• पहले दिन बाँटे 
  • ५००० भोजन पैकेट

गत वर्ष की तरह इसवर्ष भी १५-१६ अगस्त की तेज बारिश में लक्सर क्षेत्र के कई गाँव जलमग्न हो गये। तत्काल शांतिकुंज के आपदा प्रबंधन दल ने प्रभावित क्षेत्रों के लिए भोजन पहुँचाने की तैयारी कर ली। सैकड़ों कार्यकर्त्ताओं के सहयोग से भोजन के पैकेट बनना आरंभ हो गये। 

शांतिकुंज का आपदा प्रबंधन दल जलमग्न गाँवों में इन्हें लेकर पहुँचा। सबसे पहले कलासिया, शेरपुर बेला, माडाबेला और आसपास के गाँवों में भोजन पहुँचाया गया। पुलिस की मोटर बोट और स्थानीय कार्यकर्त्ताओं का सहयोग लेते हुए शांतिकुंज के कार्यकर्त्ता पहुँचे। समाचार लिखे जाने तक १७ अगस्त को पहले ही दिन ५००० भोजन पैकेट बाँटे। सेवाकार्य जारी रहेंगे। 



Write Your Comments Here:


img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

दे.स.वि.वि. के ज्ञानदीक्षा समारोह में भारत के 22 राज्य एवं चीन सहित 6 देशों के 523 नवप्रवेशी विद्यार्थी हुए दीक्षित

जीवन खुशी देने के लिए होना चाहिए ः डॉ. निशंकचेतनापरक विद्या की सदैव उपासना करनी चाहिए ः डॉ पण्ड्याहरिद्वार 21 जुलाई।जीवन विद्या के आलोक केन्द्र देवसंस्कृति विश्वविद्यालय शांतिकुंज के 35वें ज्ञानदीक्षा समारोह में नवप्रवेशार्थी समाज और राष्ट्र सेवा की ओर.....

img

देसंविवि की नियंता एनईटी (योग) में 100 परसेंटाइल के साथ देश भर में आयी अव्वल

देसंविवि का एक और कीर्तिमानहरिद्वार 19 जुलाईदेव संस्कृति विश्वविद्यालय ने एनईटी (नेशनल एलीजीबिलिटी टेस्ट -योग) के क्षेत्र में एक और कीर्तिमान स्थापित किया है। देसंविवि के योग विज्ञान की छात्रा नियंता जोशी ने एनईटी (योग)- 2019 की परीक्षा में 100.....