देवसंस्कृति विवि में होने वाले सीनियर राष्ट्रीय जुडो प्रतियोगिता में भाग लेने पहुंचे अंतर्राष्ट्रीय जुडो खिलाड़ी सुशील लिकमबद, कल्पना थौडम व राजविन्दर कौर ने देसंविवि प्रतिकुलपति डॉ चिन्मय पण्ड्या से भेंट की। इन खिलाडियों ने अपने जीवन के अनुभवों को साझा किया तथा कामनवेल्थ गेम- २०१४ में पदक प्राप्त करने के लिए की गयी तैयारियों पर चर्चा की। जूडो के माध्यम से विवि के विद्याथियों में शारीरिक क्षमता व मानसिक दृढ़ता किस प्रकार विकसित हो, इस पर भी विचार विमर्श किया गया। इस अवसर पर डॉ चिन्मय पण्ड्या ने कहा कि यहाँ होने वाले कार्यक्रम से उत्तराखंड को जूडो के क्षेत्र में नई प्रतिभा मिलेगी। देसंविवि इसके लिए एक सुनहरा अवसर दे रहा है। 

इस दौरान देसंविवि के प्रतिकुलपति डॉ चिन्मय पण्ड्या कामनवेल्थ गेम- २०१४ में रजत पदक व कांस्य पदक विजेता इन खिलाड़ियों को उपवस्त्र ओढ़ाकर सम्मानित किया। प्रतिकुलपति ने देवसंस्कृति विश्वविद्यालय की अवधारणा एवं विवि की मातृसंस्था शांतिकुंज द्वारा चलाये जा रहे युवा जागरण सहित विभिन्न रचनात्मक कार्यक्रमों की भी जानकारियां दीं। 



Write Your Comments Here:


img

प्राणियों, वनस्पतियों व पारिस्थितिक तंत्र के अधिकारों की रक्षा हेतु गायत्री परिवार से विनम्र आव्हान/अनुरोध

हम विश्वास दिलाते हैं की जीव, जगत, वनस्पति व पारिस्थितिकी तंत्र के व्यापक हित में उसके अधिकार को वापस दिलवाना ही हमारा एकमात्र उद्देश्य और मिशन है| जलवायु संकट की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए तथा जीव-जगत को.....

img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

देसंविवि के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ करते हुए डॉ. पण्ड्या ने कहा - कर्मों के प्रति समर्पण श्रेष्ठतम साधना

हरिद्वार 26 जुलाई।देसंविवि के कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या ने विश्वविद्यालय के नवप्रवेशी छात्र-छात्राओं के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ के अवसर पर गीता का मर्म सिखाया। इसके साथ ही विद्यार्थियों के विधिवत् पाठ्यक्रम का पठन-पाठन का क्रम की शुरुआत.....