Published on 0000-00-00

भारत सहित विश्व भर में २१ जून को प्रथम योग अंतर्राष्ट्रीय दिवस के रूप में मनायेगा। भारत में इस विषय को लेकर केन्द्रीय स्तर पर तैयारियाँ जोरों पर है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को सफल बनाने में विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज सहित कई अन्य वरिष्ठ मंत्री व विभाग शामिल हैं। इस कार्य में योग की गंगा बहाने वाली उत्तराखंड स्थित देवसंस्कृति विश्वविद्यालय को एक बड़ी जिम्मेदारी मिली। इस आशय को लेकर विदेश विभाग के बुलावे पर देसंविवि के प्रतिकुलपति डॉ चिन्मय पण्ड्या ने सप्ताह में दो बार विदेश मंत्री श्रीमती स्वराज से मुलाकात की।

आज प्रातः दिल्ली से मुलाकात कर लौटे डॉ चिन्मय पण्ड्या ने बताया कि अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस व कार्यक्रम के प्रारूप पर करीब ४५ मिनट तक विदेश मंत्री श्रीमती स्वराज से विस्तारपूर्वक चर्चा हुई। पिछले कई दशकों से गायत्री परिवार द्वारा योग के सरलतम विधा एवं देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के पिछले १३ वर्ष से योग में किये जा रहे सेवा कार्यों को जानकार विदेश मंत्री ने प्रशंसा प्रकट की। उन्होंने बताया कि देवसंस्कृति विवि में आगामी अक्टूबर से प्रारंभ होने वाले अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव के अवसर पर गायत्री परिवार के मुख्यालय शांतिकुंजदेसंविवि आने का निमंत्रण स्वीकार किया। यहाँ आकर वे योग, संस्कृति, अध्यात्म सहित विभिन्न प्रकल्पों पर हो रहे प्रयोगों से रूबरू होंगी। विदेश सचिव डॉ सतीश कुमार एवं डॉ शैलेन्द्र सक्सेना से भी डॉ चिन्मय पण्ड्या की योग दिवस के प्रारूपों के संदर्भ में विस्तृत चर्चा हुई।

वहीं प्रतिकुलपति डॉ पण्ड्या ने केन्द्रीय मंत्री श्री वैकंया नायडू से भी मुलाकात की। मूल्यपरक शिक्षा देने वाले देसंविवि व यहाँ के कई अनूठी शिक्षण पद्धति को जानकर प्रसन्नता व्यक्त की। प्रवेश के साथ ज्ञान दीक्षा के माध्यम से देसंविवि के युवा नैतिकता की ओर अपना पहला कदम उठाते हैं। आगामी सत्र में होने वाले इस पर्व में वे स्वयं उपस्थित होकर विद्यार्थियों का उत्साहवर्धन करेंगे। इसके अतिरिक्त ललित कला अकादमी भारत के अध्यक्ष डॉ केके चक्रवर्ती से भी भेंट परामर्श हुआ।





Write Your Comments Here:


img

प्राणियों, वनस्पतियों व पारिस्थितिक तंत्र के अधिकारों की रक्षा हेतु गायत्री परिवार से विनम्र आव्हान/अनुरोध

हम विश्वास दिलाते हैं की जीव, जगत, वनस्पति व पारिस्थितिकी तंत्र के व्यापक हित में उसके अधिकार को वापस दिलवाना ही हमारा एकमात्र उद्देश्य और मिशन है| जलवायु संकट की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए तथा जीव-जगत को.....

img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

देसंविवि के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ करते हुए डॉ. पण्ड्या ने कहा - कर्मों के प्रति समर्पण श्रेष्ठतम साधना

हरिद्वार 26 जुलाई।देसंविवि के कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या ने विश्वविद्यालय के नवप्रवेशी छात्र-छात्राओं के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ के अवसर पर गीता का मर्म सिखाया। इसके साथ ही विद्यार्थियों के विधिवत् पाठ्यक्रम का पठन-पाठन का क्रम की शुरुआत.....