Published on 2016-11-18

शांतिकुंज ने निकाली आर्थिक परिवर्तन रैली   
हरिद्वार १५ नवम्बर। 


अखिल विश्व गायत्री परिवार के मुख्यालय शांतिकुंज ने मंगलवार को आर्थिक परिवर्तन रैली निकाली। इसका उद्देश्य देश में हो रहे आर्थिक परिवर्तन को समर्थन करना था। रैली को शांतिकुंज के वरिष्ठ कार्यकर्ता श्री कालीचरण शर्मा ने झंडी दिखाकर रवाना किया। 

रैली में शामिल युवाओं ने भ्रष्टाचार का अंत हो- काले धन बंद हो, भ्रष्ट बने और पैसा पाया- जीवन से सुख चैन गँवाया जैसे अनेक नारों से उत्तरी हरिद्वार क्षेत्र, सप्तसरोवर क्षेत्र, हरिपुर कलाँ में गुंजायमान कर दिया। स्थानीय निवासियों ने भी गायत्री परिवार की इस पहल का स्वागत करते हुए रैली में शामिल हुए। सभी ने ईमानदारी व परिश्रम की कमाई खाने, कालाधन से देश को बचाने की अपील करते हुए पम्पलेट भी बाँटे। रैली का नेतृत्व शांतिकुंज स्थित युवा प्रकोष्ठ एवं दक्षिण पूर्व जोन ने संयुक्त रूप से किया। 

अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने कहा कि सरकार के साथ देश की जनता सहयोग करें और काला धन वापस आ जाये तो अवश्य ही आर्थिक विकास को मदद मिलेगी और देश को उन्नति की ओर कदम बढ़ाने में सहयोग होगा। 

युवा प्रकोष्ठ के प्रभारी केदार प्रसाद दुबे ने बताया कि इस रैली में शांतिकुंज के अंतेवासी कार्यकर्ता भाई- बहिन, विभिन्न साधना व प्रशिक्षण शिविरों में आये साधकों तथा सात सौ से अधिक की संख्या में महाराष्ट्र से युवा  सम्मेलन में आये युवाओं ने भी उत्साहपूर्वक भागीदारी की।


Write Your Comments Here:


img

झारखंड के हर जिले में रक्तदान शिविर आयोजित हुए

जगह- जगह एक ही दिन शिविर आयोजित हुएटाटानगर। झारखंडगायत्री परिवार युवा प्रकोष्ठ झारखंड की प्रांतीय इकाई ने ५ नवंबर को प्रत्येक जिले में रक्तदान शिविर आयोजित किये। पीड़ित मानवता की सेवा में किया गया यह प्रशंसनीय प्रयोग काफी सफल रहा।.....

img

बिहार बाढ़ राहत शिविर

बिहार बाढ़ राहत शिविर

जिला कटिहार गायत्री परिवार द्वारा ग्राम झौंआ में परिवार सर्वेक्षण कार्य के लिये तीन दल भेजे गये। दूसरे राहत शिविर में ग्राम मनिया में डा० आनन्दी केशव द्वारा अन्य दो डाक्टरों के सहयोग से चिकित्सा शिविर चलाया.....

img

बहनों ने सैनिकों को राखी बाँधी

बहनों ने सैनिकों को राखी बाँधी भारतीय सेना विश्व की श्रेष्ठतम सेनाओं में से एक है जिसमें सीमित संसाधनों के द्वारा भी विजय प्राप्त करने की क्षमता विधमान है।देश की सेवा करने वाले इन बहादुर सैनिको को त्यौहारों के दिन भी.....