img

राजस्थान में बनास नदी पर बनास माता शुद्धि एवं संरक्षण अभियान का शुभारंभ  बनास संरक्षण चेतना पदयात्रा से हो रहा है। 5 अगस्त 2012 को बनास नदी के उद्गम-बेरों का मठ से 600 कि.मी. की इस पदयात्रा का शुभारंभ होगा। 30 अगस्त को यह संगम स्थल रामेश्वरम घाट (सवाई माधोपुर) पर पहुँच कर समाप्त होगी।

15 से 17 जून की तारीखों में जोधपुर में राजस्थान का प्रांतीय युवा सम्मेलन आयोजित हुआ, जिसमें 22 जिलों के 150 प्रमुख युवा प्रतिनिधियों ने भाग लिया। शांतिकुंज प्रतिनिधि श्री केदार प्रसाद दुबे, राजस्थान के जोन प्रभारी श्री अंबिका प्रसाद श्रीवास्तव व श्री घनश्याम पालीवाल और राजस्थान में युवा जागृति के नायक डॉ. विवेक विजयवर्गीय की मुख्य उपस्थिति में आयोजित इस शिविर में राजस्थान की ऐतिहासिक बनास नदी को गोद लेकर उसकी स्वच्छता के लिए 5 से 30 अगस्त तक महाअभियान चलाने का संकल्प लिया गया। इस प्रांतीय शिविर में राजस्थान के युवा प्रकोष्ठ की कोर कमेटी का गठन भी हुआ।

इस पदयात्रा में नदी के किनारे के 700 से अधिक गाँवों में पर्यावरण एवं जल संरक्षण जागरूकता गोष्ठियाँ, दीवार लेखन, सार्वजनिक स्थलों पर वृक्षारोपण, साहित्य वितरण, ग्रामतीर्थ स्थापना, बनास सेवा मण्डलों की स्थापना, प्रसिद्ध तीर्थों के पूजन-अभिषेक जैसे कार्यक्रम सम्पन्न किये जायेंगे। राजस्थान प्रांत के प्रत्येक नैष्ठिक परिजन से इसमे भाग लेने का अनुरोध किया गया है।
अधिक जानकारी, सहयोग और भागीदारी के लिए सम्पर्क करें
अंबिका प्रसाद श्रीवास्तव-9414006194,
घनश्याम पालीवाल 9414171043, गोपाल स्वामी-9414636756

शांतिकुंज प्रतिनिधि श्री केपी दुबे ने शिविर को संबोधित करते हुए कहा कि आज विश्व का सबसे युवा राष्ट्र, भारतवर्ष सृजन और विध्वंस के बीच खड़ा है। यदि यहाँ की युवाशक्ति को सही दिशा देकर सृजन की ओर मोड़ा जा सके, तो यह देश ही नहीं, सारे विश्व को दिशा देने वाली एक सशक्त क्रांति होगी।
डॉ. विवेक विजयवर्गीय ने पंच महाभियानों-वृक्षगंगा, जल संरक्षण, आदर्श ग्राम योजना, युवा जोड़ो अभियान और बाल संस्कार शालाओं को गति देने की प्रेरणा के साथ उनकी विधियाँ भी बतायीं।
श्री अंबिका प्रसाद श्रीवास्तव एवं श्री घनश्याम पालीवाल ने प्रदेश में उभरती युवाशक्ति पर अपनी हार्दिक प्रसन्नता व्यक्त करते हुए राजस्थान की संस्कृति को फिर एक बार गौरवान्वित करने का आह्वान किया। प्रो. नीरज गुप्ता ने युवाओं को नेतृत्व कला विकसित करने के सूत्र रोचक शैली में बताये।
गीत, सांस्कतिक कार्यक्रम, खेल आदि ने शिविर को रोचक और हृदयग्राही बना दिया था। इसकी सफलता में स्थानीय कार्यकत्र्ताओं सर्वश्री रविसिंह इंदौलिया, प्रताप सिंह देवल, शैतान सिंह सोलंकी, अमृतलाल, हरिनारायण, प्रकाश शर्मा आदि का प्रमुख योगदान रहा। प्रांतीय युवा अभियान को गति दे रहे सर्वश्री विवेक विजय, गोपाल स्वामी, हर्ष मिश्रा, संदीप त्रिपाठी, दीपक जांगिड़, श्याम शर्मा, रमेश झंगानी, अनिता सोलंकी, मनीषा झंगानी आदि ने अपने दायित्व बखूबी निभाये।



Write Your Comments Here:


img

anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री मंत्र और गायत्री माँ के चम्त्कार् के बारे मैं बताया

मैं यशवीन् मैंने आज राजस्थान के barmer के बालोतरा मैं anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री माँ के बारे मैं बच्चों को जागरूक किया और वेद माता के कुछ बातें बताई और महा मंत्र गायत्री का जाप कराया जिसे आने वाले.....

img

युग निर्माण हेतु भावी पीढ़ी में सुसंस्कारों की आवश्यकता जिसकी आधारशिला है भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा -शांतिकुंज प्रतिनिधि आ.रामयश तिवारी जी

वाराणसी व मऊ उपजोन की *संगोष्ठी गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी के पावन प्रांगण में संपन्न* हुई।जहां ज्ञान गंगा की गंगोत्री,*महाकाल का घोंसला,मानव गढ़ने की टकसाल एवं हम सभी के प्राण का केंद्र अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज,हरिद्वार* से पधारे युगऋषि के अग्रज.....

img

Yoga Day celebration

Yoga day celebration in Dharampur taluka district ValsadGaytri pariwar Dharampur.....