Published on 2016-02-09
img

अखिल विश्व गायत्री परिवार के अंतरराष्ट्रीय मुख्यालय गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय वसंतोत्सव १० फरवरी से प्रारंभ होगा। प्रथम दिन अंतर महाविद्यालयीन स्तर पर निबंध, भाषण प्रतियोगिता एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे। दूसरे दिन शोभायात्रा निकाली जायेगी, अंतर विद्यालयीन स्तर पर कवि सम्मेलन, सत्संग एवं गीत- संगीत का आयोजन होगा। तो वहीं वसंतोत्सव का मुख्य कार्यक्रम वसंत पंचमी के दिन (१२ फरवरी) वासंती उल्लास से भरपूर सांस्कृतिक कार्यक्रम, विशेष सत्संग होंगे, साथ ही विभिन्न सामूहिक संस्कार भी निःशुल्क सम्पन्न कराये जायेंगे। यह जानकारी शांतिकुंज के व्यवस्थापक श्री गौरीशंकर शर्मा ने दी। उन्होंने बताया कि १९२६ के वसन्त पर्व के दिन अखिल विश्व गायत्री परिवार के संस्थापक पं. श्रीराम शर्मा आचार्य जी को आत्मबोध प्राप्त हुआ था और इसके साथ ही गायत्री परिवार का जन्म हुआ। इसीलिए वसन्त पर्व इस परिवार के लिए बहुत मायने रखता है और इसे हर्ष उल्लास के साथ मनाता है। वर्ष भर के प्रमुख कार्यक्रमों का निर्धारण- घोषणा भी वसन्त पर्व को होता है।


Write Your Comments Here:


img

गृह मंत्री अमित शाह बोले- वर्तमान एजुकेशन सिस्टम हमें बौद्धिक विकास दे सकता है, पर आध्यात्मिक शांति नहीं दे सकता

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हम उन गतिविधियों का समर्थन करते हैं जो हमारे देश की संस्कृति और सनातन धर्म को प्रोत्साहित करती हैं। पिछले 50 वर्षों की अवधि में, हम हम सुधारेंगे तो युग बदलेगा वाक्य.....

img

शान्तिकुञ्ज में 75वाँ स्वतंत्रता दिवस उत्साहपूर्वक मनाया गया

प्रसिद्ध आध्यात्मिक संस्थान गायत्री तीर्थ शांतिकुंज, देव संस्कृति विश्वविद्यालय एवं गायत्री विद्यापीठ में 75वाँ स्वतंत्रता दिवस उत्साह पूर्वक मनाया गया। शांतिकुंज में गायत्री परिवार प्रमुख एवं  देव संस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति  श्रद्धेय डॉक्टर प्रणव पंड्या जी तथा संस्था की अधिष्ठात्री.....