img


गणेशोत्सव मनाने की परंपरा लोकमान्य तिलक द्वारा आरंभ की गयी थी। इसका मुख्य प्रयोजन था-सामयिक समस्याओं पर चिंतन-मंथन, उनके समाधान के लिए भगवान सिद्धि विनायक से प्रार्थना तथा लोगों में उनके निवारण के लिए किये जाने वाले कार्यों में भागीदारी करने का उत्साह जगाना। तब समस्या अंग्रेजों से आजादी पाने की थी, आज अंधविश्वास, मूढ़ परंपराएँ, कुरीतियाँ, हिंसा, तनाव जैसी न जाने कितनी समस्याओं से समाज त्रस्त है। गणेशोत्सवों में उमड़ने वाली जन आस्था को इस ओर सोचने की दिशा दी ही जानी चाहिए। 

गायत्री विद्यापीठ और देव संस्कृति विश्वविद्यालय में गणेशोत्सव का आयोजन ऐसी ही प्रेरणाओं की याद दिलाने के लिये किया गया। उल्लेखनीय है कि विवि. में पूरे देश के विद्यार्थी अध्ययन करते हैं, जो अगले दिनों समाज में संस्कृति के अग्रदूत की भूमिका निभाते दिखाई देंगे। 
देसंविवि. और गायत्री विद्यापीठ में भरपूर उमंग और उल्लास के साथ मनाया गया गणेशोत्सव आत्मविकास और समाजोत्थान की प्रेरणाओं से ओतप्रोत था। बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से अपनी बात कही। ईको फ्रैण्डली प्रतिमाओं की स्थापना और उनके सुरक्षित विसर्जन के उपाय बताये गये। 

विद्यापीठ में बालसभा का आयोजन हुआ। श्री कालीचरण शर्मा जी ने सिद्धि विनायक गणेश जी और लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक के विषय में जानकारी दी। 



Write Your Comments Here:


img

गुरु पूर्णिमा पर्व प्रयाज

गुरु पूर्णिमा पर्व पर online वेब स्वाध्याय के  कार्यक्रम इस प्रकार रहेंगे समस्त कार्यक्रम freeconferencecall  मोबाइल app से होंगे ID : webwsadhyay रहेगा 1 गुरुवार  ७ जुलाई २०२२ : कर्मकांड भास्कर से गुरु पूर्णिमा.....

img

ऑनलाइन योग सप्ताह आयोजन द्वादश योग :गायत्री योग

परम पूज्य गुरुदेव द्वारा लिखित पुस्तक  गायत्री योग, जिसके अंतर्गत द्वादश योग की चर्चा की गई है, का ऑनलाइन वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से पांच दिवसीय कार्यक्रम आयोजित किया गया| इस कार्यक्रम में विशेष आकर्षण वीडियो कांफ्रेंस.....

img

गृह मंत्री अमित शाह बोले- वर्तमान एजुकेशन सिस्टम हमें बौद्धिक विकास दे सकता है, पर आध्यात्मिक शांति नहीं दे सकता

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हम उन गतिविधियों का समर्थन करते हैं जो हमारे देश की संस्कृति और सनातन धर्म को प्रोत्साहित करती हैं। पिछले 50 वर्षों की अवधि में, हम हम सुधारेंगे तो युग बदलेगा वाक्य.....