गुजरात के प्रांतीय संगठन ने अपने स्वास्थ्य आन्दोलन में नया अध्याय जोड़ते हुए समग्र गुजरात के तकनीकी औद्योगिक शिक्षण संस्थान आई.टी.आई. में व्यसनमुक्ति कार्यक्रमों की शृंखला आरंभ कर दी है। श्री हरेश कंसारा के अनुसार यौवन की देहलीज पर कदम रख रहे तरुणों की यही उम्र उनके जीवन में भटकाव आने की संभावनाआें से भरीपूरी होती है। गायत्री परिवार इस अवस्था में युवाआें को सचेत करने और व्यसन- राक्षस के चंगुल से बचाने के लिए सक्रिय हो गया है।

गुजरात के स्वास्थ्य आन्दोलन प्रभारी श्री किरीटभाई सोनी, गिरीशभाई पटेल और रूपजीभाई नायक ने प्रथम कार्यक्रम आईटीआई कुबेरनगर, अहमदाबाद से की। यह एशिया का सबसे बड़ा औद्याूेगिक शिक्षण संस्थान है। गायत्री परिवार ने कई वर्गों में विद्यार्थियों से चर्चा की। उन्हें पावर पॉइंट के सहयोग से व्यसनों से होने वाली हानियों की जानकारी दी गयी और व्यसन न करने के संकल्प कराये गये।

विद्यार्थियों से कहा गया कि बुराइयों से दूर रहने का सबसे कारगर उपाय अच्छी आदतों से मित्रता करना है। उन्हें आध्यात्मिक जीवन शैली अपनाकर आत्मनिर्माण करना चाहिए और राष्ट्र के नवनिर्माण के विभिन्न अभियानों में सक्रिय योगदान देना चाहिए।

इससे पूर्व भी गुजरात के प्रांतीय संगठन ने पूरे प्रदेश में व्यसनमुक्ति के लिए प्रशंसनीय सक्रियता अपनायी है। कुल १८ प्रदर्शनियाँ बनायी गयी हैं, जिन्हें जिला और तहसील स्तर पर प्रदर्शित किया जा रहा है। लोगों को वहाँ प्रशिक्षण देकर हर गाँव- शहर, गली- मोहल्लों में व्यसनमुक्त रैलियों का आयोजन किया जा रहा है। 



Write Your Comments Here:


img

dqsdqsd

sqsqdsqdqs.....

img

sqdqsdqsdqsd.....

img

Op

gaytri shatipith jobat m p.....