Published on 2015-04-23
img

विश्व की प्राचीन संस्कृति भारतीय संस्कृति है और इसमें ही वसुधैव कुंटुम्बकम् की भावना निहित है। अखिल गायत्री परिवार के मुख्यालय शांतिकुंज से देश-विदेश में संस्कृति के प्रचार के लिए टोलियाँ रवाना होती रही हैं।

वहीं आज अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ प्रणव पण्ड्या एवं संस्था की अधिष्ठात्री शैल दीदी ने मार्गदर्शन लेकर शांतिभाई पटेल को लॉस ऐंजल्स अमेरिका प्रस्थान के समय शुभकामनायें दीं। इनका कार्यक्षेत्र केलिफोर्निया, सेन होज़े, सिलिकॉन वेली, फिनीक्स, एरिजोना, लॉस वेगास सहित कनाडा के वेनकूवर, विनीपेग, ससकातुन, एडमंटन जैसे शहर होंगे। शांतिभाई पटेल वकालत की पढ़ाई के बाद पिछले ३० वर्षों से सेवायें दे रहे हैं एवं डॉ0प्रणव पण्ड्या के मार्गदर्शन में पिछले २५ वर्षोंर्ं से अमेरिका, कनाडा, इंग्लैंड, आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, फीजी सहित दर्जनों देश में युवाओं को मार्गदर्शन दे रहे हैं। गायत्री-यज्ञ के साथ षोडष संस्कारों के विशेषज्ञ हैं। भारतीय संस्कृति के विस्तार के लिए अविवाहित जीवन जीने का संकल्प लिया। रवाना होने से पूर्व टोली को मार्गदर्शन करते हुए डॉ पण्ड्या ने कहा कि भौतिक रूप से अमेरिका की स्थिति अच्छी है, पर वहाँ लोग मन की शांति की अपेक्षा लिए भारत की ओर दृष्टि रखे हुए हैं। उन्होंने कहा कि गायत्री परिवार हिमालयवासी ऋषियों की परंपरा को आगे बढ़ाते हुए संस्कृति के प्रचार-प्रसार के संकल्पित है। उन्होंने कहा कि ऋषियुग्म पूज्य आचार्य जी के विचार एवं युवाओं के लिए विशेष कार्यक्रम लेकर एक टोली अमेरिका भेजी जा रही है, जो वहाँ स्थानीय एवं प्रवासी भारतीयों के बीच योग, यज्ञ, हवन जैसे अनेक कार्यक्रम संचालित करेगी।

विदेश विभाग के प्रभारी डॉ एके दत्ता ने बताया कि अमेरिका में न्यूजर्सी, शिकागो एवं लॉस एंजेल्सि में शांतिकुंज की शाखा गायत्री चेतना केन्द्र के रूप में कार्य कर रही है। चौथी शाखा के रूप में ह्यूसटन में निर्माण कार्य पूरा हो गया है। इस शाखा का उद्घाटन के लिए केन्द्र से वरिष्ठ भाइयों की एक टोली जून के मध्य में जायेगी। इन दिनों तीन सदस्यीय दल न्यूजीलैंड, फीजी, आस्ट्रेलिया के प्रवास पर है। वहीं शिकागो, लॉस एंजल्स, न्यूजर्सी, लीस्टर(इंग्लैंड), जोहन्सबर्ग साउथ अफ्रीका, फीजी के गायत्री चेतना केंदों में शांतिकुञ्ज प्रतिनिधि नियुक्त हैं एवं भारतीय संस्कृति का प्रचार प्रसार कर रहे हैं।


Write Your Comments Here:


img

प्राणियों, वनस्पतियों व पारिस्थितिक तंत्र के अधिकारों की रक्षा हेतु गायत्री परिवार से विनम्र आव्हान/अनुरोध

हम विश्वास दिलाते हैं की जीव, जगत, वनस्पति व पारिस्थितिकी तंत्र के व्यापक हित में उसके अधिकार को वापस दिलवाना ही हमारा एकमात्र उद्देश्य और मिशन है| जलवायु संकट की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए तथा जीव-जगत को.....

img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

देसंविवि के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ करते हुए डॉ. पण्ड्या ने कहा - कर्मों के प्रति समर्पण श्रेष्ठतम साधना

हरिद्वार 26 जुलाई।देसंविवि के कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या ने विश्वविद्यालय के नवप्रवेशी छात्र-छात्राओं के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ के अवसर पर गीता का मर्म सिखाया। इसके साथ ही विद्यार्थियों के विधिवत् पाठ्यक्रम का पठन-पाठन का क्रम की शुरुआत.....