Published on 2016-04-15

हरिद्वार, 15 अप्रैल (आईएएनएस)| धार्मिक व सामाजिक संस्था गायत्री तीर्थ शांतिकुंज ने अर्धकुंभ में आए श्रद्धालुओं से गंगा को निर्मल बनाए रखने की अपील के साथ उन्हें सकारात्मक दिशा देने के लिए शुक्रवार को एक चित्र प्रदर्शनी लगाई। जिलाधिकारी हरबंश चुघ ने भी अपनी पत्नी के साथ प्रदर्शनी देखी। मेलाधिकारी मुरुगेशन, शांतिकुंज व्यवस्थापक गौरीशंकर शर्मा सहित अर्धकुंभ प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने भी चित्रों का अवलोकन किया।

जिलाधिकारी चुघ ने कहा कि कुंभ में स्नान करने से पुण्य मिलता है और कुंभ क्षेत्र में शांतिकुंज जैसी संस्था का होना गौरव की बात है।

मेलाधिकारी मुरुगेशन ने कहा कि रुद्रप्रयाग व चमोली में अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने शांतिकुंज की नि:स्वार्थ सेवा भावना को करीब से देखा है।

प्रदर्शनी के विषय में चर्चा करते हुए गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने कहा कि शांतिकुंज इस प्रदर्शनी के माध्यम से गंगा को निर्मल बनाए रखने में सभी से सार्थक सहयोग की अपेक्षा रखता है।

शांतिकुंज के व्यवस्थापक गौरीशंकर शर्मा ने कहा, "हमारी संस्कृति विश्व की प्राचीन संस्कृति है। भारतीय संस्कृति में ही कुंभ जैसा पवित्र पर्व मनाने की परंपरा है और देवभूमि की देवनगरी हरिद्वार इस दिशा में एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है।"

सीओ गणेश कोहली, शांतिकुंज के वरिष्ठ कार्यकर्ता हरीश ठक्कर, केसरी कपिल, डॉ. बृजमोहन गौड़ सहित सैकड़ों लोगों ने भी प्रदर्शनी का अवलोकन किया।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।  


Write Your Comments Here:


img

गृह मंत्री अमित शाह बोले- वर्तमान एजुकेशन सिस्टम हमें बौद्धिक विकास दे सकता है, पर आध्यात्मिक शांति नहीं दे सकता

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हम उन गतिविधियों का समर्थन करते हैं जो हमारे देश की संस्कृति और सनातन धर्म को प्रोत्साहित करती हैं। पिछले 50 वर्षों की अवधि में, हम हम सुधारेंगे तो युग बदलेगा वाक्य.....

img

शान्तिकुञ्ज में 75वाँ स्वतंत्रता दिवस उत्साहपूर्वक मनाया गया

प्रसिद्ध आध्यात्मिक संस्थान गायत्री तीर्थ शांतिकुंज, देव संस्कृति विश्वविद्यालय एवं गायत्री विद्यापीठ में 75वाँ स्वतंत्रता दिवस उत्साह पूर्वक मनाया गया। शांतिकुंज में गायत्री परिवार प्रमुख एवं  देव संस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति  श्रद्धेय डॉक्टर प्रणव पंड्या जी तथा संस्था की अधिष्ठात्री.....