पांच दिनी स्काउट गाइड का जांच शिविर शांतिकुंज में शुभारंभ, उत्तराखंड के विभिन्न महाविद्यालयों के ९४ रोवर- रेंजर्स हैं शामिल |

राज्य के प्रादेशिक प्रशिक्षण केन्द्र गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में स्काउट गाइड के रोवर- रेंजर्स प्रशिक्षण एवं जाँच शिविर का शुभारंभ हुआ। इसकी शुरुआत व्यवस्थापक श्री गौरीशंकर शर्मा ने दीप प्रज्वलन कर किया। शिविर में राज्य के छः जनपदों के विभिन्न महाविद्यालयों के ९४ छात्र- छात्राएँ शामिल हैं।

स्काउट- गाइड के चौदहवाँ जिला शांतिकुंज के संरक्षक श्री गौरीशंकर शर्मा ने कहा कि स्काउट का अर्थ अनुशासनों को स्वयं पालन करना और दूसरों को इस दिशा में जागरुक करना है। उन्होंने कहा कि इससे देश सेवा हेतु मानसिक दृढ़ता पैदा होती है। स्काउट- गाइड देश प्रेम जगाने की उत्तम संस्था है। उन्होंने जीवन प्रबंधन पर प्रकाश डालते हुए कर्तव्यनिष्ठ इंसान बन समाज हित में कार्य करने के लिए प्रेरित किया।

शिविर संचालक भारत स्काउट गाइड के प्रादेशिक सचिव श्री नरेन्द्र शाह के अनुसार पांच दिन तक चलने वाले इस शिविर में पिथौरागढ़, चमोली, नैनीताल, उत्तरकाशी, खटिमा, रामनगर, हल्द्वानी, बड़कोट के महाविद्यालयों के ९४ रोवर्स रेंजर्स प्रतिभाग कर रहे हैं। स्काउट प्रशिक्षण आयुक्त श्री सीताराम सिन्हा, प्रो धनसिंह माहोडी, प्रशिक्षण केन्द्र के जिला संगठन आयुक्त श्री मंगल गढ़वाल, एएसओसी विमला पंत, क्षेत्रीय प्रशिक्षक राहुल रतौड़ी, जिला सचिव कृष्ण दत्त उनियाल, हरपाल ठाकुर, इबने हसन आदि प्रशिक्षक उपस्थित थे।





Write Your Comments Here:


img

प्राणियों, वनस्पतियों व पारिस्थितिक तंत्र के अधिकारों की रक्षा हेतु गायत्री परिवार से विनम्र आव्हान/अनुरोध

हम विश्वास दिलाते हैं की जीव, जगत, वनस्पति व पारिस्थितिकी तंत्र के व्यापक हित में उसके अधिकार को वापस दिलवाना ही हमारा एकमात्र उद्देश्य और मिशन है| जलवायु संकट की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए तथा जीव-जगत को.....

img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

देसंविवि के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ करते हुए डॉ. पण्ड्या ने कहा - कर्मों के प्रति समर्पण श्रेष्ठतम साधना

हरिद्वार 26 जुलाई।देसंविवि के कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या ने विश्वविद्यालय के नवप्रवेशी छात्र-छात्राओं के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ के अवसर पर गीता का मर्म सिखाया। इसके साथ ही विद्यार्थियों के विधिवत् पाठ्यक्रम का पठन-पाठन का क्रम की शुरुआत.....