Published on 2016-06-05

हरिद्वार : जून ।।

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज का आपदा राहत दल जनपद टिहरी गढ़वाल के घनसाली क्षेत्र में बादल फटने से हताहत हुए परिजनों के बीच राहत सामग्री बाँटकर कल देर सायं लौट आया। यह दल जून को राहत सामग्री लेकर रवाना हुआ था।

विगत दिनों घनसाली क्षेत्र के केमरा केमर, कोठिपाडा, तिलियारा, कनगर, बहेड़ी गाँव में बादल फटने से काफी नुकसान हुआ। प्रशासन के अनुरोध पर गायत्री परिवार ने तुरंत ही अपने स्वयंसेवकों को भेजकर राहत कार्य प्रारंभ कर दिया था।

गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्याजी एवं शैलदीदी के निर्देश पर डॉ. वीएन जोशी, विजय रावत, पुन्नूराम की टोली को राहत सामग्री लेकर रवाना की गयी थी। टोली पीड़ित परिवारों के बीच बर्तन किट- जिसमें थाली, गिलास, कटोरी, भगोना आदि, तिरपाल, आटा, चावल, दाल, चीनी, तेल, हल्दी आदि अन्य खाद्य सामग्री वितरित की। टोली इन गाँवों के १०० से अधिक परिवारों के बीच राहत सामग्री बाँटी।

टोली ने वापस लौटने पर डॉ. पण्ड्याजी से भेंटकर पीड़ित परिवारों के दर्द को साझा किया। बताया कि बादल फटने से कई सरकारी भवन क्षतिग्रस्त हो गये है, तो वहीं दो तीन मंजिला कई भवन जमीदोंज हो गये हैं।

इस अवसर पर डॉ. पण्ड्याजी ने कहा कि पीड़ित मानवता की सेवा करना हमारा मानवीय कर्त्तव्य है। पूज्य आचार्यश्री ने जो सेवा सहयोग का सूत्र दिया है, उसे निभाने में आत्मिक शांति मिलती है। व्यवस्थापक श्री गौरीशंकर शर्मा ने हताहत हुए परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की। कहा कि पीड़ित परिवारों के साथ गायत्री परिवार उनके साथ खड़ा है। तिलियारा के गोविन्द राम जोशी, कमलेश्वर, देवनाथ जोशी, कोठिपाडा के कीर्तिराम, राजेश्वर प्रसाद, गजेन्द्र प्रसाद आदि ने शांतिकुंज से सामग्री पाकर राहत महसूस किया। उन्होंने गायत्री परिवार का हृदय से आभार प्रकट किया।





Write Your Comments Here:


img

anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री मंत्र और गायत्री माँ के चम्त्कार् के बारे मैं बताया

मैं यशवीन् मैंने आज राजस्थान के barmer के बालोतरा मैं anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री माँ के बारे मैं बच्चों को जागरूक किया और वेद माता के कुछ बातें बताई और महा मंत्र गायत्री का जाप कराया जिसे आने वाले.....

img

युग निर्माण हेतु भावी पीढ़ी में सुसंस्कारों की आवश्यकता जिसकी आधारशिला है भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा -शांतिकुंज प्रतिनिधि आ.रामयश तिवारी जी

वाराणसी व मऊ उपजोन की *संगोष्ठी गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी के पावन प्रांगण में संपन्न* हुई।जहां ज्ञान गंगा की गंगोत्री,*महाकाल का घोंसला,मानव गढ़ने की टकसाल एवं हम सभी के प्राण का केंद्र अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज,हरिद्वार* से पधारे युगऋषि के अग्रज.....

img

Yoga Day celebration

Yoga day celebration in Dharampur taluka district ValsadGaytri pariwar Dharampur.....