Published on 2016-05-06
img

नई दिल्ली, 6 मई (आईएएनएस)| अखिल विश्व गायत्री परिवार के प्रमुख तथा अखंड ज्योति पत्रिका के संपादक डॉ. प्रणव पंड्याजी ने राज्यसभा की सदस्यता को विनम्रतापूर्वक अस्वीकार कर दिया है। गायत्री परिवार की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि वर्तमान परिदृश्य में यह सोचा गया था कि राज्यसभा में मनोनयन के माध्यम से एक ऐसे वर्ग तक आचार्य श्रीराम शर्मा जी के आदर्शो को पहुंचाया जा सकेगा, जो इससे लगभग अछूता है और जहां इसकी सबसे बड़ी जरूरत है।

प्रणव पंड्याजी  ने बयान में कहा, "गुरुप्रदत्त दायित्वों और भावनाशील परिजनों के आग्रह पर पुनर्विचार किया तो लगा कि यह बड़े व्यापक स्तर पर परिजनों द्वारा ही संभव है। वे हमारी निधि है। अत: राज्यसभा की सदस्यता को विनम्रतापूर्वक अस्वीकार किया जा रहा है।"

गृह मंत्रालय ने बुधवार को प्रणव पंड्या को राज्यसभा के लिए नामित किया था।

अखंड ज्योति पत्रिका के संपादक पंड्याजी ने दुनिया भर में भारतीय संस्कृति के प्रसार में मदद की है। चिकित्सा में एमबीबीएसएमडी डिग्री की उपाधि रखने वाले पंड्याजी वैज्ञानिक आध्यात्मिकता के वकालत के लिए जाने जाते हैं।

आईएएनएस


Write Your Comments Here:


img

गृह मंत्री अमित शाह बोले- वर्तमान एजुकेशन सिस्टम हमें बौद्धिक विकास दे सकता है, पर आध्यात्मिक शांति नहीं दे सकता

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हम उन गतिविधियों का समर्थन करते हैं जो हमारे देश की संस्कृति और सनातन धर्म को प्रोत्साहित करती हैं। पिछले 50 वर्षों की अवधि में, हम हम सुधारेंगे तो युग बदलेगा वाक्य.....

img

शान्तिकुञ्ज में 75वाँ स्वतंत्रता दिवस उत्साहपूर्वक मनाया गया

प्रसिद्ध आध्यात्मिक संस्थान गायत्री तीर्थ शांतिकुंज, देव संस्कृति विश्वविद्यालय एवं गायत्री विद्यापीठ में 75वाँ स्वतंत्रता दिवस उत्साह पूर्वक मनाया गया। शांतिकुंज में गायत्री परिवार प्रमुख एवं  देव संस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति  श्रद्धेय डॉक्टर प्रणव पंड्या जी तथा संस्था की अधिष्ठात्री.....