Published on 2015-09-07

भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव गायत्री तीर्थ शांतिकुंज के मुख्य सभागार में वैदिक परंपरानुसार पुरुष सूक्त के साथ सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर उपस्थित जनसमुदाय को  श्रीकृष्ण के शांतिप्रिय व समाजोत्थान परक कार्यों का अनुसरण करते हुए समाज में विघटनकारी समुदाय को सही मार्ग दिखाने के संकल्प लेने हेतु प्रेरित किया गया। श्रीकृष्ण ने जिस तरह से सुनियोजित रूप से सुविचारों को अपने तार्किक बुद्धि से स्थापित किया, उसी तरह वर्तमान समाज में फैले भ्रष्टाचार, कुप्रथा आदि बुराइयों को दूर करने के लिये जनसमुदाय को आवाहन किया गया। 

शांतिकुंज के मुख्य सभागार में आयोजित इस समारोह को सम्बोधित करते हुए श्याम बिहारी दुबे ने श्रीकृष्ण के आविर्भाव से लेकर महाभारत सम्पन्न होने तक के जीवन प्रसंगों को संगीतबद्ध प्रस्तुत किया। उन्होंने मार्मिक व प्रेरणाप्रद कहानियों के माध्यम से श्रीकृष्ण की लीलाओं का वर्णन करते हुए कहा कि आज समाज में कई कंस, दुर्योधन, दुःशासन हैं, उनसे लड़ने के लिए ऐसे कर्मयोगियों की आवश्यकता है जो समाज से बुराइयों व भ्रष्टाचार, आतंक को मिटा सकें। मुख्य पूजा स्थली पर केदार प्रसाद दुबे ने सपत्नीक पूजा की। इस अवसर पर संगीत विभाग के भाइयों द्वारा प्रेरणाप्रद कृष्ण भक्ति के गीत प्रस्तुत किये गये। 

उधर गायत्री विद्यापीठ में छोटे- छोटे बच्चे कृष्ण के विविध रूप में सजे- धजे दिखे। कई बच्चे के होठों में मुरली थी, तो कइयों ने मोरपंख के साथ चहलकदमी कर रहे थे। नन्हीं- नन्हीं छात्राएँ राधा की वेश में सजी हुई थीं। इन बच्चों ने कृष्ण पर आधारित लघुनाटिका प्रस्तुत की, जिसे उपस्थित लोगों ने तालियों के साथ स्वागत किया।



Write Your Comments Here:


img

डॉ. चिन्मय पंड्या की नीदरलैंड यात्रा

देव संस्कृति विश्वविद्यालय हरिद्वार के प्रतिकुलपति डॉ चिन्मय पंड्या जी ने नीदलैंड्स की यात्रा के मध्य हेग में भारत के राजदूत श्री वेणु राजामोनी जी एवं उनकी सहधर्मिणी डॉ थापा जी से भेंट वार्ता की। इस क्रम में.....

img

डॉ. चिन्मय पंड्या की नीदरलैंड यात्रा

देव संस्कृति विश्वविद्यालय हरिद्वार के प्रतिकुलपति डॉ चिन्मय पंड्या जी ने नीदलैंड्स की यात्रा के मध्य हेग में भारत के राजदूत श्री वेणु राजामोनी जी एवं उनकी सहधर्मिणी डॉ थापा जी से भेंट वार्ता की। इस क्रम में.....

img

डॉ. चिन्मय पंड्या की इक्वाडोर के राजदूत श्री हेक्टर क्वेवा के साथ भेंट

स्मृति के झरोखों से देव संस्कृति विश्वविद्यालय में इक्वाडोर के राजदूत श्री हेक्टर क्वेवा पधारे एवं विश्व विद्यालय के प्रतिकुलपति डॉ चिन्मय पंड्या जी से मुलाकात की। उनकी यात्रा के दौरान इक्वाडोर से आए प्रतिभागियों के.....