Published on 2016-03-24

केंद्रीय लघु एवं उद्यम राज्य मंत्री गिरिराज सिंह अपने दो दिवसीय प्रवास पर बुधवार को देवभूमि हरिद्वार पहुंचे। हरिद्वार पहुंचते ही वह पं. श्रीराम शर्मा आचार्य जी की कर्मभूमि गायत्री तीर्थ शांतिकुंज पहुंचे, जहां उन्होंने गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पंड्याजी एवं शैलदीदी से मुलाकात की।

इस दौरान, डॉ. पंड्या ने उन्हें शांतिकुंज द्वारा ग्रामीणों एवं युवाओं के विकास के लिए चलाए जा रहे विभिन्न प्रकल्पों की विस्तार से जानकारी दी।

डॉ. पंड्या ने कहा, "युवाओं को सही दिशा देने से ही समाज का सकारात्मक सुधार हो सकता है। वहीं, शैलदीदी ने कहा कि गायत्री तीर्थ को आप  घर ही मानें, जब भी मन हो आ जाया करें, मन को शांति मिलेगी।"

गायत्री परिवारद्वय ने केंद्रीय मंत्री का मंगल तिलक कर युगऋषि द्वारा रचित ग्रामीण एवं उद्यमिता विकास पर लिखे साहित्य भेंट किए।

सिंह ने कहा कि गायत्री परिवार ने संस्कार एवं सनातन को संभालने के लिए जो कार्य किए हैं, वह सराहनीय है। इसके साथ पूज्य गुरुदेव द्वारा रचित साहित्यों में से स्वावलंबन को घर-घर तक पहुंचाने के लिए जो कार्य किए जा रहे हैं, वे सराहनीय है।

उन्होंने कहा कि शांतिकुंज-देसंविवि अपने आप में अनूठे ढंग से ग्रामीण विकास एवं उद्यमिता के क्षेत्र में कार्य कर रहा है।

देसंविवि के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पंड्या जी ने मंत्री को विवि द्वारा संचालित हो रहे कुटीर उद्योग प्रशिक्षण के अंतर्गत चलाए जा रहे सृजना, हथकरघा, हस्त निर्मित कागज, सिलाई-कढ़ाई, गौ प्रबंधन एवं पंचगव्य औषधि निर्माण केंद्रो आदि का अवलोकन कराया।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।




Write Your Comments Here:


img

समाज को सकारात्मकता एवं सृजनात्मक उत्कृष्टता की ओर प्रेरित करते कार्यक्रम

पीड़ित युवतियों के उत्थान के प्रयासरेस्क्यू फाउण्डेशन में जाकर मनाया जन्मदिवसबोरीवली, मुंबई। महाराष्ट्ररेस्क्यू फाउंडेशन देह व्यापार से छुड़ाई गई युवा लड़कियों के पुनर्वास के लिए काम करने वाली स्वयंसेवी संस्था है, जो पूरे महाराष्ट्र में सक्रिय है। दिया, मुम्बई के.....

img

1126 जोड़ों का सामूहिक विवाह संस्कार

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश श्रम विभाग प्रयाजराज की ओर से दिनांक 13 मार्च को सामूहिक विवाह का विशाल समारोह आयोजित किया गया। माघ मेला, परेड ग्राउण्ड में आयोजित इस संस्कार समारोह में 1126 जोड़ों ने और 18 मुस्लिम जोड़ों ने गृहस्थ.....

img

छत्तीसगढ़ में नारी सशक्तीकरण के लिए ऑनलाइन प्रशिक्षण

‘विजन 2026’ के साथ हो रहे हैं कार्यक्रम छत्तीसगढ़ के प्रान्तीय संगठन द्वारा ‘विजन-2026’ को लेकर 11 मार्च से 25 अप्रैल 2023 तक बहिनों का ऑनलाइन प्रशिक्षण शिविर चलाया जा रहा है। यह प्रशिक्षण परम वंदनीया माताजी की जन्मशताब्दी वर्ष.....