• पहले दिन बाँटे 
  • ५००० भोजन पैकेट

गत वर्ष की तरह इसवर्ष भी १५-१६ अगस्त की तेज बारिश में लक्सर क्षेत्र के कई गाँव जलमग्न हो गये। तत्काल शांतिकुंज के आपदा प्रबंधन दल ने प्रभावित क्षेत्रों के लिए भोजन पहुँचाने की तैयारी कर ली। सैकड़ों कार्यकर्त्ताओं के सहयोग से भोजन के पैकेट बनना आरंभ हो गये। 

शांतिकुंज का आपदा प्रबंधन दल जलमग्न गाँवों में इन्हें लेकर पहुँचा। सबसे पहले कलासिया, शेरपुर बेला, माडाबेला और आसपास के गाँवों में भोजन पहुँचाया गया। पुलिस की मोटर बोट और स्थानीय कार्यकर्त्ताओं का सहयोग लेते हुए शांतिकुंज के कार्यकर्त्ता पहुँचे। समाचार लिखे जाने तक १७ अगस्त को पहले ही दिन ५००० भोजन पैकेट बाँटे। सेवाकार्य जारी रहेंगे। 



Write Your Comments Here:


img

गुरु पूर्णिमा पर्व प्रयाज

गुरु पूर्णिमा पर्व पर online वेब स्वाध्याय के  कार्यक्रम इस प्रकार रहेंगे समस्त कार्यक्रम freeconferencecall  मोबाइल app से होंगे ID : webwsadhyay रहेगा 1 गुरुवार  ७ जुलाई २०२२ : कर्मकांड भास्कर से गुरु पूर्णिमा.....

img

ऑनलाइन योग सप्ताह आयोजन द्वादश योग :गायत्री योग

परम पूज्य गुरुदेव द्वारा लिखित पुस्तक  गायत्री योग, जिसके अंतर्गत द्वादश योग की चर्चा की गई है, का ऑनलाइन वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से पांच दिवसीय कार्यक्रम आयोजित किया गया| इस कार्यक्रम में विशेष आकर्षण वीडियो कांफ्रेंस.....

img

गृह मंत्री अमित शाह बोले- वर्तमान एजुकेशन सिस्टम हमें बौद्धिक विकास दे सकता है, पर आध्यात्मिक शांति नहीं दे सकता

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हम उन गतिविधियों का समर्थन करते हैं जो हमारे देश की संस्कृति और सनातन धर्म को प्रोत्साहित करती हैं। पिछले 50 वर्षों की अवधि में, हम हम सुधारेंगे तो युग बदलेगा वाक्य.....