Published on 0000-00-00
img


अखिलविश्व गायत्री परिवार का केन्द्र शान्तिकुंज में नवरात्रि साधना का अनुष्ठान सम्पन्न हुआ। इस अनुष्ठान में देश भर से आये हजारों गायत्री साधकों ने शान्तिकुंज के २७ कुण्डीय यज्ञशाला में अनुष्ठान की पूर्णाहुति दी। प्रत्येक साधक इस अवसर पर दिन में केवल एक समय अस्वाद भोजन या स्वल्पाहार कर २४-२४ हजार गायत्री मन्त्र जप का अनुष्ठान पूरा किया। इस नौ दिन में प्रतिदिन यज्ञ, अखण्ड दीप, गायत्री माता एवं प्रज्ञेश्वर महादेव जी के दर्शन के साथ नित्य सत्संग व ध्यान चिन्तनमय दिनचर्या अपनाई। पूर्णाहुति के बाद सुबह अखण्ड दीप दर्शन के साथ ही सभी साधक-साधिकाओं ने गायत्री परिवार प्रमुख आदरणीया शैल दीदी एवं डॉ. प्रणव पण्ड्या जी का आर्शीवाद लिया। 

    डॉ. पण्ड्या ने साधकों को नवरात्र माहात्म्य के बारे में बताते हुए कहा कि यह अवसर जीवन को आध्यात्मिक ऊर्जा से भरने और तन मन को जगजननी गायत्री शक्ति से ओतप्रोत करने का अत्यन्त अनुकूल अवसर है। इस अवसर पर किया गया तप अन्य समय की अपेक्षा अनेक गुना फलदायी होता है। इसलिए हर मनुष्य को इस समय कुछ तप साधन कर ही लेने चाहिए। शैल दीदी ने कहा इस समय गायत्री के नौ विशेष शक्तियाँ, जिनको नवदुर्गा भी कहा जाता है, विशेष रूप से सक्रिय रहती हैं। इस समय उनका स्मरण करने से जीवन की अनेक बाधा विघ्र दूर होकर सुख शांति की प्राप्ति होती है। 

    उधर देवसंस्कृति विश्वविद्यालय परिसर में भी विद्यार्थियों ने नवरात्रि अनुष्ठान सम्पन्न किया। इस अवसर पर देवसंस्कृति विश्वविद्यालय परिसर में स्वच्छता श्रमदान का आयोजन किया गया जिसमें देसंविवि एवं हरिपुरकलाँ क्षेत्र में भी कई जगहों में सफाई की गई। इसके साथ ही शांतिकुंज में भी सफाई अभियान चला जिसमें समग्र शांतिकुंज परिसर में सफाई की गई।


Write Your Comments Here:


img

प्राणियों, वनस्पतियों व पारिस्थितिक तंत्र के अधिकारों की रक्षा हेतु गायत्री परिवार से विनम्र आव्हान/अनुरोध

हम विश्वास दिलाते हैं की जीव, जगत, वनस्पति व पारिस्थितिकी तंत्र के व्यापक हित में उसके अधिकार को वापस दिलवाना ही हमारा एकमात्र उद्देश्य और मिशन है| जलवायु संकट की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए तथा जीव-जगत को.....

img

प्राणियों, वनस्पतियों व पारिस्थितिक तंत्र के अधिकारों की रक्षा हेतु गायत्री परिवार से विनम्र आव्हान/अनुरोध

हम विश्वास दिलाते हैं की जीव, जगत, वनस्पति व पारिस्थितिकी तंत्र के व्यापक हित में उसके अधिकार को वापस दिलवाना ही हमारा एकमात्र उद्देश्य और मिशन है| जलवायु संकट की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए तथा जीव-जगत को.....

img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....