Published on 2016-03-04

सृजनशीलता का दूसरा नाम युवा : श्री वीरेश्वर उपाध्याय 
देशभर के चयनित करीब ४०० युवाओं का विशेष प्रशिक्षण 


अखिल विश्व गायत्री परिवार को वर्ष २०१६ को युवा क्रांति वर्ष घोषित किया है। तदनुसार देशभर  के राष्ट्रीयता से ओतप्रोत युवाओं की खोज एवं उसे प्रशिक्षण देने का क्रम प्रारंभ हुआ। गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में वर्ष २०१६ के प्रथम राष्ट्रीय युवा संगोष्ठी का शुभारंभ हुआ। इस संगोष्ठी देश भर के करीब ४०० युवा भागीदारी कर रहे हैं। 

उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए प्रज्ञा अभियान के संपादक श्री वीरेश्वर उपाध्याय ने कहा कि मनुष्य के जीवन में जब जवानी आती है, तब साथ में सृजनशीलता लाती है। इस अवस्था में  मनुष्य वायु की दिशा को मोड़ने की क्षमता और हौसला रखते हैं। उन्होंने ऊर्जावान, गतिशील, श्रम, संयम व कौशल के साथ रचनात्मक कार्यक्रम को सफलता तक पहुंचाने वाले युवाओं की फौज खड़ी करनी बात कही। 

श्री उपाध्याय ने कहा कि इन दिनों परिवर्तन चक्र तीव्र गति से घूम रहा है। सामाजिक स्थिति बहुत तेजी से बदल रही है। ऐसे में आज के युवा एक विचित्र झंझावत में फंसा हुआ दिखाई दे रहा है। इस स्थिति से बचने हेतु श्री उपाध्याय ने युवाओं को अपनी शक्ति को सृजन में लगाने के लिए आवाहन किया। उन्होंने एक मजबूत इच्छा शक्तिशालियों, सकारात्मक दृष्टिकोण रखने वाले युवाओं को संगठित करने पर बल दिया। 

उन्होंने कहा कि संसार में जितनी भी महत्त्वपूर्ण क्रांतियाँ हुई हैं, उनमें युवाओं की भूमिका सदैव महत्त्वपूर्ण रही है। उत्साह एवं उमंग से भरपूर युवाओं में पहाड़ से टकराने की ललक होती है। कठिन से कठिन परिस्थितियों से भी जूझने का साहस होता है। उनकी शारीरिक व मानसिक क्षमता भी अपने विभिन्न रूपों में अवतरित होती हैं। असंभव को संभव कराने की क्षमता भी युवाओं में होती है। 

इससे पूर्व व्यवस्थापक श्री गौरीशंकर शर्मा, श्री वीरेश्वर उपाध्याय, श्री केसरी कपिल जी ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। संगीत विभाग के भाइयों ने युवाओं को झकझोरने वाले संगीत प्रस्तुत किया। उद्घाटन सत्र का संचालन युवा प्रकोष्ठ के प्रभारी श्री केदार प्रसाद दुबे ने किया। इस अवसर पर डॉ ओपी शर्मा, डॉ बृजमोहन गौड़ सहित झारखंड, राजस्थान, गुजरात, बिहार, दिल्ली, उप्र, मप्र आदि प्रांतो से आये युवा उपस्थित रहे। 



Write Your Comments Here:


img

समाज को सकारात्मकता एवं सृजनात्मक उत्कृष्टता की ओर प्रेरित करते कार्यक्रम

पीड़ित युवतियों के उत्थान के प्रयासरेस्क्यू फाउण्डेशन में जाकर मनाया जन्मदिवसबोरीवली, मुंबई। महाराष्ट्ररेस्क्यू फाउंडेशन देह व्यापार से छुड़ाई गई युवा लड़कियों के पुनर्वास के लिए काम करने वाली स्वयंसेवी संस्था है, जो पूरे महाराष्ट्र में सक्रिय है। दिया, मुम्बई के.....

img

1126 जोड़ों का सामूहिक विवाह संस्कार

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश श्रम विभाग प्रयाजराज की ओर से दिनांक 13 मार्च को सामूहिक विवाह का विशाल समारोह आयोजित किया गया। माघ मेला, परेड ग्राउण्ड में आयोजित इस संस्कार समारोह में 1126 जोड़ों ने और 18 मुस्लिम जोड़ों ने गृहस्थ.....

img

छत्तीसगढ़ में नारी सशक्तीकरण के लिए ऑनलाइन प्रशिक्षण

‘विजन 2026’ के साथ हो रहे हैं कार्यक्रम छत्तीसगढ़ के प्रान्तीय संगठन द्वारा ‘विजन-2026’ को लेकर 11 मार्च से 25 अप्रैल 2023 तक बहिनों का ऑनलाइन प्रशिक्षण शिविर चलाया जा रहा है। यह प्रशिक्षण परम वंदनीया माताजी की जन्मशताब्दी वर्ष.....