देसंविवि में चतुर्थ अन्तर्राष्ट्रीय योग महोत्सव कल से

img

कई देशों के राजदूत सहित योग प्रशिक्षक होंगे सम्मिलित |

देवभूमि उत्तराखंड में से अन्तर्राष्ट्रीय योग, संस्कृति एवं अध्यात्म महोत्सव का शुभारंभ होने जा रहा है। तीर्थ नगरी हरिद्वार स्थित देवसंस्कृति विश्वविद्यालय में चौथा योग महोत्सव से अक्टूबर तक चलेगा। इस महोत्सव में प्रतिभागी ऋषि, संस्कृति व अध्यात्म को लेकर एक समग्र आयोजन के साक्षी बनेंगे। साथ ही वैकल्पिक चिकित्सा के अंतर्गत आने वाली विविध पद्धतियों जैसे यज्ञोपैथी, प्राणिक हीलिंग, एक्यूप्रेशर, नैचरोपैथी, पंचकर्म आदि पद्धतितियों से स्वास्थ्य लाभ की विधाओं से भी अवगत होंगे। प्रतिभागीगण पुण्यतोया मां गंगा की गोद में बैठकर योग व ध्यान का लाभ उठायेंगे।

विवि के मीडियासेल के अनुसार अन्तर्राष्ट्रीय शान्ति दिवस के उपलक्ष्य में विश्वविद्यालय में अक्टूबर दोपहर ३.३० बजे विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्या जी, विश्वविख्यात समाज सुधारक, २०१० के गाँधी शान्ति पुरस्कार से सम्मानित युनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका के स्प्रिच्युअल लीडर मि० पैट्रिक मैक्यूलम, मानवाधिकार आयोग के डायरेक्टर जनरल पद्मश्री डॉ. डी. आर. कार्तिकेयन और योगिनी कालिनी की गरिमामयी उपस्थिति में शुभारम्भ होगा। अब तक मिली सूचना के अनुसार विश्वभर के २० से अधिक देशों के योग प्रशिक्षु विश्वविद्यालय में पहुँच चुके हैं। प्रारम्भ के दिन भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी एवं लालबहादुर शास्त्री जी की जयन्ती के उपलक्ष्य में शान्ति दिवस दीप महायज्ञ विश्वविद्यालय के महाकाल मन्दिर परिसर में संपन्न होगा, जिसमें विश्वभर से आये योग प्रशिक्षक, सहयोगी आदि भाग लेंगे। देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति डॉ चिन्मय पण्ड्या ने बताया कि विश्व भर के योग जिज्ञासु कुलपिता पं० श्रीराम शर्मा आचार्य जी की साधना, उपासना व आराधना की विचारधाराओं से रुबरू होंगे।


Write Your Comments Here:


img

शांतिकुंज में मनाया जायेगा गुरु गोविन्द सिंह जी महाराज का ३५० प्रकाशोसत्व

सभी सिक्ख भाई- बहिनों को भावभरा आमंत्रण

वर्ष २०१७- १८ में देशभर में सिक्ख मतावलम्बियों के दशम गुरु गुरु गोविंद सिंह जी महाराज के ३५०वें प्रकाशोत्सव के उपलक्ष्य में समारोह आयोजित हो रहे हैं। अखिल विश्व गायत्री परिवार भी २२ अगस्त.....

img

नव सृजन युवा संकल्प समारोह, नागपुर

नव सृजन युवा संकल्प समारोह, नागपुर दिनांक 26, 27, 28 जनवरी 2018
यौवन जीवन का वसंत है तो युवा देश का गौरव है। दुनिया का इतिहास इसी यौवन की कथा-गाथा है।  कवि ने कितना सत्य कहा है - दुनिया का इतिहास.....