Published on 2016-02-09
img

अखिल विश्व गायत्री परिवार के अंतरराष्ट्रीय मुख्यालय गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय वसंतोत्सव १० फरवरी से प्रारंभ होगा। प्रथम दिन अंतर महाविद्यालयीन स्तर पर निबंध, भाषण प्रतियोगिता एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे। दूसरे दिन शोभायात्रा निकाली जायेगी, अंतर विद्यालयीन स्तर पर कवि सम्मेलन, सत्संग एवं गीत- संगीत का आयोजन होगा। तो वहीं वसंतोत्सव का मुख्य कार्यक्रम वसंत पंचमी के दिन (१२ फरवरी) वासंती उल्लास से भरपूर सांस्कृतिक कार्यक्रम, विशेष सत्संग होंगे, साथ ही विभिन्न सामूहिक संस्कार भी निःशुल्क सम्पन्न कराये जायेंगे। यह जानकारी शांतिकुंज के व्यवस्थापक श्री गौरीशंकर शर्मा ने दी। उन्होंने बताया कि १९२६ के वसन्त पर्व के दिन अखिल विश्व गायत्री परिवार के संस्थापक पं. श्रीराम शर्मा आचार्य जी को आत्मबोध प्राप्त हुआ था और इसके साथ ही गायत्री परिवार का जन्म हुआ। इसीलिए वसन्त पर्व इस परिवार के लिए बहुत मायने रखता है और इसे हर्ष उल्लास के साथ मनाता है। वर्ष भर के प्रमुख कार्यक्रमों का निर्धारण- घोषणा भी वसन्त पर्व को होता है।


Write Your Comments Here:


img

शारदीय नवरात्रि 2020 साधना, जप संस्कार का संकल्प तथा पूर्णाहुति समारोह

शारदीय नवरात्रि साधना, जप संस्कार का संकल्प समारोह स्थानीय गायत्री शक्तिपीठ, पचपेड़वा में वरिष्ठ परिव्राजक श्री कृष्ण कुमार पांडेय द्वारा परिजनों को गायत्री साधना के लिए संकल्पित किया गया।जप साधना की पूर्णाहुति का कार्यक्रम वरिष्ठों के निर्देशन में covid-19 के.....

img

डॉ. चिन्मय पंड्या की नीदरलैंड यात्रा

देव संस्कृति विश्वविद्यालय हरिद्वार के प्रतिकुलपति डॉ चिन्मय पंड्या जी ने नीदलैंड्स की यात्रा के मध्य हेग में भारत के राजदूत श्री वेणु राजामोनी जी एवं उनकी सहधर्मिणी डॉ थापा जी से भेंट वार्ता की। इस क्रम में.....

img

डॉ. चिन्मय पंड्या की नीदरलैंड यात्रा

देव संस्कृति विश्वविद्यालय हरिद्वार के प्रतिकुलपति डॉ चिन्मय पंड्या जी ने नीदलैंड्स की यात्रा के मध्य हेग में भारत के राजदूत श्री वेणु राजामोनी जी एवं उनकी सहधर्मिणी डॉ थापा जी से भेंट वार्ता की। इस क्रम में.....