Published on 2015-11-26

गुरुवार को प्रातः गायत्री विद्यापीठ शांतिकुंज का वार्षिक खेल दिवस समारोह २०१५ का शुभारंभ हुआ। दो दिन तक चलने वाले इस समारोह के प्रथम दिन प्ले वे से लेकर नवीं कक्षा के विद्यार्थियों की विभिन्न खेल प्रतियोगिताएँ आयोजित हुईं।

गायत्री विद्यापीठ के प्रधानाचार्य प्रो एसएन मिश्रा व स्कूल प्रबंधन की वरिष्ठ सदस्या श्रीमती शेफाली पण्ड्या ने वार्षिक खेल दिवस का शुभारम्भ ध्वज फहरा कर किया। पश्चात उन्होंने प्रतियोगिताओं में शामिल नन्हें- मुन्नों को खेल प्रतिज्ञा दोहरवाई। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि खेल भावना को जीवन में उतारें, तभी हम सफलता की सीढ़ियाँ चढ़ पायेंगे। इस दौरान उन्होंने बच्चों का पुरजोर हौसला अफजाई की।

वार्षिकोत्सव के प्रथम दिन प्ले वे से कक्षा नवीं की बालिका व बालक वर्ग के बनाना रेस, नींबू दौड़, स्कूल के लिए तैयार होना, बतख दौड़, मेढ़क दौड़, बोतल में पानी भरना, बोरा दौड़, रस्सी दौड़ आदि प्रतियोगिताओं में बच्चों ने अपना दमखम दिखाया। बच्चे गिरते रहे, पर जोश में कमी आने नहीं दी और वे अपने लक्ष्य तक पहुँचकर ही दम लिया। हर्ष, इशिता, हर्षित, गीतिका, निस्वार्थ, अनुज, परिनिधि, गार्गी, श्रेय, योगेश्वरी, शिखर, जिज्ञासा, अनिकेत, निवेदिता, अनन्य, प्रियंका, तन्मय, अंजलि, मिमांसा, वन्दना, प्राची, आयुष, कुलदीप, अभिषेक, अंकित, कुमुद, रीया, मोनिका, विशाखा, अमरेश, सूर्यप्रकाश, ऋतिका, योगेश्वरी, स्वस्तिक, प्रज्ञेश, प्रेरणा प्रतीक्षा, अक्षय, हर्षित, ब्राह्मी, अदिति, सीताराम, तान्या, लोकेश, अजय ने अपने अपने वर्ग में प्रथम स्थान प्राप्त किया तो वहीं अनमोल, प्रज्ञा, हर्ष, प्रज्ञा, देवांश, तेजस, निर्देशिका, पूजा, अनमोल, निवेदिता, भूपेन्द्र, आशा, गगन, अमन, सृष्टि, कोमल, अनुष्का, प्रतिभा, आभा, विनय, सत्यम, अभिनव, आदित्य, पुष्कर, द्रोण, वर्णिका, प्रवीणा, शिवम्, सार्थक, दीक्षा, प्रेरणा, विश्वास, धर्मेन्द्र, परिविन्दर, हर्षिता, अनुज, अनुष्का, कविश, तुषार को द्वितीय स्थान मिला। खेल कार्यक्रम के समापन पर विजयी बच्चों को अतिथियों ने पुरस्कृत किया।

इस अवसर पर उपप्रधानाचार्य भास्कर सिन्हा, खेल शिक्षकगण उमेश, नरेन्द्र, गगन तथा विदेह धल, सविता भागबोले, रेखा चौधरी आदि शिक्षक- शिक्षिकाओं ने खेल सम्पन्न कराने विशेष योगदान दिया। 



Write Your Comments Here:


img

गृह मंत्री अमित शाह बोले- वर्तमान एजुकेशन सिस्टम हमें बौद्धिक विकास दे सकता है, पर आध्यात्मिक शांति नहीं दे सकता

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हम उन गतिविधियों का समर्थन करते हैं जो हमारे देश की संस्कृति और सनातन धर्म को प्रोत्साहित करती हैं। पिछले 50 वर्षों की अवधि में, हम हम सुधारेंगे तो युग बदलेगा वाक्य.....

img

शान्तिकुञ्ज में 75वाँ स्वतंत्रता दिवस उत्साहपूर्वक मनाया गया

प्रसिद्ध आध्यात्मिक संस्थान गायत्री तीर्थ शांतिकुंज, देव संस्कृति विश्वविद्यालय एवं गायत्री विद्यापीठ में 75वाँ स्वतंत्रता दिवस उत्साह पूर्वक मनाया गया। शांतिकुंज में गायत्री परिवार प्रमुख एवं  देव संस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति  श्रद्धेय डॉक्टर प्रणव पंड्या जी तथा संस्था की अधिष्ठात्री.....