 जुलाईदेव संस्कृति विश्वविद्यालय ने एनईटी (नेशनल एलीजीबिलिटी टेस्ट -योग) के क्षेत्र में एक और कीर्तिमान स्थापित किया है। देसंविवि के योग विज्ञान की छात्रा नियंता जोशी ने एनईटी (योग)- 2019 की परीक्षा में 100.....