Published on 2015-07-29

अखिल विश्व गायत्री परिवार व देवसंस्कृति विश्वविद्यालय ने भारत रत्न डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम को अपनी भावांजलि अर्पित की। डॉ. कलाम के निधन के समाचार से देशभर के साथ पूरा गायत्री परिवार एवं देसंविवि परिवार स्तब्ध है। डॉ. कलाम ने देसंविवि के द्वितीय दीक्षांत समारोह और दीया की स्थापना के अवसर पर अपने बहुमूल्य समय व सुझाव दिया था और गायत्री परिवार के साथ उनका एक महत्वपूर्ण जुड़ाव हो गया था। 

उनकी आत्मा की शांति, सद्गति के शांतिकुंज में विशेष प्रार्थना की, तो वहीं देसंविवि में विद्यार्थियों ने मौन रखा। गायत्री विद्यापीठ के नन्हे-मुन्नों ने उनको याद करते श्रद्धांजलि अर्पित की। वर्ष 2006 में देसंविवि आगमन के अवसर पर मिले प्यार को बच्चों ने याद किया।

देसंविवि के कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने कहा, "डॉ. कलाम जी का हमारे बीच से जाना एक अपूरणीय क्षति है। हमारे युवा संगठन दिया (डिवाइन इंडिया यूथ एसोसिएशन), की संस्थापना के साथ ही मेरा जो उनसे जुड़ाव हुआ, वह सघन होता गया। देश के राष्ट्रपति के रूप में सन् 2006 में देवसंस्कृति विवि के द्वितीय दीक्षांत समारोह में उन्होंने हरिद्वार आकर हमारे युवा क्रांति को गति दी।" 

उन्होंने कहा, "21वीं सदी के भारत का जो सपना दिवगंत अब्दुल कलाम ने देखा था, उसे एक नए युग के सूत्रपात के रूप में आध्यात्मिक दृष्टि से विकसित करने का कार्य हम अपने मिशन के युवाओं द्वारा करना चाहते हैं।"

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।


Write Your Comments Here:


img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

दे.स.वि.वि. के ज्ञानदीक्षा समारोह में भारत के 22 राज्य एवं चीन सहित 6 देशों के 523 नवप्रवेशी विद्यार्थी हुए दीक्षित

जीवन खुशी देने के लिए होना चाहिए ः डॉ. निशंकचेतनापरक विद्या की सदैव उपासना करनी चाहिए ः डॉ पण्ड्याहरिद्वार 21 जुलाई।जीवन विद्या के आलोक केन्द्र देवसंस्कृति विश्वविद्यालय शांतिकुंज के 35वें ज्ञानदीक्षा समारोह में नवप्रवेशार्थी समाज और राष्ट्र सेवा की ओर.....

img

देसंविवि की नियंता एनईटी (योग) में 100 परसेंटाइल के साथ देश भर में आयी अव्वल

देसंविवि का एक और कीर्तिमानहरिद्वार 19 जुलाईदेव संस्कृति विश्वविद्यालय ने एनईटी (नेशनल एलीजीबिलिटी टेस्ट -योग) के क्षेत्र में एक और कीर्तिमान स्थापित किया है। देसंविवि के योग विज्ञान की छात्रा नियंता जोशी ने एनईटी (योग)- 2019 की परीक्षा में 100.....