img


  • संंपर्क मार्ग का शिलान्यास
  • आँवलखेड़ा के मुख्य मार्ग से विद्यालय तक लगभग ४-५ फर्लांग के संपर्क मार्ग का निर्माण १५ लाख रुपये की लागत से विधायक निधि से कराया जा रहा है। प्रो. धर्मपाल जी ने इसके लिए ५ लाख रुपये तत्काल आवंटित कराये। 
आँवलखेड़ा क्षेत्र में स्थित विद्यालय

१. माता दानकुँवरि इंटरकॉलेज
२. माता भगवती देवी कन्या महाविद्यालय
३. पं. श्रीराम शर्मा आचार्य रा.क. विद्यालय


जहाँ प्रदेश और देश में अच्छी शिक्षा उपलब्ध होना एक चुनौती है, वहीं परम पूज्य गुरुदेव पं.श्रीराम शर्मा आचार्य जी की जन्मभूमि यह छोटा-सा गाँव आँवलखेड़ा आज शिक्षा का हब बन गया है। जन्मभूमि की दिव्यता और गायत्री परिवार के प्रयासों से यहाँ के विद्यालयों में बच्चों को संस्कारयुक्त शिक्षा दी जा रही है। राष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त आध्यात्मिक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित हो रहे आँवलखेड़ा क्षेत्र में शिक्षा का यह स्वरूप भी समाज के लिए अत्यंत प्रेरणादायी होगा। 

८ सितम्बर को पं. श्रीराम शर्मा आचार्य राजकीय कन्या विद्यालय में आयोजित एक विशाल समारोह को संबोधित करते हुए प्रो. डॉ. धर्मपाल सिंह, विधायक एतमादपुर ने उपरोक्त विचार व्यक्त किये। यह समारोह आँवलखेड़ा मुख्य मार्ग से विद्यालय तक के संपर्क मार्ग के निर्माण के शिलान्यास के लिए आयोजित किया गया था। 

समारोह में उपस्थित शांतिकुंज प्रतिनिधि डॉ. ओ.पी. शर्मा ने शिलापट्ट का अनावरण किया। उन्होंने सन् ८६ में २२ विद्यार्थियों के साथ आरंभ हुए विद्यालय की प्रगति और विशेषताओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि शांतिकुंज का प्रयास नैतिक मूल्यों से युक्त और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का विस्तार है। इसी विशेषता के कारण आज इस विद्यालय में ६ठी से १२वीं तक की लगभग १५०० छात्राएँ अध्ययन कर रही हैं। आँवलखेड़ा शक्तिपीठ के व्यवस्थापक श्री घनश्याम देवांगन भी समारोह में उपस्थित थे। 

समारोह का संचालन डॉ. उर्मिला सिन्हा, प्राचार्य ने किया। उन्होंने कहा कि गायत्री शक्तिपीठ और आचार्य जी के विचार बच्चों के व्यक्तित्व को निखारने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित हुए। 



Write Your Comments Here:


img

anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री मंत्र और गायत्री माँ के चम्त्कार् के बारे मैं बताया

मैं यशवीन् मैंने आज राजस्थान के barmer के बालोतरा मैं anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री माँ के बारे मैं बच्चों को जागरूक किया और वेद माता के कुछ बातें बताई और महा मंत्र गायत्री का जाप कराया जिसे आने वाले.....

img

युग निर्माण हेतु भावी पीढ़ी में सुसंस्कारों की आवश्यकता जिसकी आधारशिला है भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा -शांतिकुंज प्रतिनिधि आ.रामयश तिवारी जी

वाराणसी व मऊ उपजोन की *संगोष्ठी गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी के पावन प्रांगण में संपन्न* हुई।जहां ज्ञान गंगा की गंगोत्री,*महाकाल का घोंसला,मानव गढ़ने की टकसाल एवं हम सभी के प्राण का केंद्र अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज,हरिद्वार* से पधारे युगऋषि के अग्रज.....

img

Yoga Day celebration

Yoga day celebration in Dharampur taluka district ValsadGaytri pariwar Dharampur.....